Astro Gyaan, Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured, Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured|Jeevan Mantra

वृषभ राशि जनवरी 2023 राशिफल in hindi | Taurus Horoscope 2023 | Nidhi Shrimali |

january 2023 vrashabh rashifal

Vrashabh Rashi January 2023 Horoscope

आप सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये ये नव वर्ष आपके लिए उन्नति दायक रहे आप हमेशा प्रसन्नचित रहें खुशियां बटोरें घर में मांगलिक कार्यक्रम आपके हों और आप अपने पारिवारिक जीवन में सुखों की अनुभूति करें। यही हमारी मंगल कामना आप सभी के लिए है और आज हम आपके लिए लेकर आये है नव वर्ष के प्रथम माह यानि जनवरी माह का वृषभ राशि वालो का मासिक राशिफल सबसे पहले जान लेते हैं। इस माह में आने वाले कुछ विशेष त्योहारों के बारे में तो सबसे पहले तो 1 जनवरी को आंग्ल नववर्ष प्रारंभ होगा। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जयंती मनाई जाएगी। 14 जनवरी को लोहड़ी और मकर सक्रांति का पर्व पूरा देश धूमधाम से मनाएगा। 21 जनवरी को मौनी अमावस्या मनाई जाएगी और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस और बसंत पंचमी का पर्व एक साथ बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। ये है इस माह के विशेष पर्व जो कि इस साल की प्रथम माह को बना रहे है और भी अधिक विशेष।

अब बढ़ते हैं आगे और जानते हैं कि ग्रहों के हिसाब से ये महीना आपके लिए क्या लेकर आ रहा है। सबसे पहले ग्रहों के राजा सूर्य की बात करते हैं। वे वर्तमान में अपनी अति मित्र राशि धनु में विराजमान हैं और 14 जनवरी को वे अपनी सम राशि मकर में प्रवेश कर जाएंगे। यहां पर वे उत्तरायण होंगे और इसी दिन मकर सक्रांति का पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। बुध ग्रह की बात करें तो वे इस पूरे माह अपनी मित्र राशि धनु में विराजमान रहेंगे। मंगल ग्रह अपनी शत्रु राशि वृषभ में इस पूरे माह विराजमान रहने वाले हैं। गुरु ग्रह की बात करें तो वे भी अपनी खुद की राशि मीन में स्वग्रही होकर इस पूरे माह विराजमान रहेंगे। शुक्र ग्रह की बात करें तो वे वर्तमान में अपनी सम राशि मकर में विराजमान हैं और 22 जनवरी को वे अपनी सम राशि कुम्भ में प्रवेश कर जाएंगे। शनि ग्रह की अगर बात करें तो वे वर्तमान में स्वग्रही होकर मकर राशि में विराजमान हैं और 17 जनवरी को वे अपनी मूल त्रिकोण की राशि कुंभ में स्वग्रही होकर पुनः विराजमान होने वाले हैं और ये इस साल का सबसे बड़ा राशि परिवर्तन इस साल की शुरुआत में ही होने जा रहा है और इसके में अलग से 12 वीडियो सभी राशियों के अकॉर्डिंग ही जरूर दूंगी और ये विडियो आप मेरे चैनल पर जाकर देख सकते हैं।

अब आते हैं राहू और केतु पर तो राहू इस पूरे माह अपनी राशि मेष में और केतु इस पूरे माह अपनी सम राशि तुला में विराजमान रहने वाले हैं। अब बढ़ते हैं। आगे और जान लेते हैं कि ये जो साल के प्रथम माह में ग्रहों की स्थितियों में फेरबदल हो रहा है। ये शनि का सबसे बड़ा जो राशि परिवर्तन हो रहा है ये इस माह आपके लिए कैसे रिजल्ट लेकर आएगा तो शुरू करते हैं। जनवरी माह का वृश्चिक राशिवालों का मासिक राशिफल और सबसे पहले मैं आपको बता दूं कि ये जो मैं आपको राशिफल देती हूं, ये चंद्र गणनाओं पर आधारित होता है और ये आपकी राशि और लग्न दोनों के हिसाब से समान रूप से प्रभावशाली भी रहता है। तो सबसे पहले आपके राशि स्वामी की बात करते हैं जो कि है शुक्र जो कि आपके भाग्य स्थान में जाकर बैठा है। आपके लग्नेश का अपने से नवम और भाग्य स्थान में जाकर बैठना बहुत अच्छे रिजल्ट आपको दिलवाएगा। इस समय आपके आकर्षक व्यक्तित्व का हर व्यक्ति मुरीद हो जाएगा यानि आपको फॉलो करने का प्रयास करेंगे। शत्रु भी आपसे इस समय मित्रता करने का प्रयास करेंगे। परिवार में आप अपनी एक अलग पहचान बनाते हुए दिखाई देंगे। वहीं ददिहाल वालों से रिश्ते आपके और अधिक प्रगाढ़ और सुदृढ़ होते चले जाएंगे। इस समय आप जो भी कार्य हाथ में लेंगे उसमें आप निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करेंगे। परिवार को रमणिक स्थलों की यात्राएं करवाएंगे और खुद भी अपने सपनों को पंख देने का प्रयास करते हुए दिखाई देंगे। यानि ये मां आपके सपनों को पूर्ण करने में आपकी पूर्णतया मदद करेगा। अब शुक्र चूंकि आपके सिक्स हाउस के भी स्वामी हैं और 22 जनवरी को शुक्र राशि परिवर्तन भी करने जा रहे हैं तो कि लग्नेश का अपने से नवम और उसके बाद दशम जाकर बैठना। बहुत ही अच्छा किनरा पत्रिका केन्द्र में जाकर बैठना बहुत ही अच्छे रिजल्ट आपको दिलवाएगा। इस समय अगर आप इंटीरियर डेकोरेशन या फैशन डिजाइनिंग के फील्ड से हैं, कोई मॉडल है या फिर फिल्म उद्योग से जुड़े हुए हैं। सिनेमैटोग्राफी फोटोग्राफी से जुड़े हुए हैं तो निश्चित रूप से ये आपके लिए शानदार प्रदर्शन से भरा रहेगा। इस माह आपको अपनी फील्ड में प्रसिद्धि भी हासिल होगी और पैसा भी प्राप्त होगा। आप शुक्र रोग भाव के स्वामी हैं और रोग भाव में केतु जाकर विराजमान हो रहे हैं। हालांकि रोग भाव के स्वामी अपने से चतुर्थ जाकर बैठे हैं तो श्वास संबंधी समस्याओं में आपको रिलीफ मिलेगा। परन्तु इचिंग से रिलेटेड प्रॉब्लम या पीरियड्स की प्रॉब्लम जो कि लेडीज में होती है उसमें आपको बहुत ज्यादा हाइजीनिक रहकर चलना पड़ेगा। केतु चूंकि आपके रोग भाव में बैठे हैं, ये संक्रमण से संबंधित समस्याओं को उत्पन्न करते हैं

इसीलिए इस समय आपको ऐसे रोगाणुओं कीटाणु से संबंधित वाइरस से संबंधित फीवर से संबंधित समस्याओं में सावधान रहना होगा। हालांकि बड़े बड़े स्वास्थ संबंधी समस्याओं में बड़े बड़े रोगों में आपको रिलीफ जरूर मिलेगा और आपकी प्रसन्नता में वृद्धि होगी तो ये समय आपकी प्रसन्नता को बढ़ाएगा और इस समय स्वास्थ संबंधी समस्याओं से आपको मुक्ति दिलवाएगा। वहीं इस समय शत्रु पक्ष को मुंह की खानी पड़ेगी। विरोधी समाप्त हो जाएंगे। प्रत्येक क्षेत्र में विजय की प्राप्ति करेंगे। रिस्क के कामों में रिस्क फैक्टर में आपको सहायता प्राप्त होगी। इस समय धार्मिक प्रवृति से भी आप ओत प्रोत रहेंगे। केतु चूंकि धर्म की तरफ ले जाते हैं, मोक्ष दाता है। इसीलिए इस समय आप अपने जीवन में कुछ सामाजिक कार्यक्रमों को महत्व देंगे। सामाजिक कार्यक्रमों से जुड़ेंगे समाज सेवा जैसे कार्यक्रमों से आप जुड़ेंगे और कुछ बदलाव आपके व्यक्तित्व में भी आएगा जो कि आपके लिये बहुत ही सकारात्मक रहेगा। तो ये हैं शुक्र के रिजल्ट

अब बढ़ते हैं धन भाव की तरफ यानी द्वितीय स्थान की तरफ द्वितीय भाव के स्वामी का अपने से सप्तम जाकर बैठना बहुत ही अच्छा पर चूंकि बुध सौम्य ग्रह है और अष्टम भाव में जाकर बैठे हैं, इसीलिए सोचते समझते और बोलते समय बहुत ज्यादा केयरफुल रहें। बिना सोचे समझे कोई भी बात अपने मुंह से ऐसी न निकालें जिससे आपके पारिवारिक सदस्य आहत हो जाएं। इस समय आपको बहुत ध्यान देकर अपने कार्य में आगे बढना पड़ेगा। जितनी आप मेहनत करेंगे उतने ही अच्छे परिणामों को अपने लिए आप सकारात्मक पाएंगे। अकाउंटिंग फाइनेंस बैंकिंग सेक्टर में आपको अच्छी सफलता इस समय देखने को मिलेगी।
इस समय समाज में आपका एक अलग स्थान बनता हुआ दिखाई देगा। गणमान्य व्यक्तियों की सूची में आप आ जाएंगे। इस समय परिवार में मांगलिक कार्यक्रमों की रूपरेखा भी बन सकती है। घर की महिलाओं को आप प्रसन्नचित करने का प्रयास करेंगे। उनके लिए कुछ गिफ्ट्स की खरीदारी भी इस माह में हो सकती है। अब बुध चूंकि आपके पंचम भाव के स्वामी हैं, पढ़ाई का जिसे स्थान कहते हैं जिसे करियर का स्थान कहते हैं, जिसे संतान का भाव कहते हैं। वहा बुध अष्टम भाव में जाकर बैठे हैं। करियर में थोड़ी कठिनाइयां जरुर आयेगी पर पंचमेश चूंकि अपने से चतुर्थ जाकर बैठे है, इसीलिए आपको सफलता निश्चित रूप से मिलेगी और कठिनाइयां तो हमें आगे बढ़ने का हौसला सदेव देती आयी है। इसीलिए कठिनाईयों से घबराने की आवश्यकता नहीं है। बस कर्म प्रधान बने रहना है। अपने काम को प्रायोरिटी दें और ईमानदारी से अपने कार्यों को करें। जो भी कॉमर्स के स्टूडेंट हैं उनको अपनी मेहनत का यथेष्ट फल इस माह जरूर प्राप्त होगा। संतान से संबंधित शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। मैं धर्म कर्म के कार्यों। मैं आध्यात्मिक कार्यों में आपकी रूचि इस माह बढती हुई दिखाई देगी और कोर्ट में कोई धार्मिक अनुष्ठान भी इस माह संपन्न हो सकता है। अब यह तो थी बुध की बात |

अब बढते हैं। आगे और जान लेते हैं। तृतीय स्थान के बारे में जो कि तृतीय है यानि पराक्रमेश चंद्रमा तो तृतीय स्थान के स्वामी हैं। चन्द्रमा जो कि आपके पराक्रम बल को तो बढ़ाएंगे पर कभी कभी आपको कन्फ्यूज करते हुए दिखाई देंगे। भाई बहनों के साथ कभी कभी रिश्ते नरम तो कभी कभी गर्म चलते हुए दिखाई देगें। उतार चढ़ाव की स्थितियां रिश्तों में आपको देखने को मिलेगी पर बहुत बड़ी और बहुत झगड़े वाली स्थिति आपको अपने रिश्तों में नहीं देखने को मिलेगी। छोटी मोटी नोक झोक तो परिवार में रिश्तों में माधुरी को और अधिक बढ़ाती है। इसीलिए इससे घबराने की आवश्यकता आपको बिल्कुल भी नहीं है। इस समय आप हॉबीज से सम्बंधित कार्यों में रचनात्मक कार्यों में अपनी रूचि को बढ़ाएंगे। आप अगर सृजनात्मक कार्यों में हॉबी को प्रोफेशन बनाना चाहते हैं तो ये समय आपके लिए उचित है। इस समय आपकी हॉबी के माध्यम से आप प्रसिद्धि प्राप्त करेंगे। शोशल मीडिया पर आप छाए रहेंगे। आप के वीडियो वायरल होंगे। कलाकारों के लिए ये समय मान सम्मान और प्रसिद्धि से भरा रहेगा।

अब आते हैं आपके सुख स्थान पर यानि चतुर्थ भाव पर चतुर्थ भाव के स्वामी हैं सूर्य जो की अष्टम भाव में जाकर विराजमान हो रहे हैं, अपने से पंचम जाकर बैठ रहे हैं। सूर्य का अष्टम भाव में जाकर बैठना आपके अष्टम भाव को तो ठीक करेगा पर आर्थिक स्थिति को थोड़ा सा प्रभावित कर सकता है। इस समय अनर्गल खर्च करने से आपको बचना चाहिए। इस समय बजट देखकर चलेंगे तो फाइनेंशियली आप सिक्योर महसूस करेंगे। मां के साथ छोटी छोटी बातों को लेकर वाद विवाद की स्थितियां उत्पन्न ना होने दें। अपने रिश्तों में तालमेल बनाने के लिए आपको अपने मैच्योरिटी लेवल को भी बढ़ाना पड़ेगा। इस समय प्रोपर्टी से संबंधित कार्यों में थोड़ी सी सजगता रखें। वाहन के रख रखाव पर भी खर्चा आ सकता है, पर बजट देख कर ही खर्च करें। इस समय सामाजिक कार्यक्रमों में आपकी भागीदारी बढ़ेगी और आपको अपने कुटुम्ब से शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। किसान वर्ग की मेहनत रंग लाएगी। 14 जनवरी को जब सूर्य उत्तरायण हो जाएंगे यानि आपके भाग्य स्थान में जाकर विराजमान हो जाएंगे। तब वे आपको और अच्छे परिणामों की प्राप्ति करवाएंगे। इस समय भाग्य आपका साथ देगा। अधूरे पड़े हुए कार्य द्रुत गति से संपन्न होंगे। तो ये हैं सूर्य के रिजल्ट।

अब आते हैं आपके सप्तम भाव पर सप्तम भाव की अगर हम बात करे तो सप्तमेश है मंगल जो कि आपके लग्न में बैठकर अपने ही घर को देख रहे हैं। मंगल इस पूरे माह लग्न में बैठकर सप्तम भाव पर दृष्टि डालेंगे। हालांकि आपको मांगलिक बना रहे हैं। थोड़ा सा क्रोधावेश गुस्सा बढ़ेगा । रिएक्शन बहुत जल्दी आपके और मुंह से निकलेगी परंतु इस समय आपको संभलकर रहना है। ये मैंने आपको पहले भी बताया कि पानी से आपको किसी को भी आहत नहीं करना है। मजबूती से अपनी वाणी को अपनी ताकत बनाएं ना कि कमजोरी। इस समय जो भी कार्य करें सोच समझ कर करें। हालांकि टेक्निकल फील्ड से जुड़े हुए लोगों को इस समय बहुत शानदार परिणामों की प्राप्ति होगी। माइनिंग डिपार्टमेंट में जो काम करते हैं, माइनिंग जिनकी है उनके लिए ये समय बहुत ही शानदार रहेगा। खनिज पदार्थों रसायनिक पदार्थों से रिलेटेड जो लोग बिजनेस करते हैं उनके लिए भी ये समय बहुत शानदार रिजल्ट लेकर आएगा और इस समय प्रॉपर्टी से संबंधित जो लोग काम करते हैं, कंस्ट्रक्शन लाइन से जुड़े हैं, उनके लिए भी ये समय शानदार प्रदर्शन से भरा रहेगा तो मंगल के रिजल्ट आपको बहुत ही अच्छे और बेहतरीन। सप्तम भाव के हिसाब से मिल सकते हैं।

तो मंगल के रिजल्ट आपको बहुत ही अच्छे और बेहतरीन। सप्तम भाव के हिसाब से मिल सकते हैं। आपके द्वादस स्थान के स्वामी है और द्वादस भाव के स्वामी अपने से एक घर आगे जाकर बैठ हैं तो खर्चों में भी वे आपको थोड़ा सा संभल कर चलाएंगे। यानि आप जहां पर भी अनर्गल खर्च करने लगेंगे। आपकी कॉन्शियस आपको रोक देगी और आप अनर्गल खर्च करने से बच जाएंगे तो मितव्ययता आपके जीवन में आएगी जिसे पाने के लिए आप और होते हुए दिखाई देंगे। विदेशी कंपनियों के साथ आपका टाईअप हो सकता है। विदेशों में आप अपना व्यापार बढा सकते हैं। इस समय टेक्निकल कामों में आप महारत हासिल करेंगे। सिक्योरिटी एजेंसी है तो निश्चित रूप से इस समय आपका काम बढ़ेगा और काम को एक अच्छी रफ्तार मिलती हुई दिखाई देगी तो ओवरऑल मंगल के रिजल्ट आपको इस माह बहुत ही अच्छे और बेहतरीन मिलेंगे।

अब आते हैं आपके अष्टम भाव पर अष्टम भाव के स्वामी हैं गुरू और वे आपके लाभ भाव के स्वामी हैं। लाभ भाव में गुरू स्वग्रही होकर बैठा है। अष्टमेश का अपने से चतुर्थ में जाकर बैठना लाभ भाव में बैठना। आपको बहुत ही अच्छे और बेहतर परिणामों की प्राप्ति करवाएगा। इस समय यात्रायें बहुत होंगी परंतु यात्रायें आपकी उन्नति के मार्ग को प्रशस्त करेगी। यानि आपके कार्यों को सुद्रढ़ तरीके से सफलता पूर्वक सम्पन्न करवाएगी। इस समय शुभ कार्यों में आपका धन खर्च होगा और ऐसे कार्य आपको बहुत अच्छे पाएंगे। इस समय गुप्त शत्रु समाप्त हो जायेंगे और शत्रु भी आपसे मित्रता करने का प्रयास करेंगे। सजगता की वजह से आप अपने कार्यों को खुद खड़े रहकर पूर्ण करेंगे और अचानक लाभ की स्थितियां आपको अपने इस माह में जीवन में देखने को मिलेगी तो गुरु के रिजल्ट बहुत ही अच्छे रहने वाले हैं। अब गुरु जो कि आपके लाभ भाव के स्वामी हैं और लाभ भाव में स्वग्रही होकर बैठा है तो लाभेश का अपने ही घर में स्वग्रही होकर बैठना लाभ में उत्तरोत्तर वृद्धि करवाएगा। अचानक धन लाभ लग्जरी नए वाहन नई घर की खरीददारी घर में कोई लग्जीरियस आइटम की खरीददारी आप इस माह करते हुए दिखाई देंगे। सर्कल लेवल भी बढेगा। सामाजिक कार्यक्रमों में आपकी भागीदारी बढ़ेगी। इस समय समाज में आपका एक अलग ही स्थान रहेगा। सामाजिक कार्यक्रमों में आपको चीफ गेस्ट बना कर जाएगा। आप इस समय वीआईपी के संपर्क में रहेंगे और ऐसे लोगों से आपको आगे चलकर बहुत अच्छा लाभ भी अपने बिजनेस में प्राप्त होगा तो गुरु के रिजल्ट बहुत ही शानदार और अच्छे इस माह आपको देखने को मिलेंगे।

अब आते हैं आपके भाग्यस्थान पर भाग्येश और कर्मेश आपके शनि यानि आपकी कुण्डली में शनि योग कारक ग्रह हैं तो वृषभ राशि वालों के लिए शनि योगकारक ग्रह होते हुए अपने ही घर में स्वग्रही होकर विराजमान हो रहे भाग्य स्थान में शनि का स्वग्रही होकर बैठना और 17 जनवरी तक शनि यहीं पर विराजमान हैं। भाग्य को बढ़ायेंगे इस समय आपके भाग्य में वृद्धि होगी जिसके काम आप कर पाएंगे। उस में आपको अच्छा लाभ भी प्राप्त होगा। अधूरे पड़े हुए कार्य द्रुत गति से संपन्न होते चले जायेंगे। इस समय धर्म कर्म के कार्यों में आपकी रुचि बढ़ेगी। घर में धार्मिक अनुष्ठान हो सकता परिवार के साथ धार्मिक यात्राएं भी आप कर सकते हैं। इस समय काम के सिलसिले में भी आपकी यात्रायें संपन्न होगी परन्तु वे आपके लिए सुखद और मंगलमय रहेगी। समाज सेवा से आप जुड़ेंगे और ऐसे कार्यों से आप मानसिक शांति की अनुभूति करेंगे। परिवार में भी इस वजह से आपके सम्मान में और अधिक वृद्धि होगी। अब शनि जो कि 17 जनवरी को राशि परिवर्तन कर के आपके कर्म भाव में और मूल त्रिकोण की राशि में चले जायेंगे और वहां पर शश नामक महापुरुष योग बनाएंगे तो और अधिक शनि के रिजल्ट आपको शानदार देखने को मिलेंगे क्योंकि शनि भाग्येश भी है। तो इस समय आप शेयर मार्केट लॉटरी में लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट अगर आपने किया तो फायदा निश्चित रूप से होगा। नौकरीपेशा लोगों को प्रमोशन मिल सकता है, इन्क्रीमेंट मिल सकता है और जॉब से जुड़े हुए उनको मनचाही ट्रांसफर इस समय प्राप्त हो सकती है। अधिकारियों का पूरा साथ और सहयोग मिलेगा। जो लोग व्यापार करते हैं वो व्यापार में कुछ बड़ा बदलाव कर सकते हैं। अपने व्यापार के विस्तार के बारे में सोच सकते हैं। ये समय उसके लिए एकदम अनुकूल आपके लिए रहेगा और अच्छे और अनुकूल परिणाम भी आपको दिलवाएगा।

शुभ तिथिये :-
3 से 9 तारीख 131418, 19, 22, 27 तारीख और 30 और 31 तारीख।

शुभ रंग :-
रॉयल ब्लू, डार्क ब्लू पैरट और पीकॉक ब्ल्यू और ब्लैक |

उपाय :-

इस्फटिक की माला आपको धारण करनी चाहिए।
शिव मंदिर में जाकर सोमवार के दिन रुद्राभिषेक जरूर करवाएं।
प्रत्येक शुक्रवार का व्रत आपको करना चाहिए और श्री सूक्त का पाठ आप जरूर करें।
शनिवार के दिन चीटियों को आटा जरुर डालें और मछलियों को भी आपको दाना डालना चाहिए

Note: Daily, Weekly, Monthly and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) or contact Pandit NM Shrimali  Whatsapp No. 9929391753, E-Mail- [email protected]
Connect with us at Social Network:-

Back to list