Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured

Vrishabh Rashifal September 2022 in Hindi | वृषभ राशिफल सितंबर 2022 | Nidhi Ji Shrimali

jugTmW63AWQ HD.jpg | Panditnmshrimali

Vrishabh Rashifal September 2022


This image has an empty alt attribute; its file name is vrishabh-rashi-taurus-300x267.png

 

नमस्कार स्वागतम् वेलकम हम एक बार फिर से आप सभी के सामने उपस्थित हुए हैं सितंबर माह का वृषभ राशि वालों का मासिक राशिफल लेकर | सबसे पहले सितंबर माह में आने वाले कुछ विशेष व्रत और त्योहारों के बारे में जान लेते हैं तो 1 सितंबर को ऋषि पंचमी का पर्व मनाया जाएगा और आप सभी को ये सूचित करते हुए हमें बहुत ही हर्ष का अनुभव हो रहा है कि 3 सितंबर से लेकर 18 सितम्बर तक मां लक्ष्मी का अनुष्ठान एक बार फिर से हम करने जा रहे हैं। ये अनुसंधान पिछले साल भी हमारे द्वारा किया गया था और ये मां लक्ष्मी के प्रकट उत्सव के रूप में अनुष्ठान किया जाता है। यानि मां लक्ष्मी का प्रादुर्भाव इन दिनों के दौरान हुआ था तो ये दिन दीपावली से भी अधिक महत्व के मां लक्ष्मी के पूजन के रहते है तो यदि आप इस अनुष्ठान का हिस्सा बनना चाहते हैं तो हमारे संस्थान में संपर्क कर इसकी डीटेल में जानकारी ले सकते हैं। साथ ही अगर आपको मेरे विडियो से इस उत्सव के बारे में जानना चाहते हैं तो आपको नीचे डिस्क्रिप्शन में उसके लिंक दिए गए हैं। वहां जाकर इसका विडियो भी देख सकते हैं। 5 सितंबर को शिक्षक दिवस रामदेव जयंती और तेजा दशमी का पर्व मनाया जाएगा। 9 सितंबर को अनंत चतुर्दशी का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। 10 सितंबर को श्राद्ध पक्ष प्रारंभ हो रहे हैं। 17 सितंबर को महालक्ष्मी प्राकट्योत्सव मनाया जाएगा और 25 सितंबर को सर्वपितृ अमावस्या अरीय 26 सितंबर को नवरात्रि घट स्थापना की जाएगी। Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

अब आगे और जान लेते हैं कि सितंबर माह में ग्रहों की स्थिति क्या विशेष हमारे लिए लेकर आ रही है तो सबसे पहले बात करेंगे। ग्रहों के राजा सूर्य की जो कि वर्तमान में सिंह राशि में स्वग्रही हो रहे हैं और 17 सितंबर को वे अपनी शत्रु राशि कन्या में प्रवेश कर जाएंगे। बुध ग्रह की बात करें तो वे इस पूरे माह अपनी राशि कन्या में उच्च के होकर विराजमान रहेंगे। मंगल ग्रह इस पूरे माह अपनी मित्र राशि वृषभ में विराजमान रहेंगे। गुरू इस पूरे माह अपनी खुद की राशि मीन में स्वग्रही होकर विराजमान रहेंगे। शुक्र ग्रह की यदि बात करें तो वर्तमान में वे अपनी अति शत्रु राशि सिंह में विराजमान हैं और 24 सितंबर को वे अपनी नीचस्थ राशि कन्या में बुध के साथ में विराजमान होकर नीच भंग योग बनाएंगे। शनि ग्रह की यदि बात करें तो वे इस पूरे माह वक्री अवस्था में अपनी खुद की राशि मकर में स्वग्रही होकर विराजमान रहेंगे। राहु अपनी सम राशि मेष में और केतु अपनी सम राशि तुला में विराजमान रहने वाले हैं | मेष राशि वालों के लिए इस माह क्या खास रहने वाला है, उसके बारे में जान लेते हैं तो शुरू करते हैं। सितंबर माह का वृषभ राशि वालों का मासिक राशिफल। राशिफल शुरू करने से पहले आपको बता दे कि ये जो राशिफल आपको दे रहें है ये चंद्र गणनाओं पर आधारित है और आपकी राशि और लग्न दोनों के हिसाब से समान रूप से प्रभावशाली भी है तो आप दोनों के हिसाब से अपने इस राशिफल को देख सकते हैं।

सबसे पहले आपके राशि स्वामी की बात करते हैं जो की है शुक्र और शुक्र आपके चतुर्थ भाव यानी सुख स्थान में जाकर विराजमान हो रहा है। लग्नेश का राशि स्वामी का सुख स्थान में जाकर बैठना बहुत अच्छा आपके सुखों में वृद्धि करेगा। आपकी पर्सनालिटी में चार चांद लगाएगा परंतु 24 सितंबर को जब शुक्र कन्या राशि में यानी आपके पंचम भाव में प्रवेश करेगा तो वे नीच के हो जाएंगे। परंतु बुध चूंकि उच्च का है तो नीच भंग राजयोग भी उस समय यह बनाते हुए दिखाई देंगे तो ये जो टाइम पीरियड शुक्र का रहेगा। ये आपकी पर्सनैलिटी वाइज बहुत अच्छा रहेगा। पर थोड़ा सा आपको आलसी भी बना देगा। इस समय आपको लेज़ीनेस को हटाना है क्योंकि काम करने की प्रवृत्ति अगर कम रखी तो निश्चित रूप से समस्याएं बहुत बढ़ सकती है। काम में नुकसान की स्थितियां भी देखने को मिल सकती है और किसी और पर यदि हम हमारा काम डालते हैं तो व्यक्ति उस काम को इतने अच्छे तरीके से नहीं करता हैं। आपने जो टारगेट लिया है वो आप ही सीरियसली कर सकते हैं। हां, आप खुद खड़े रहेंगे तो आप लोगों से भी करवा सकते हैं। परंतु पूरा का पूरा काम अगर आप सोचे कि आप अपने एम्प्लॉयी पर डाल दें या किसी और पर डाल दें तो वो व्यक्ति क्यों आपके कार्य को करेगा और उतनी सजगता से कर पाएगा नहीं कर पाएगा। इसीलिए आपको आलस्य को त्यागकर अपने कर्म प्रधान बनते हुए अपने जीवन में आगे बढ़ना है। वहीं अपनी पर्सनैलिटी में यानी आपकी राशि के अंदर मंगल आकर बैठ गया है। पर्सनैलिटी के भाव में बैठा है। आपको मांगलिक भी बना लें। थोड़ा सा गुस्सा अग्रेशन बात बात पर जो तुनकमिजाजी है वो आपके बनते कामों को बिगाड़ सकता है, इसीलिए थोड़ा सा सौम्य रहिए। विनम्र रहिए और हर किसी के साथ में बेस्ट करना जरूरी नहीं है। हम हर किसी के साथ तलवार निकालकर खड़े हो जाएं और लड़ने के लिए हमेशा तैयार रहें। ये सही नहीं है। कई बार हमें शांति से अपने मुद्दों को सुलझाने पर ही सफलता प्राप्त होती है। इसीलिए शांति से अपने मुद्दों को सुलझाने का प्रयास करें। वह ज्यादा बात बिगड़े या जहां जरूरत एग्रेशन की वहीं आपको एग्रेशन दिखाना है वरना व्यर्थ ही अपने अग्रेशन को दिखाकर अपने कार्यों को बिगाडना नहीं है। काम में नुकसान नहीं लाना है। थोड़ा सा इस बात के प्रति सतर्क और सावधान रहना चाहिए। अब शुक्र 24 सितंबर को नीच के ओर है और बुध चूंकि उच्च के है और शुक्र नीच के बुध के साथ युति कर के नीच भंग योग बनाते हुए दिखाई देंगे तो काम में कोई भी दिक्कतें परेशानियां नहीं आएगी। फाइनेंशियली भी आप अपने आपको स्टेबल पाते हुए दिखाई देंगे। फाइनैंशली भी आप अपने आपको इस माह स्टेबल पाएंगे पर आपको फिर भी थोड़ा सा केयरफुल होकर चलना है। अपने कार्यों में लापरवाही न करें। किसी और पर अपने कार्य को न छोड़ें और अपने कार्यों में तटस्थ रहें। Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

अब शुक्र चूंकि आपके सप्तमेश है यानी रोग भाव के स्वामी हैं। रोग भाव के स्वामी अपने से बाहर में नीच के होकर बैठे है। इसलिए श्वास संबंधी समस्याओं के प्रति आपको बहुत सावधान रहना पड़ेगा। खासकर आपको अपनी पर्सनल हाइजीन पर ध्यान देना पड़ेगा क्योंकि अगर आपने बिल्कुल भी लापरवाही की तो निश्चित रूप से उसके दुष्परिणाम आपको झेलने पड़ सकते हैं तो अपने स्वास्थ का विशेष रूप से ध्यान रखें। नियमित रूप से योगा मेडिटेशन प्राणायाम को जरूर अपने जीवन में अपनाएं। नींद तो हम पूरे टाइम लेते ही है और नींद बहुत होती है। इसीलिए ये ना करें कि मॉर्निंग में आपको व्यायाम करने जाने के लिए, जॉगिंग के लिए, पार्क के लिए और उसे करके वापस सो जाएं तो प्लीज ऐसी प्रवृत्ति को हटा दीजिए। ये आपके स्वास्थ के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है। शत्रुपक्ष इसमें आपके कार्यों में खलल जरुर डालने की कोशिश करेगा, पर आप अपने बुद्धिबल और चातुर्य से अपने कार्यों को मैनेज कर लेंगे। वहीं इस समय गलत मित्रों की संगति से आपको बचना है और अपने मार्ग से भ्रमित नहीं होना है। इस बात का भी आपको ध्यान रखना पड़ेगा। वैसे आप की सतर्कता रही तो निश्चित रूप से आप अपनी मंजिल को प्राप्त कर ही लेंगे।

अब आ जाते हैं द्वितीय भाव पर | द्वितीय भाव के स्वामी हैं बुध जो कि पंचमेश और पंचम भाव में स्वग्रही होकर और उच्च के होकर विराजमान हो रहे है। बुध का उच्च होकर पंचम भाव में बैठना आपके पैतृक संपत्ति संबंधी विवादों का निपटारा कर देगा। इस समय अगर आप अपने वर्क प्लेस पर प्रमोशन की तैयारी कर रहे हैं तो वो इच्छा आपकी पूर्ण हो जाएगी। अधिकारी आपसे प्रसन्नचित नजर आएंगे। कुटुम्ब में मान सम्मान बढ़ेगा। सामाजिक मान सम्मान में वृद्धि होगी। कोई विशेष कार्य में आपको विशेष सफलता भी प्राप्त होगी। अगर आप कला के क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रहे हैं तो निश्चित रूप से यह समय आपकी प्रसिद्धि को और अधिक बढ़ाएगा। यानि ये टाइम पीरियड आप समझ लीजिए आपके लिए बहुत ही अच्छा गोल्डन टाइम पीरियड है। इसमें आप अपनी कोई भी इम्पोर्टेन्ट मीटिंग या इम्पोर्टेन्ट कार्यों को कर सकते है या इम्पोर्टेन्ट कार्यों को कर सकते हैं।

अब बुध चूंकि आपके पंचम भाव के स्वामी हैं पंचम भाव में उच्च के हो रहे है तो उस हिसाब से भी बुध के रिजल्ट बहुत शानदार आपको देखने को मिलेंगे। यदि आपने सीए एन्ट्रेंस तो कर दिया, सीए की पढ़ाई के लिए फाइनेंस नहीं कर पा रहे है तो निश्चित रूप से अगर इस समय रिजल्ट आना है। एग्जाम होना है तो यह समय आपके लिए बहुत ही लकी है। इस समय आप निकल जाएंगे। मेहनत में कमी नहीं रखनी हैं । कर्म प्रधान तो बना ही है तो ग्रह नक्षत्रों भाग्य भी उसी व्यक्ति का साथ देते है जो व्यक्ति कर्मप्रधान होता है, इसीलिए अपने कर्म को करते चले जाइये। बिना फल की इच्छा किए हुए तो फल स्वतः ही ग्रह नक्षत्र और भाग्य आपको दे देगा तो विद्यार्थी वर्ग के लिए जो कॉमर्स के स्टूडेंट हैं, उनके लिए यह समय बहुत ही अच्छा समाचारों से भरा रहेगा। अकाउंटिंग फाइनैंस बैंकिंग सेक्टर लेकनि इस तरह के किसी भी काम में आप संलग्न है तो कैरियर में आप बहुत अच्छा नाम कमा सकते हैं। प्रयास आपको ही तेज करने पड़ेंगे। संतान की तरफ से जो भी चिंता थी वो खत्म हो जाएगी। यदि वो डिबेट करती है। डिबेट में कोई पार्टिसिपेट करती है तो निश्चित रूप से उसे कोई मेडल मिल सकता है और उससे आप गौरवान्वित महसूस करेंगे तो बुध के रिजल्ट आपको बहुत अच्छे इस माह देखने को मिलेंगे। Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

अब आते हैं तृतीय स्थान पर | तृतीय भाव की अगर बात करें तो उसके स्वामी हैं चंद्रमा पराक्रम में वृद्धि करेगा। थोड़े से मन को विचलित जरूर करेगा। काम में चंचलता जरूर लेकर आएगा। यानी एक जगह आप रोकर नहीं बैठेंगे। कभी कई कभी कई कई इस तरीके से काम नहीं होता। आप जो भी काम करें, कॉन्सन्ट्रेशन से करें। एक कार्य को कंप्लीट कर करने उसके बाद में दूसरे काम की शुरुआत करें तो ये कार्य ग्रह करेंगे। अपने ऊपर थोड़ा सा कंट्रोल रखेंगे। अपनी चंचलता को थोड़ा सा अस्थिर करने का प्रयास करेंगे तो किसी भी प्रकार की समस्या आपको नहीं होगी और आपका कंसन्ट्रेशन भी बढ़ता हुआ दिखाई देगा। जिससे आपके काम सजगता से होंगे। वैसे आपके व्यक्तित्व के चर्चे चारों तरफ होंगे। महफिल की शान बनेंगे। कोई भी पार्टी हो कोई भी मीटिंग हो तो आपका इंतजार लोगों को रहेगा। यानी लोग आपकी पर्सनैलिटी से प्रभावित होते हुए दिखाई देंगे। मित्रों के साथ इसमें अच्छा समय व्यतीत करेंगे।

अब आते हैं सुख स्थान पर | सुख स्थान की अगर बात करें तो सुखेश हैं सूर्य जो कि 17 सितंबर तक वे आपके स्थान में स्वग्रही हो रहे हैं। सुख के स्थान के स्वामी का अपने ही घर में स्वग्रही होकर बैठना बहुत अच्छे परिणाम आपको देने वाला है। इस समय आपके सुखों में वृद्धि होगी। आप के कार्यों में आप अच्छी दक्षता हासिल करेंगे। छोटे छोटे कार्यों में अटकाव की समस्या खत्म हो जाएगी। छोटे छोटे कार्य द्रुत गति से संपन्न होते हुए दिखाई देंगे। माता का साथ और सहयोग आपको भरपूर देखने को मिलेगा। सामाजिक मान सम्मान में इस समय वृद्धि होगी। इस समय प्रॉपर्टी से संबंधित कार्यों में भी आपको अच्छी सफलता मिलती हुई दिखाई देगी तो सूर्य के बहुत अच्छे परिणाम आपको इस माह देखने को मिलेंगे। 17 अगस्त के बाद सूर्य अपने से एक घर आगे जाएंगे। बुध के साथ बुधादित्य योग बनाएंगे। उस समय भी परिस्थितियां आपके लिए और अधिक फेवरेबल होती हुई दिखाई देगी। Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

अब आते है आपके सप्तम भाव पर | सप्तम भाव की यदि बात करें तो सप्तमेश हैं मंगल जो आपके लग्न में बैठे हैं और अपने ही घर को देख रहे हैं। बहुत अच्छा टाइम पीरियड व्यापारी वर्ग के लिए रहेगा। इस समय आप अपने दाम्पत्य जीवन का भरपूर सुख भी प्राप्त करेंगे। जीवनसाथी का भी आपको पूरा सपोर्ट देखने को मिलेगा परंतु इस समय अगर आप कोई खनिज पदार्थों से रिलेटेड काम करते हैं। कोई सिक्योरटी एजेंसी आपकी है या भूमि से संबंधित कोई कार्य आप कर रहे हैं। ठेकेदारी का व्यवसाय अगर आप करते हैं। कंस्ट्रक्शन लाइन से अगर आप जुडे हुए हैं या प्रॉपर्टी डीलर अगर आप हैं तो निश्चित रूप से यह समय आपके काम में चार चांद लगाता हुआ दिखाई देगा। बस पार्टनरशिप में काम करते समय थोड़ी सी सावधानी रखें। पार्टनर की भावनाओं को समझते हुए आगे बढ़ें और उसे साथ लेकर आप आगे बढ़े तो दिक्कतें अपने आप ही कम होती चली जाएगी तो सप्तम भाव के हिसाब से तो मंगल के रिजल्ट बहुत अच्छे हैं।

अब बात करते हैं द्वादश भाव कि | क्योंकि द्वादश भाव के स्वामी मंगल है और अपने से एक घर आगे जाकर बैठ है। हालांकि द्वादश भाव में राहू भी बैठा है जो कि धर्म कर्म के कार्यों में खर्च करवाएंगे। अनर्गल खर्चों से आपको बचाएंगे आर्थिक स्थिति को और अधिक सुदृढ़ करेंगे। मंगल चूंकि द्वादश भाव के स्वामी और अपने से घर आगे जाकर बैठे हैं तो विदेशों से अच्छा लाभ आप इसमें प्राप्त करेंगे। विदेशों में नौकरी का सपना आप का पूर्ण हो सकता है जो युवक युवतियां रोजगार की तलाश कर रहे हैं। उनकी तलाश इस समय खत्म हो जाएगी और इस समय स्प्रिचुअल पाथ पर आप चल निकलेंगे। जिससे परिवार का भी आपको भरपूर साथ और सहयोग देखने को मिलेगा तो मंगल आपके लिए इस माह बहुत अच्छे रहेंगे। बस आपको एक ही चीज का ध्यान रखना है, वो है अपनी वाणी पर नियंत्रण और क्रोध पर नियंत्रण ये अगर दो चीजें आपने अपने जीवन में उतार ली तो आप बहुत अच्छी ऊँचाइयाँ छू सकते हैं। पर अगर आपने अपने इन विकारों को दूर नहीं किया तो अच्छे और बनते हुए काम भी बिगड़ सकते हैं तो इस बात पर आपको विशेष रूप से गौर करना है और ध्यान देना है।

अब आ जातें हैं आपके अष्टम भाव पर | अष्टम भाव की यदि बात करें तो अष्टम भाव के स्वामी हैं। गुरु जो कि आपके लाभ भाव में स्वगृही हो रहा है। गुरु का लाभ भाव में स्वग्रही होकर बैठना आपके डेली रूटीन की लाइफ को भी मैनेज स्टेबल बना देगा। मैनेजमेंट बहुत अच्छा हो जाएगा। रूटीन के कार्य स्मूथली होंगे। एक कामों में सारी जो दिक्कतें थी, वो खत्म हो जाएगी। आपकी सजगता से आपके अधिकारी भी आपसे प्रसन्नचित नजर आएंगे। आप को इस समय गुप्त कार्यों को गुप्त रूप से करने का प्रयास जरूर करें। खुलकर मतलब अपने कामों को किसी के साथ में जाहिर करने के करने से थोड़ा सा बचे जब वह कार्य पूर्ण हो जाए तब आप जरूर सबको करें। परंतु जब तक वह कार्य पूर्ण नहीं होता तो गुप्त तरीके से अपने कार्यों को करने का प्रयास करें। गलत मार्ग पर नहीं चलना है। रिश्वत लेने का प्रयास नहीं करना है। रिस्की कामों में हाथ डालने की अपेक्षा आपको अपने मेहनत के दम पर आगे बढने का प्रयास भी करना चाहिए। Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

अब गुरु चूंकि लाभ भाव के स्वामी हैं। लाभेश का अपने ही घर में स्वगृही होकर बैठना आपके कार्यों में अच्छी उन्नति और प्रगति लेकर आएगा। आप का कोई कोचिंग सेंटर या आपका कोई स्कूल आपका कोई कॉलेज है और आप मैनेजमेंट संभालते हैं तो निश्चित रूप से यह समय आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा। आप अपने स्कूल की एक ब्रांच खोल सकते हैं। अपने इंस्टीट्यूट की एक ब्रांच खोल सकते हैं। प्रसिद्धि को और अधिक बढ़ाते हुए दिखाई देंगे। सामाजिक मान सम्मान में भी इस समय आपके वृद्धि होगी और आकस्मिक धनलाभ की परिस्थितियों के साथ साथ आपका सर्कल और लेवल भी बढता हुआ दिखाई देगा। कुछ अच्छे लोग आपके सर्कल में जुड़ेंगे और इस समय आप फाइनैंशली बहुत स्टेबल और स्ट्रॉंग अपने आप को महसूस करेंगे तो गुरु के रिजल्ट तो आपको बहुत अच्छे मिलेंगे।

अब जान लेते हैं। भाग्य स्थान के बारे में | भाग्य स्थान के स्वामी हैं। शनि जो कि वक्री अवस्था में अपने ही घर में बैठा है। इस समय लक फैक्टर आपके फेवर में रहेगा और लक आपका पूरा पूरा साथ भी देगा। इस समय आपके लक के सहयोग से आपके काम बनते चले जाएंगे। आपके कार्यों में आ रही बात है और दिक्कतें समाप्त हो जाएगी। आपके रूटीन के कार्यों में जो भी समस्याएं अब तक चल रही थी, वो समस्याएं खत्म हो जाएगी। अधूरे पड़े हुए कार्य द्रुत गति से होंगे और नए कार्यों की योजनाएं भी आप इस समय बनाते हुए दिखाई देंगे। धार्मिक प्रवृत्ति से ओत प्रोत रहेंगे। धर्म कर्म के कार्यों में आपकी रुचि बढ़ेगी। वहीं समाज सेवा कार्यों में भी आप अग्रणी भूमिका निभाएंगे। यानी नीचे तबके के लोगों की सहायता करना जरूरतमंद लोगों की सहायता करना ऐसी भावना आपको अधिक अपने अंदर पाएंगे और ऐसे कार्यों से आपकी प्रसन्नता मानसिक शांति में वृद्धि होगी जो युवक युवतियां नौकरी की तलाश कर रहे हैं। उनकी वो तलाश इस माह खत्म होती हुई दिखाई देगी।

अब कर्म भाव की बात करते हैं। कर्म भाव का स्वामी अपने से बाहरवां परंतु अपने ही घर में बैठे हैं तो आपके कार्यों में वो बहुत अधिक अच्छा नहीं करेंगे तो बहुत अधिक खराब भी नहीं करेंगे और आपको थोड़ा सा मेहनती बनाएंगे। आप अपने कार्यों में मेहनत करेंगे तो निश्चित रूप से परिणाम पाएंगे क्योंकि शनि व्यक्ति से मेहनत करवाता है। खुद सेवक है मेहनत करते हैं। सेवा करना जानते हैं इसीलिए आपको बस तटस्थ होकर कर्म प्रधान बनते चले जाना है, जितना अच्छा कर्म करेंगे उतने अच्छे परिणाम को अपने लिए सकारात्मक पाएंगे। पिता का और सानिध्य प्राप्त होगा। अधिकारियों का साथ और सहयोग उनका मार्गदर्शन जरूर आपको देखने को मिलेगा और उनके सहयोग से प्रमोशन इन्क्रिमेंट के चांसेस भी आपके बनते हुए दिखाई देंगे तो ओवरऑल ये पूरा मां वृषभ राशि वालों के लिए भी बहुत अच्छा है क्योंकि ग्रहों की स्थिति भी बहुत अच्छी है | Vrishabh Rashifal August 2022 in Hindi

 

 

शुभ तारीखें – 1 से 4, 7 से 12, 16 से 22 और 26 से 30
ध्यान देने योग्य तारीखें – 5 , 6 , 13 से 15 और 23 से 25।
शुभ रंग – हरा, नींबू, पीला और अमृत पीला।

विशेष उपाय

  • प्रतिदिन देवी दुर्गा को लाल रंग के पुष्प चढ़ाकर उन दुर्गा चालीसा का पाठ जरूर करें।
  • तुलसी के पौधे के पास सुबह शाम घी का दीपक जरूर जलाएं।
  • एकादशी का उपवास आपको जरूर करना चाहिए।
  • मारूति यंत्र लॉकेट ये सभी आप अपने गले में धारण कर सकते हैं |
  • सफेद चीजों का दान आपको ब्राह्मणों को जरूर करना चाहिए |

 

Note: Daily, Weekly, Monthly, and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji is almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) (Kundali Making) (Kundali Milan) or contact Pandit NM Srimali  WhatsApp No. 9929391753, E-Mail- [email protected]

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Back to list

Leave a Reply

Your email address will not be published.