Sphatik Shivalingam

1,500.00

Spahtik Shivalingam favors the home with harmony and abundance. Every Lingam puja, orderly, takes the lover to the unceasing truth – that he/she is a piece of the Supreme Being.

Quantity:

Want a discount? Become a member.

Description

SPHATIK SHIVALINGAM

Sphatik shivalingam of Big Size absolutely flawless made of a single sphatik gemstone. According to Shiv Purana, Lord Shiva is said to have revealed himself to his true devotees in the form of a Jyoti or light which came to be known as Jyotirling. The Crystal shivling is a symbol of radiant white light energy. It is also believed that lord Shiva and Goddess Parvati (Shakti) live in this stone. Quartz (crystal) is a natural gemstone and has power to retain the energy of mantra chanting.  Sphatik shivalingam(Linga) is a Symbol Of The Nirguna Brahman. This is more popular for Aradhana or worship of Lord Siva. It is made up of quartz. It has no colour of its own, but takes on the colour of the substances which come in contact with it. It represents the attribute-less Supreme Self, or the formless and attributeless Siva. The Shivalingam denotes the primeval energy of the Creator.It is believed that at the end of all creation, during the great deluge, all of the different aspects of God find a resting place in the Lingam ;  Brahma is absorbed into the right, Vishnu to the left and Gayatri into the heart. The Shivalingam is also a representation of the infinite Cosmic Column of fire, whose origins, Vishnu and Brahma were unable to trace. Sphatik lingam may be worshipped by everyone . Worshipping of Lingam blesses the family of the devotee with Unity , harmony , spiritual upliftment and prosperity.

Placement of sphatik shivalingam : It is installed facing East or North direction. Read prayers to Shivlingam. Crystal shivling harmonise the aura around us and remove the negative energy, therefore when we place this crystal shivling, in our home or office, the place is purified by the power of crystal and the blessings of lord shiva is attained.

Shivling Abhishekam: Place the Shivaling along with three Rudrakshas under the Abhishek Pot. Take flowers in both hands and offer them on the Shivaling chanting thus

Hastaabhyaam Kalashadwayaamrit Rasei-raaplaavayantam Shiro, Dwaabhyaam Tou Dadhatam Mrigaashavalaye Dwaabhyaam Vahantam Param. Ankanyast-kar-dwayaamritghatam Kailaash-kaantam Shivam, Swachhaambhojagatam. Navendumukutam Devam Trinetram Bhaje.

i.e. I pray to Lord Mahamrityunjaya Shiva who holds two pots of divine elixir in his two hands, who sits on the Kailash mountain on a lotus flower and who has a moon ornamenting his forehead.

Sphatik shivalingam worshiping :

Sphatik is the purest and most auspicious pearl on the planet. Shivaling which is  made of sphatik does not require “pran pratishtha” before  worshipping. It never gets polluted (ashuddha). Worshiping a sphatik  shivling is considered to have same impact as worshiping the “Jyotirlingas”.  It brings success, bliss and happiness to the householders where it  is worshiped. Shivalingam favors the home with harmony and  abundance. Every Lingam worhip, orderly, takes the lover to the unceasing truth that he/she is a piece of the Supreme Being. We present you a wide array of Narmada Shivaling in various and  precious gemstones ready for worshiping spreading auspiciousness  and divinity. Spatika lingam is six faced long, stick and glassy that  are mostly found in the mountains of Himalaya, Vindhya and Sankagiri. It is made of crystal.Spatika Lingam has divine power. In Puranas  Spatikam is the divine stone which represents the Trimurthi (Lords  Shiva, Vishnu and Brahma) and goddess Shakti. As per Yajur Vedam  Lord Shiva is also described as “Jyothi spatika Lingam”, i.e. Lord  Shiva is in the form of Jyothi, Lingam and Spatika. Lord Shiva  resides in atom, electron and neutron of the spatika  lingam.According to ancients ‘Prana Prathista of Shiva Lingam’ is  not required when the lingam is made with sphatic. By touching  spatika lingam in the early morning will bring positive effects for  the whole day. Spatika lingam was worshiped as Lord  Chandramauleeswara in Chidabaram, Tamilnadu, Lord Sundareswara in  Meenakshi Temple, Madurai Lord Ramanathaswamy in Rameshwaram,  Tamilnadu.The vibrations present in the spatika lingam are very high  and will counteract all the negative effects of planets Worshipping  Spatika Linga will give confidence, power, perfection and removes  all sorts of worries.Spatika Lingam worship will enhance wealth and  prosperity. Spatika Shiva lingam gives tremendous concentration and  is better for students, businessmen and people who need to achieve  goals.Spatika is a gemstone made of silicon and oxygen(SiO4). Spatika  is a good conductor of heat. The wearer will attain coolness and  calmness. Spatikam is used to replace diamond and associated planet  Venus. Goddess Saraswati always holds spatika mala in her hand.

(We have all kinds of sphatik mala in sell like Sphatik mala(8mm), sphatik mala(5.5mm), sphatik mala(7mm))

Spatika will bring electro-chemical balance in the body and absorbs  excess heat.Spatika Shiva Lingam attracts the sunlight and reflects  7-colors as the rainbow.Pouring water on Spatika Lingam(Crystal  Quartz) will ionize the water and this water is having different  healing properties. Spatikam will restore the water crystalline  structure and prevents pollution.By drinking abhishekam water from  spatikam lingam, These liquids carry heavy loads of oxygen to each  and every cell in the blood stream and eliminates the free radicals  from the body and prevent diseases. Spatika lingam will increase  alkalinity levels and electrical conductivity of the liquids and  decrease the surface tension of liquid. Intake of abhishekam liquids  makes the human body to operate much more smoothly.According  gemologist these Crystals will need to recharge to release negative  energies. There are so many prescribed methods washing Spatikam in  sea water, River water, burying crystals inside earth for sometime,  exposing crystals to sun or moon rays, Creating Sound vibrations by  ringing bell.

In home Shivling, worshiping Lord Shiva with special status and worshiping Chandan and Flower, Vellapatra etc. consecration by continually ablating the Gangajal or Panchamrta.

 

स्फटिक | Spatikam | Spatika | Sphatik |Rhinestone

What is spatika ? | sphatic mean in hindi | spatika in hindi

स्फटिक को कांचमणि, बिल्लोर, बर्फ का पत्थर तथा अंग्रेजी में रॉक क्रिस्टल कहते हैं। स्फटिक ग्रह पर सबसे शुद्ध और सबसे शुभ मोती है। यह एक पारदर्शी रत्न है तो स्फटिक को हीरे का उपरत्न कहा जाता है।

स्फटिक शिवलिंग | Spahtik Shivalingam Worship

स्फटिक से बने शिवलिंग को पूजा करने से पहले ” प्राण प्रतिष्ठा ” की आवश्यकता नहीं होती है। यह प्रदूषित नहीं होता। एक स्फटिक शिवलिंग की पूजा करना “ज्योतिर्लिंगस” की पूजा के समान माना जाता है। यह घरों में सफलता, आनंद और खुशी लाता है| जहां इसकी पूजा की जाती है। शिवलिंगम घर को सद्भाव और बहुतायत के साथ अनुकूल बनाता है।

हम आपको शुभकामनाएं और दिव्यता फैलाने की पूजा के लिए तैयार विभिन्न और कीमती रत्नों में नर्मदा शिवलिंग की एक विस्तृत श्रृंखला प्रस्तुत करते हैं। स्फटिक लिंगम धातु  ज्यादातर हिमालय, विंध्य और संकागिरी के पहाड़ों में पाए जाते हैं। यह क्रिस्टल से बना है। स्फटिक लिंगम में दिव्य शक्ति है। ये पुराण में दिव्य पत्थर है जो त्रिमुर्ति (भगवान शिव, विष्णु और ब्रह्मा) और देवी शक्ति का प्रतिनिधित्व करता है। यजूर वेद के अनुसार भगवान शिव को “ज्योति स्फटिक लिंगम” के रूप में भी वर्णित किया गया है, यानी भगवान शिव ज्योति, लिंग स्फटिक के रूप में हैं। भगवान शिव स्फटिक लिंगम के परमाणु, इलेक्ट्रॉन और न्यूट्रॉन में रहते हैं।

स्फटिक लिंग की पूजा के महत्व | Importance of sphatik shivalingam

शुरुआती सुबह स्फटिक लिंगम को छूकर पूरे दिन सकारात्मक प्रभाव आएगा। सिपिका लिंगम की पूजा तमिलनाडु के चिदंबरम, तमिलनाडु में भगवान चंद्रेश्वर, तमिलनाडु के रामेश्वरम में मदुरै भगवान रामानथस्वामी में भगवान चंद्रमौलेश्वर के रूप में की जाती थी। स्फटिक लिंगम में मौजूद कंपन बहुत अधिक हैं और ग्रहों के सभी नकारात्मक प्रभावों को हटाते हैं।

स्फटिक शिवलिंग की पूजा-अर्चना का विशेष महत्व है। स्फटिक शिवलिंग की अपने घर में पूजा, प्रतिष्ठा करके नित्य गंगाजल अथवा पंचामृत से अभिषेक करके चंदन, पुष्प, विल्वपत्र आदि से पूजन करने से भगवान शिव की विशेष अनुकंपा प्राप्त होती है तथा इनकी अनुकंपा से आयु, आरोग्यता, धन, संपत्ति, यश, मान, प्रतिष्ठा की प्राप्ति होती है।

स्फटिक लिंग की पूजा आत्मविश्वास, शक्ति, पूर्णता और सभी प्रकार की चिंताओं को दूर करती हैं  स्फटिक लिंगम पूजा धन और समृद्धि को बढ़ावा देती हैं। स्फटिक शिव लिंगम जबरदस्त सांद्रता प्रदान करता है और छात्रों, व्यापारियों और लोगों के लिए बेहतर है जो लक्ष्यों को प्राप्त करने की आवश्यकता रखते हैं। स्फटिक सिलिकॉन धातु और ऑक्सीजन गैस(SiO4) से बना रत्न है। स्फटिक उष्‍मा का एक अच्छा सुचालक है। पहनने वाले को शांतता और शक्ति प्राप्त होती हैं। देवी सरस्वती हमेशा अपने हाथ में स्फटिक माला रखती है । स्फटिक से बनी वस्तु धारण करनेसे शरीर में रासायनिक संतुलन रहेगा एवं अतिरिक्त गर्मी को अवशोषित करेगी। स्फटिक शिव लिंगम सूरज की रोशनी को आकर्षित करती है तथा  इंद्रधनुष के रूप में 7-रंगों को प्रतिबिंबित करती है। स्फटिक लिंगम (क्रिस्टल क्वार्ट्ज) पर पानी डालने से पानी आयनित हो जाएगा और इस पानी में अलग उपचारिक गुण होते हैं। स्फटिक पानी क्रिस्टलीय संरचना को बहाल करेगा और प्रदूषण को रोक देगा। स्फटिक लिंगम से अभिषेकम पानी पीने से, इन तरल पदार्थों में रक्त कोशिका में प्रत्येक कोशिका में भारी मात्रा में ऑक्सीजन होता है और शरीर से मुक्त कणों को हटा देता है और रोगों को रोकता है। स्फटिक लिंगम तरल पदार्थ की क्षारीयता के स्तर और विद्युत चालकता में वृद्धि करेगा और तरल की सतह तनाव को कम करेगा। स्फटिक अभिषेक तरल पदार्थ का सेवन मानव शरीर को अधिक आसानी से संचालित करने के लिए बनाता है।

स्फटिक शिवलिंग के बारे में | about sphatik shivalingam

शिव पुराण के अनुसार, भगवान शिव ने खुद को अपने सच्चे भक्तों के लिए ज्योति या प्रकाश के रूप में प्रकट किया जिसे ज्योतिर्लिंग के नाम से जाना जाने लगा। क्रिस्टल शिवलिंग चमकदार सफेद प्रकाश ऊर्जा का प्रतीक है। यह भी माना जाता है कि भगवान शिव और देवी पार्वती (शक्ति) इस पत्थर में रहते हैं। क्वार्ट्ज (क्रिस्टल) एक प्राकृतिक रत्न है और इसमें मंत्र की ऊर्जा को बनाए रखने की शक्ति है।

स्फटिक लिंग निर्गुण ब्राह्मण का प्रतीक है। यह अराधना या भगवान शिव की पूजा के लिए अधिक लोकप्रिय है। यह क्वार्ट्ज से बना है। इसमें इसका कोई रंग नहीं है, लेकिन ye इसके संपर्क में आने वाले पदार्थों का रंग लेता है। यह निराकार और गुणहीन शिव का प्रतिनिधित्व करता है। शिवलिंगम निर्माता की प्रमुख ऊर्जा को दर्शाता है। ऐसा माना जाता है कि सभी सृष्टि के अंत में, महान जलप्रलय के दौरान, भगवान के सभी अलग-अलग पहलुओं लिंगम में एक विश्राम स्थान इसका  भी हैं| शिवलिंगम अग्नि के अनंत लौकिक स्तंभ का भी प्रतिनिधित्व करता  है, जिसका मूल, विष्णु और ब्रह्मा का पता लगाने में असमर्थ थे। स्फटिक लिंगम की हर किसी से  पूजा की जा सकती है। लिंगम की पूजा एकता, सद्भाव, आध्यात्मिक उत्थान और समृद्धि के साथ भक्त के परिवार को आशीर्वाद देती है।

स्फटिक शिवलिंगम स्थान-स्थापित  | sphatik shivling exact place in home

Sphatik shivalingam placement direction दिशा: पूर्व या उत्तरी दिशा। क्रिस्टल शिवलिंग हमारे चारों ओर के  वातावरण  को सुसंगत बनाते हैं और नकारात्मक ऊर्जा को हटाते हैं, इसलिए जब हम अपने घर या कार्यालय में इस क्रिस्टल शिवलिंग को  स्थापित  करना  चाहिए, ताकि क्रिस्टल की शक्ति से शुद्ध वातावरण बने, सभीको  भगवान शिव के आशीर्वाद प्राप्त हो|

शिवलिंग अभिषेक | sphatik shivalingam abhishekam

अभिषेक के तहत तीन रुद्राक्षों को शिवलिंग पर स्थानांतरित करें। फूलों को दोनों हाथों में ले और उन्हें इस तरह प्रतिद्वंद्विता पर चढ़ाएं ओर  प्राथना करें|

हस्तभ्याम कलाशधवेरामृत रासी-रापलवयंतम शिरो, द्व्वायाम तौ दादातम मृगशावलय द्व्वाद्यम वहनम परम। अंक्यास्ट-कर-दवेरामृतघाट कैलाश-कांतम शिवम, स्वच्छभाजोगाटम। नवेंद्रुमुकम देवम त्रिनतराम भाजे”।

यानी मैं भगवान महामित्रुंजय शिव से प्रार्थना करता हूं, जो अपने दोनों हाथों में दिव्य इलिक्सीर के दो बर्तन रखता है, जो कमल के फूल पर कैलाश पर्वत पर बैठता है और जिसके पास चंद्रमा उसके माथे का आभूषण है।

ॐ ह्रौं वं शिवाय सशक्तिकाय नम: 

sphatik shivalingam अभिषेक के पश्चात उक्त मंत्र का जप करें।

सावन के महीने इसका नियमित रूप से अभिषेक करने से घर से कई तरह के वास्तुदोष दूर होते हैं।

यदि  घर में ये शिवलिंग स्थापित करके एक महीने तक नियमित रूप से पंचामृत द्वारा अभिषेक किया जाता है , वहां कभी  धन का अभाव नहीं रहता, जो भी व्यक्ति इसे स्थापित करता है उसके जीवन में नाम ,पैसा ,प्रसिद्धि सब कुछ प्राप्त होता है। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलती है|

Get more discount on our online astrology product store via join our membership on website.
For astrology video subscribe our youtube channel..

Additional information

Weight75 g

There are no reviews yet.

Add your review