Vidhyarambh Sanskar Pooja

Vidhyarambh Sanskar Pooja


When the age of the boy/girl becomes eligible for education, then her Vidyarambh ceremony is performed. In this, through the ceremony, where on the one hand the enthusiasm of study is created in the child, the parents and teachers are also made aware of their sacred and great responsibility that the child should be educated with alphabets, knowledge of subjects and leading a better life. Keep understanding and practicing the sources.

Importance of Vidyarambh Sanskar:-

Students from all over the world used to come here to get education. We all want to make our children proficient in learning. Therefore, through Vidyarambh Sanskar, an attempt is made to inculcate curiosity about knowledge in boys / girls. Along with this, the indwelling of social and moral qualities is also prayed for in them.

Ganesh Puja :-

Action And Feeling :- Offer Akshat, flowers, roli in the hand of the child and offer it in front of the picture of Ganapati ji with the mantra. Feel that the spirit of the child is being touched by the Lord of Vivek through this invocation and worship. By his grace the child will become intelligent and prudent.

गणनं त्व गणपति हवामहे, प्रियनं त्व प्रियपति हवामहे, निधिं त्व निधिपति हवामहे, वसोमम्।

अहमजनी गभधर्मत्वमजसि गभधाम। Om गणपतये नमः। आवाह्यामी, स्थापयामी, ध्यानी:

Saraswati Puja :-

Action And Feeling :- By giving akshat, flowers, roli etc. in the hand of the child, by chanting the mantra, make it dedicated in front of the picture of Mother Saraswati with a sense of worship. Feel that this child is becoming an object of affection of Mother Saraswati, the goddess of art, knowledge and compassion. By savoring his umbrella, it will be able to move forward by taking continuous interest in the acquisition of knowledge.

पावका न सरस्वती, वजेभिवर्जनिवती। यज्ञं वास्तुधिवसुः।

ओम सरस्वती। आवाह्यामी, स्थापयामी, ध्यायामी।

Do this puja from astrologer Nidhi ji Shrimali at a very nominal cost to Vidhyarambh Sanskar Puja as soon as possible.

Astrologer Nidhi ji Shrimali ji explains and guides the proper Vidhyarambh Sanskar Puja remedies. If you want to do Vidhyarambh Sanskar Puja, then astrologer Nidhi ji Shrimali is the best choice in India.

For any assistance or confusion regarding Puja, contact us by clicking below. You can also WhatsApp us on this number. Our team is always there to assist you.

विधारंभ संस्कार पूजा 


जब बालक/बालिका की आयु शिक्षा के योग्य हो जाती है, तब उसका विधारंभ संस्कार किया जाता है। इसमें समारोह के माध्यम से जहां एक ओर जहां बच्चे में अध्ययन का उत्साह पैदा होता है, वहीं माता-पिता और शिक्षकों को भी उनकी पवित्र और महान जिम्मेदारी से अवगत कराया जाता है कि बच्चे को अक्षर, विषयों का ज्ञान और नेतृत्व के साथ शिक्षित किया जाना चाहिए। एक बेहतर जीवन। सूत्रों को समझते और अभ्यास करते रहें।

विधारंभ संस्कार का महत्व:-

दुनिया भर से छात्र यहां शिक्षा प्राप्त करने के लिए आते थे। हम सभी चाहते हैं कि हमारे बच्चे पढ़ाई में दक्ष हों। अतः विधारंभ संस्कार के माध्यम से बालक/बालिकाओं में ज्ञान के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न करने का प्रयास किया जाता है। साथ ही उनमें सामाजिक और नैतिक गुणों के वास करने की भी प्रार्थना की जाती है।

गणेश पूजा :-

क्रिया और भाव :- बच्चे के हाथ में अक्षत, फूल, रोली चढ़ाएं और मंत्र के साथ गणपति जी के चित्र के सामने अर्पित करें। महसूस करें कि इस आह्वान और पूजा के माध्यम से विवेक के भगवान बच्चे की आत्मा को छू रहे हैं। उनकी कृपा से बालक बुद्धिमान और विवेकपूर्ण बनेगा।

गणनं त्व गणपति हवामहे, प्रियनं त्व प्रियपति हवामहे, निधिं त्व निधिपति हवामहे, वसोमम्।

अहमजनी गभधर्मत्वमजसि गभधाम। Om गणपतये नमः। आवाह्यामी, स्थापयामी, ध्यानी:

 

सरस्वती पूजा :-

क्रिया और भाव :- बच्चे के हाथ में अक्षत, फूल, रोली आदि देकर मंत्र जप कर पूजा भाव से मां सरस्वती के चित्र के सामने समर्पित करें। महसूस करें कि यह बालक कला, ज्ञान और करुणा की देवी मां सरस्वती के स्नेह का पात्र बनता जा रहा है। उसकी छतरी का स्वाद चखकर वह ज्ञान प्राप्ति में सतत रूचि लेकर आगे बढ़ सकेगा।

पावका न सरस्वती, वजेभिवर्जनिवती। यज्ञं वास्तुधिवसुः।

ओम सरस्वती। आवाह्यामी, स्थापयामी, ध्यायामी।

इस पूजा को ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली से बहुत ही मामूली कीमत पर विधारंभ संस्कार पूजा तक जल्द से जल्द करें।

ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली जी उचित विधारंभ संस्कार पूजा उपायों की व्याख्या और मार्गदर्शन करती हैं। यदि आप विधारंभ संस्कार पूजा करना चाहते हैं, तो ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली भारत में सबसे अच्छी पसंद हैं।

पूजा के संबंध में किसी भी सहायता या भ्रम के लिए, नीचे क्लिक करके हमसे संपर्क करें। आप हमें इस नंबर पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। हमारी टीम आपकी सहायता के लिए हमेशा मौजूद है।

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Shopping cart

Stock Clearance Sale 2023 is Live Now : Use Coupon Code SCS23 & Get 30% Off.

Call Us
9571122777
Shop
0 items Cart
My account