Astro Gyaan, Astrology Tips, Featured

Mithun Rashi Shani शनिदेव का राशि परिवर्तन मिथुन राशि पर प्रभाव

Mithun Rashi Shani

शनिदेव का राशि परिवर्तन मिथुन राशि पर प्रभाव


Mithun Rashi Shani

Image result for MITHUN SHANI PNG

पंडित एन एम श्रीमाली जी के अनुसार सावधान हो जाइए तैयार हो जाइए मिथुन राशि वालों को शनि की ढैय्या शुरू होने वाली है| जिनको 24 जनवरी 2020 को शनि की ढैया शुरू होने वाली है. परंतु देश के हिसाब से शनि का ये राशि परिवर्तन बहुत ही अच्छे और शुभ संकेत लेकर आया है. जैसा कि आप जानते हैं 370 की धारा खत्म हो चुकी है. राम मंदिर का जो प्रचलन बहुत बरसों से हम झेल रहे थे वो भी खत्म हो गया तो इनके सकारात्मक परिणाम अब हमको देखने को मिलेंगे. 24 जनवरी के बाद शनि भी इन सकारात्मक परिणामों में वृद्धि करेंगे. हमारी इकोनॉमी स्टेबल होगी जो आर्थिक दृष्टि से हम थोड़ा सा देश की तरफ से यदि देखें तो हम थोड़ा पिछड़े हैं वो हमारी इकोनॉमी सहनीय व स्टेबल एक्टिव नजर आएगी. कृषि संबंधी उत्पादों में वृद्धि होगी कृषि संबंधी यदि कार्य हमारा देश आगे उसमें बढ़ सकता है तो उसमें भी वो तरक्की और उन्नति करता नजर आएगा. लोहे से संबंधित व्यापार बहुत ज्यादा हमारे देश में बढ़ेंगे. रोजगार बहुत अधिक मिलेंगे. तेल के भावों में यानि पेटोल संबंधी जो उत्पादन है वह बढ़ेगा जिससे हमारे पेट्रोल के भाव में कमी आएगी जो कि बहुत लंबे टाइम से हम पेट्रोल के संबंधी भाव लगातार बढ़ रहे थे. पेट्रोल महंगा होता जा रहा था वो अब सस्ता हो जाएगा| उसी के साथ मशीनरी से संबंधित यानि हमारा देश और अधिक डिजिटल और हाईटेक होता हुआ दिखाई देगा| मशीनरी के क्षेत्र में भी हमारा देश उन्नति करता हुआ दिखाई देगा और जैसा कि हमारा अनुमान है कि आने वाले दो ढाई साल के अंदर हमारा देश विश्व की एक सशक्त मजबूत शक्ति के रूप में उभरेगा| आज हम लगातार उन्नति करें और इस उन्नति को और हम आगे ग्रहण करते हुए दिखाई दिए जाएंगे| तो टोटली शनि की इस राशि परिवर्तन का हमारे देश पर हमारी अर्थव्यवस्था पर हमारे देश के युवाओं पर हमारे देश के किसानों पर बहुत ही सकारात्मक प्रभाव पड़ने वाला है परंतु मिथुन राशि वालों के लिए यह टाइम पीरियड थोड़ा सा संभलकर चलने वाला रहेगा| 24 जनवरी 2020 शुक्रवार के दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में शनिदेव धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे और 1 जनवरी 2020 से 2 फरवरी 2020 तक वे अस्त रहेंगे. उसके बाद वे उदय हो जाएंगे परंतु 11 मई 2020 से 29 सितंबर 2020 तक शनि वक्री रहेंगे. उस समय थोड़ा सा संभल कर सभी राशि वालों को चलना पड़ेगा क्योंकि शनि का वक्री होना शुभ नहीं माना जाता है. दरिद्रता बढ़ाता है. कई तरह के कष्ट कई तरह के रोगों को भी बढ़ाता है और भी कई चीजे हम साथ में देखते है तो वो अलग अलग राशियों पर अलग अलग इफेक्ट डालेगा परंतु शनि का वक्री होना और धन सही नहीं है| शनि का मिथुन राशि वालों के शनि की ढैय्या का जो शुरू होना लगना आपके लिए एक ट्रेलर के रूप में रहेगा. शनि की साढ़े साती आपको वैसी ही गुजरेगी जैसी आपको सनी के ये ढाई साल शनि की ढैय्या आपको जो लग रही है| ये ढाई साल आपके जीवन में बहुत ही निर्णायक सिद्ध होंगे. आगे जब आपको शनि की साढ़ेसाती लगेगी तब आपके लिए ऐसे ही कुछ परिणाम शनिदेव लेकर आएंगे| इसलिए मेरी ये सलाह है कि मिथुन राशि वालों को सन्मार्ग पर चलना चाहिए थोडा सजग होकर अपने कर्म क्षेत्र में आगे बढें ताकि शनि की ढैय्या का दुष्प्रभाव आपको नहीं झेलना पड़े. वैसे आपकी पर्सनैलिटी पर शनि चार चांद लगाएंगे. वैसे राहू आपके लग्न में जो बैठे हैं उस वजह से भी कुछ दिक्कतों का. सामना करना पड़ेगा आपकी पर्सनैलिटी में कुछ भ्रम आप अपने अंदर पैदा कर लेंगे अपने आसपास की चीजों को लेकर भी आप कुछ भ्रमित रहेंगे. आपको ये लगेगा कि जो मैं कर रहा हूं और कॉन्फिडेंस जैसी स्थिति जो मैं कर रहा वो सही है बाकी सब गलत है| ऐसी परिस्थितियां कुछ उत्पन्न आपके जीवन में होने वाली हैं. शनि की तीसरी सातवीं और दसवीं दृष्टि आपके कर्म भाव पर आपके वाणी के स्थान पर यानी सकुन भाव पर और आपके पंचम भाव पर यानि विद्या और संतान के भाव पर पड़ रही है और शनि की दृष्टि यह अच्छी नहीं होती है| Mithun Rashi Shani

Image result for MITHUN SHANI PNG

आप इस उदाहरण से समझें कि जब शनि पैदा हुए थे तो उनके पिता सूर्य देव पर उनकी प्रथम दृष्टि पड़ी थी और जैसे ही उन्हें आँखे खोलकर अपने पिता को देखा. सूर्य देव को कुष्ट रोग हो गया. उनके सारथी थे अरुण. वे पंगु हो गए और उनके जो घोड़े थे वे सभी अंधे हो गए. तो आप सोचिए कि शनि की दृष्टि कितनी विनाशकारी होती है| यह शनि की दृष्टि यहां आपके वाणी के स्थान पर आपके पंचम भाव पर और आपके कर्म भाव पर पढिए इसीलिए इन तीन स्थानों पर आपको संभलकर चलना पड़ेगा| ये आपके लिए बहुत ही जरूरी है. शनि की सातवीं दृष्टि आपके द्वितीय भाव पर पड़ रही है जो कि अच्छी नहीं है| यदि आपके पैतृक संपत्ति संबंधी कोई विवाद है तो विवाद और अधिक गहरे होते हुए नजर आ रहे हैं और साथ ही आपको पैतृक संपत्ति. यदि आप कोई बहुत बड़ा बहुत लंबे टाइम से कोर्ट में मुकदमा लड़ रहे हैं तो उसमें भी हो सकता है आपको हार का सामना करना पड़े. वाणी से भी आप सभी को रुष्ट करते हुए नजर आएंगे आपके आसपास के लोगों पर उसका बहुत गहरा प्रभाव पड़ेगा. इसीलिए इस समय आपको थोड़ा सा सोच समझकर बोलना पड़ेगा. अपनी वाणी पर संयम रखना पड़ेगा अन्यथा आप अपने बहुत लंबे टाइम से और बहुत अच्छे रिश्तों को भी गंवा देंगे| अच्छे रिलेशन में जो आप बंधे हैं आपके कर्म क्षेत्र पर भी इसका बुरा असर पड़ सकता है परन्तु इस समय आपके पराक्रम में वृद्धि होगी| आपका पराक्रम बढ़ेगा. आपके भाई बहन आपको सपोर्ट करते रहेंगे. उनके सपोर्ट से आप जो भी कार्य करेंगे उसमें आपको अच्छी सफलता हासिल होगी. आपके सुख साधनों में वृद्धि होगी. वाहन भूमि के क्रय विक्रय वाहनों के क्रय विक्रय में यदि आप संलग्न हैं तो उसमें आपको अच्छे लाभ की प्राप्ति हो सकती है. यह समय आपके माता के साथ आपके संबंधों में मजबूती का है. आपकी माता के साथ आपके संबंध और अधिक प्रगाढ़ होंगे और उनसे आपकी ट्यूनिंग अच्छी होने से आप अपने रिश्तों में तालमेल बिठाने में सक्षम दिखाई देंगे. परंतु आपको जैसा कि हमने कहा आपको अपनी वाणी पर संयम जरूर रखना पड़ेगा वहीं संतान भाव की तरफ से आपको थोड़ा सा चिंतित होने का यह समय बन रहा है क्यूंकि आपके दूसरी दृष्टि आपके पंचम भाव पर यानी संतान भाव पर पड़ रही है| इससे आपकी संतान जो कि लक्ष्य से भटक जाएगी और या फिर पढ़ाई में उसका मन नहीं लगेगा आप या फिर वो आपकी संतान से संबंधित किसी भी तरह की चिंता आपके मन में हर समय रहने वाली है और यदि आप विद्यार्थी पर है तो विद्या में आपके अड़चनें जरूर आएंगी परंतु आप मेहनत के बजाय मेहनत के बल पर आप अपने रिजल्ट आपके फेवर में कर सकते हैं इसलिए मेहनत थोड़ी सी अधिक आपको इस समय करनी पड़ेगी. जो भी आपके डिस्टिंक्शन से उनको आप खत्म कीजिए. फालतू के गैजेट मत चलाइए. मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक आइटम से थोड़ा सा आपको दूर रहना चाहिए| इस समय थोड़ी अधिक मेहनत की आपको आवश्यकता रहेगी. आप जितनी मेहनत करेंगे उतना रिजल्ट आपको नहीं मिलेगा. परंतु आप थोड़ा और अधिक एफर्ट डालेंगे तो जरूर आपके लिए परिस्थितियां आपके फेवर में होती हुई नजर आएंगी. रोगों में आपके इस समय कमी देख रही है. रोगों में आपके कमी होगी. यदि आप बहुत लंबे टाइम से श्वास संबंधी समस्या से जूझ रहे थे तो वो समस्या आपकी अब खत्म होती हुई नजर आएगी. हड्डी संबंधी नर्व संबंधी फोड़े फुंसी द्वारा त्वचा संबंधी यदि आप कोई रोगों से ग्रसित थे तो उन रोगों में आपको राहत मिलेगी| आप अपने आपको स्वस्थ महसूस करेंगे स्वस्थ महसूस करेंगे और स्वस्थ अभियान से भी जुड़ सकते हैं और लोगों को भी आप स्वास्थ के प्रति अवेयर करते हुए दिखाई देंगे. वहीं जीवन साथी के साथ आपके संबंध बहुत अच्छे रहने वाले हैं. आपके साथ उनकी ट्यूनिंग बहुत अच्छी रहेगी. वो आपके हर समस्या में आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे आपके काम में भी आपकी हेल्प करेंगे और हर समस्या का समाधान करने में आपकी पूरी पूरी मदद करते हुए नजर आएंगे. प्रेम संबंधों में भी आपकी मजबूती आएगी. यदि आप अपने प्रेमी के साथ विवाह सूत्र में बंध जाते हैं तो परिवार की सहमति से आप उनके साथ विवाह सूत्र में बंध जाएंगे और यदि आप प्रेम संबंधों में किसी को प्रपोज करना चाहते हैं बहुत लंबे टाइम से आप सोचे किसी को प्रपोज करें तो ये टाइम उचित है आप उसको प्रपोज कर सकते हैं वो आपका प्रपोजल ले डूबेगा परंतु मिथुन राशि वालों को जैसा की हमने कहा आपको शनि की ढैय्या चल रही है| आप कोई भी निर्णय लें परंतु उसमें थोड़ा सा सोच समझकर यदि आगे बढ़ेंगे बैलंस मान खोकर यदि आप सोचेंगे तो आपके लिए परिस्थितियां सकारात्मक रहेगी अन्यथा जो आपके ग्रह और जो भाव साथ दे रहे हैं वो भी आपके विपरित जा सकते हैं| Mithun Rashi Shani

इसलिए सोच समझ कर धैर्यपूर्वक कोई भी डिसीजन लें अपने जिस्म को संभालें और अपने आपको आगे ले जाएं. अष्टम भाव में आपके शनि खुद विराजित हो रहे हैं जो कि अनायास चोट घटनाए. आधुनिक दिनचर्या में गुजरती है जो दुर्घटनाएं बार बार आपके साथ प्रयोग में कमी करेगा. रोगों में कमी करेगा. दुर्घटनाओं में कमी करेगा| अचानक लाभ की प्राप्ति आपको बढ़ाएगा| Mithun Rashi Shani

शनि जहां पर बैठते हैं उनको बढ़ाते तो शनिदेव के अष्टम भाव में बैठने पर आप अचानक लाभ की प्राप्ति होगी. इसलिए छोटी छोटी योजनाओं में आपको इन्वेस्ट करना चाहिए. यदि आप छोटे छोटे कामों में मदद करते हैं. लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट नहीं करें और छोटे छोटे इन्वेस्टमेंट करें. उसमें आपको अच्छे लाभ की स्थितियां पैदा होंगी. वहीं लॉटरी शेयर मार्केट और यदि आपने किसी को उधार दे रखा होगा तो वो स्वतः आपका उधार चुकता कर देगा उसमें भी आपको अच्छे लाभ की स्थितियां बनेगी| भाग्य स्थान के स्वामी भी शनि देवी हैं जोकि आपके भाग्य में वृद्धि करेंगे|

आपके आपका भाग्य आपका साथ देगा. जो भी कार्य करेंगे उसमें आपको सफलता हासिल होगी वो आपके लिए पॉजिटिव जाएगा. कोई भी काम आपके लिए नेगेटिव नहीं जाएगा परंतु सोच समझ कर अपने निर्णयों में आपको आगे बढ़ना पड़ेगा. अगर आपने नहीं गलत देंगे तो वो भाग्य भी आपका साथ नहीं दे पाएगा इसलिए जो भी काम करें बड़ा सोच समझकर फिर स्ट्रैटिजी के साथ प्लानिंग के साथ यदि आप आगे बढ़ेंगे तो निश्चित तौर पर भाग्य आपका साथ देगा और आपको सफलता प्राप्त होगी. वहीं कर्म स्थान में शनि की दृष्टि पड़ने पर आपके कर्म में थोड़ी सी कमी आएगी|

आप जो भी कार्य करेंगे उसमें आपको थोड़ा स्ट्रगल करना पड़ेगा जोर डालना पड़ेगा जैसा कि हमने बताया कि विद्यार्थी वर्ग को ज्यादा मेहनत की आवश्यकता उसी तरह से जो जॉब करें. जो नौकरी में हैं और जो व्यवसाय करें उन सभी को भी बहुत अधिक मेहनत करनी पड़ेगी. अपने कार्यक्षेत्र में थोड़ा ज्यादा एफर्ट डालना पड़ेगा क्योंकि शनि की तीसरी दृष्टि पड़ने से वो आपके कर्म भाव को खराब कर रहे हैं. कर्म भाव के खराब होने की वजह से आप जितना काम करेंगे उतना रिजल्ट आपको नहीं मिलेगा. यदि आपको नए कार्य का निवेश करना चाहते हैं नए काम में निवेश करना चाहते हैं| Mithun Rashi Shani

नया कार्य को शुरू करना. नई योजना नए प्रॉजेक्ट पर यदि आप काम करना चाहते हैं. इस समय आपको थोड़ा टाइम आपको टालना चाहिए और अपने पुराने काम को यदि आप सिस्टमैटिक ढंग से कंप्लीट कर लेंगे तो आपके लिए बेहतर रहेगा वहीं पिता से भी आपके कुछ मतभेद इस समय हो सकते हैं. पिता से ट्यूनिंग गड़बड़ा सकती है और इस वजह से आपकी खींचतान की वजह से आप दोनों के बीच में दूरियां बढ़ेंगी. हो सकता है आपका और आपके पिता का जो सम्मिलित है उससे भी आपको दूर होना पड़े अलग से तय करना पड़े तो इस समय थोड़ा सा अपने पिता से ट्यूनिंग बनाकर चलें|

आपके पिता आपके लिए सही ही सोचेंगे. इस सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ें कि पिता पुत्र के रिलेशन में हम हमें ही झुकना पड़ेगा. आप चाहे आप सोचें कि आपके पिता बदलेंगे आपके लिए झुकेंगे तो वो पॉसिबल नहीं और वो आपके लिए कभी भी गलत नहीं सोचेंगे उनका मार्गदर्शन प्राप्त कर आप सही दिशा में बढ़ेंगे. इसलिए पिता से अपने मतभेदों को न बढ़ाएं और उनकी बातों को सुनने और समझने की कोशिश करें लाभ की स्थितियां सामान्य बनी रहेंगी. कर्म जितना आप करेंगे उतना आपको लाभ प्राप्त होगा. इसीलिए हमने आपको बताया कि आपका कर्म भाव परेशान है आपको कर्म अधिक करना पड़ेगा| Mithun Rashi Shani

यदि आप मेहनत करेंगे तो उसका यथेष्ट फल भी आपको प्राप्त होगा वहीं खर्चों में भी अनर्गल जो आपके खर्च होने थे जो व्यय हो रहा था उसमें कमी आएगी. आप जितनी जरूरत होगी उतना ही खर्च करेंगे जिससे आपके आर्थिक स्थिति भी थोड़ी सी सुदृढ़ होगी. विदेश यात्रा के योग आपके बन सकते हैं. थोड़ा जोर आपको डालना पड़ेगा तभी आप विदेश यात्रा कर पाएंगे| तो मिथुन राशि वालों के लिए जो पैतृक संपत्ति का भाव है. पंचम भाव और कर्म भाव में वो तीनों परेशान है क्युकी शनि के तीनों पर दृष्टि पड़ रही है| Mithun Rashi Shani

उपाय:

  1. यदि आप इस दृष्टि के नकारात्मक रिजल्ट से बचना चाहते हैं तो शनि किट को आपको अपने घर पर लाना पड़ेगा. आप हमसे शनि किट प्राप्त कर सकते हैं आपके नाम से उस शनि किट को अभिमंत्रित करके आप तक भेजा जाएगा क्योंकि शनि की ढैय्या आपको लग रही है तो जो ग्रह आपको पॉजिटिव रिजल्ट दे रहे थे वो भी हो सकता है आपको नेगेटिव रिजल्ट दे. इसलिए आपको शनि के उपाय करने बहुत जरूरी है. शनि के दान कीजिए काली वस्तुओं का दान कीजिए काले उड़द काले तिल सरसों का तेल तिल का तेल काली कम्बल जो भी काली चीजें हैं और आपका जितना पुरूषार्थ है उस हिसाब से आप दान अवश्य कीजिए| शनि किट को अपने घर में लाएं और उस किट को आप कैसे यूज करना है वो हम आपको प्राप्त होने के बाद में बतायेंगे कि आपको उसे किस  तरीके से प्रॉपर वे में यूटिलाइजेशन करना है उसकी किस तरह से पूजा करनी है. आराधना करनी है किस मंत्र का जाप करना|
  2. इसके साथ ही यदि आप शनि के नकारात्मक प्रभाव से बचना चाहते हैं तो हमारे द्वारा एक स्पेशल लॉकेट बनाया गया है जिसमें एक तरफ हनुमान यंत्र स्थापित है और दूसरी तरफ श्री यंत्र स्थापित है जो कि आपकी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करेगा. आपके जीवन में आ रही कठिनाइयों को दूर करेगा. कष्टों से मुक्ति दिलवाएगा शत्रुओं का नाश करेगा. कर्म भाव को पॉजिटिव वे में आगे ले जाएगा. आपके कर्म भाव में वृद्धि करेगा और आपको पॉजिटिव रिजल्ट मिले इसके लिए ये विशेष रूप से तैयार किया| Mithun Rashi Shani

RELATED PRODUCT

https://www.youtube.com/watch?v=47Zk3U7VDWQ&t=3s

Note: Daily, Weekly, Monthly and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on  (Kundli Vishleshan) or contact Pandit NM Shrimali  Whatsapp No. 9929391753,E-Mail- info@panditnmshrimali.com

Nidhi Shrimali

About Nidhi Shrimali

Astrologer Nidhi Shrimali is most prominent & renowned astrologer in India, and can take care of any issue of her customer and has been constantly effective.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *