Ashtadhatu Gaj Laxmi

3,350.00

गजलक्ष्मी यह लक्ष्मी का चार भुजाधारी स्वरूप है। नाम के मुताबिक ही यह गज यानी हाथी पर आठ कमल की पत्तियों के समान आकार वाले सिंहासन विराजित होती है। इनके दोनों ओर भी हाथी खड़े होते हैं।

Quantity:

Want a discount? Become a member.
SKU: E1265 Category:

Description

Ashtadhatu Gaj Laxmi

Please click here for DISCOUNT OFFER on other Product!
Ashtadhatu Gaj Laxmi
गजलक्ष्मी यह लक्ष्मी का चार भुजाधारी स्वरूप है। नाम के मुताबिक ही यह गज यानी हाथी पर आठ कमल की पत्तियों के समान आकार वाले सिंहासन विराजित होती है। इनके दोनों ओर भी हाथी खड़े होते हैं। चार हाथों में कमल का फूल, अमृत कलश, बेल और शंख होता हैं। इनकी उपासना संपत्ति और संतान देने वाली मानी गई है।
गज को वर्षा करने वाले मेघों तथा उर्वरता का भी प्रतीक माना जाता है। गज की सवारी करने के कारण यह उर्वरता तथा समृद्धि की देवी भी हैं। गज लक्ष्मी देवी को राजलक्ष्मी के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इन्हीं की कृपा से राजाओं को धन वैभव और समृद्घि का आशीर्वाद प्राप्त होता है।
मध्यप्रदेश के नई पेठ में महालक्ष्मी देवी का मंदिर है। इस मंदिर में सफेद हाथी पर माता महालक्ष्मी विराजमान हैं। माना जाता है कि यह राजा विक्रमादित्य की राज लक्ष्मी हैं।
Gajalakshmi, that is Lakshmi with elephants, is one of the most significant Ashtalakshmi aspects of the Hindu goddess Lakshmi. In this aspect, the goddess is depicted seated on a lotus, flanked on both side by an elephant (gaja). She is shown as seated in Padmasana yogic posture, and has four arms. In each of her upper pair of arms, she carries a lotus, and the lower hands are generally shown in abhya and varadamudra. The elephants flanking her are shown as pouring water from their trunk over the goddess. This aspect like most other aspects of Lakshmi is representative of prosperity, good luck, and abundance; and the Gajalakshmi motifs are very common in Hindu and Buddhist iconography.

Gajalaxmi medallion from Bharhut stupa railing pillar, sand stone, 2nd Century BCE, Indian Museum, Kolkata.
The earliest available depiction of Gajalakshmi appears on a coin (3rd century) from Kausambi. One or two elephants depicted alongside a woman symbolized the birth of Gautam Buddha.

Gajalakshmi is worshiped in many places in Goa as a fertility goddess,mostly under the names Gajantlakshmi,Gajalakshmi,Kelbai or Bhauka devi.

Connect with us at Social Network:-

social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com

  1. Rated 5 out of 5

    bhanu shrimali

    it is quite rare to get gaj laxmi, i glad i found it. so happy..

Add your review