Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured

Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh | 4th October 2020 – मंगल का राशि परिवर्तन

Mangal thumbh | Panditnmshrimali

Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh


Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh – मंगल ग्रह पश्चिम गामी होकर मेष राशि से मीन राशि में प्रवेश करेंगे। मीन राशि में वह वक्री होकर विराजमान होंगे परंतु मीन राशि मंगल की मित्र राशि मानी गई है इसीलिए मीन राशि में सभी राशियों के साथ कैसे रिजल्ट देंगे उसकी जानकारी मैं आपको इस ब्लॉग के माध्यम से इस बार देने वाली हूं। ये ट्रांजेक्शन 4 अक्टूबर को ही होने वाला है। 4 अक्टूबर को मंगल मेष से जो कि अभी वर्तमान में स्वग्रही हो रखे और में से मीन में प्रवेश करेंगे और 4 अक्टूबर से 24 दिसंबर यानि लगभग दो माह और 20 दिन ये जो अवधि है उसमें वे पश्चिगामी होकर मीन में ही जाकर विराजमान रहने वाले हैं। मंगल सेनापति ग्रह और भूमि के पुत्र के रूप में इनको जाना जाता है। ग्रहों के सेनापति हैं और ये युद्ध के देवता भी माने गए हैं। ऊर्जा का प्रवाह मंगल ग्रह की वजह से ही होता है यानी ऊर्जावान ग्रह इनको हम कह सकते हैं।जिसके कुंडली के अंदर मंगल ग्रह बलवान होते है वो व्यक्ति बहुत डेयरिंग होता है और वो व्यक्ति अपने जीवन के अंदर कोई भी रिस्की काम कोई भी डेयरिंग। इस काम जो कि प्रत्येक व्यक्ति नहीं कर सकता वो कर सकता है थोड़ा सा गुस्सा मंगल अधिक दिलवाता है उस व्यक्ति में अधिक होती है पर यदि मंगल नीच का हो तो परिणाम बिल्कुल विपरीत हो जाते हैं वो व्यक्ति डाकू लुटेरा चोर बदमाश इस प्रवृति का होगा और मंगल सारे बुरे काम उससे करवाएगा। किसी भी बुरे काम को करने से नहीं डरेगा। परन्तु कुंडली में यदि मंगल उच्च के हों तो वही विपरीत परिणाम देते और मंगल पुलिस सेना नेवी या फिर कोई भीdairing जॉब करवाता है। जो भी खनिज विभाग से जुड़े हुए व्यक्ति हैं जो कंस्ट्रक्शन लाइन से जुड़े हुए व्यक्ति हैं या फिर कोई भी डेटिंग रिस्की काम कर रहे सिक्योरिटी एडवाइजर हैं उन सभी की कुंडली के अंदर मंगल कहीं न कहीं जाकर बहुत ही पावरफुल रिजल्ट दे रहा है इसीलिए वह व्यक्ति इन पदों पर आसीन है।

मंगल ग्रह कुंडली के अंदर यदि मांगलिक हो जाता है यानी मंगल यदि 1 4 7 8 या फिर 12वें भाव के अंदर आपकी कुंडली में जाकर विराजमान हो रहे है तो आप मांगलिक हैं और मांगलिक होना कोई दोष नहीं हैं।
मांगलिक योग एक ऐसा योग है जिसे हम दोष नहीं कह सकते। यदि आप मांगलिक है और आपकी मांगलिक लड़के से या लड़की से ही विवाह होता है। यदि वर या वधू आपको वापस मांगलिक मिलता है अपना जीवनसाथी तो आपका दाम्पत्य जीवन वैवाहिक जीवन बहुत ही सुखमय होता है। इसके विपरीत यदि आप मांगलिक हैं और आपके सामने वाला यानि आपका जीवनसाथी मांगलिक नहीं है चाहे वो घर हो चाहे वधू हो। यदि वो मांगलिक नहीं है तो उस व्यक्ति का दाम्पत्य जीवन दुखों से भरा होता है चैलेंजिंग है और कई बार उसको दूसरा विवाह करना पड़ता है तलाक की नौबत भी आती है इगो क्लैश होता है तो ये स्थिति मंगल ग्रह की वजह से ही होती है। मंगल ग्रह कर्क राशि के अंदर नीच के और मकर राशि में उच्च के मध्य और उच्च के माने गए हैं। उच्च के परिणाम देते हैं। मेष वृश्चिक और वृश्चिक राशि के स्वामी हैं और सूर्य चंद्र और गुरु इनके मित्र ग्रह माने गए हैं। बुध और केतू से इनकी शत्रुता रहती है और शनि और शुक्र से ये समभाव प्रदान करते हैं तो ये कुछ मंगल की बेसिक नेचर है जिसके बारे में मैंने आपको बताया अब सीधा आगे बढ़ जाते हैं और जान लेते हैं कि मंगल का ये जो ट्रांजिक्शन हो रहा ये सभी राशियों पर क्या इफेक्ट डालेगा। मंगल का ये जो ट्रांजिक्शन और मंगल पश्चिम में होकर अपनी मित्र राशि में जाकर वक्री होकर विराजमान है। मां पर शनि की तीसरी दृष्टि मंगल पर रहेगी तो क्या परिणाम मंगल के रहने वाले उसके बारे में जानने। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

मेष राशि के बारे में जानते हैं कि मेष राशि में मंगल क्या परिणाम लेकर आये हैं तो आपकी राशि में मंगल आपके आपके लग्नेश और अष्टम भाव के स्वामी हैं। मंगल लग्नेश और अष्टम भाव के स्वामी हैं और ट्रायल हाउस में जाकर विराजमान हो रहे आपके 12वें भाव में जाकर बैठ बैठा हैं तो मंगल के ये आपकी पर्सनैलिटी को थोड़ा सा डिस्टर्ब करेंगे। इस समय आपको गुस्सा दिखाएगा मैथ्स आपके अधिक रहेगी परंतु मंगल इस समय आपको घुमाएंगे भी ज्यादा यदि आपके। इससे रिलेटेड कोई काम है तो वो काम मंगल आपके ठीक करवाएंगे।

इस समय आपकी लैब के अंदर जो काम रुक रुक कर हो रहे हैं वो काम गति पकड़ेंगे परन्तु इस समय आपको बिल्कुल भी गलत तरीके से धन कमाने की चेष्टा नहीं करनी चाहिए क्यूंकि यदि आपने रिश्वत लेने की कोशिश की या फिर किसी तरीके से गलत में आपके घर गए अपना जीविकोपार्जन करने या फिर धन कमाने के लालच में आपने कुछ गलत कार्य किया तो आपको बहुत गलत परिणाम इस समय देखने को मिलेंगे।

मंगल पर्सनैलिटी में बैठकर थोड़ा सा पर्सनैलिटी में थोड़ा बदलाव लाएंगे। समय आपके एग्रेसिव होने से अधिक दिखेगी। गुस्से में आपके वृद्धि होगी परंतु इस समय आपके प्रोपर्टी से रिलेटेड कोई भी मामले अटके हैं तो वो मामले आपके सुलझ जाएंगे। आप इस समय प्रॉपर्टी के लेन देन में भी सफलता हासिल कर सकते हैं। चलिए आगे बढते और जान लेते हैं कि भ्रष्ट चपरासी में मंगल क्या परिणाम ले कराएं। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

वृषभ राशि में मंगल ट्रायल था उसके और आपके सप्तम भाव के स्वामी हैं और लाभ भाव में जाकर विराजमान हो रहे हैं। लाभ भाव में मंगल का जाकर बैठना बहुत अच्छे परिणाम लिए कराता है। आपकी स्थितियों को दुगना करता है। अचानक से आपने किसी को उधार दिया वह बहुत लंबे टाइम से आपसे अपना पैसा निकलवाना चाहता है और आपका पैसा अटका हुआ है। वो आपका पैसा वापस नहीं लौटा रहा तो अब आपका पैसा वो स्वतः ही लौटाकर जाएगा। इस समय आपके लाभ की स्थितियों में बढ़ोतरी होगी जो काम आपके अटक गए थे वो द्रुत गति से पूर्ण होंगे परन्तु इस समय थोड़ा सा आपको खर्चों से भी बचना पड़ेगा क्योंकि यदि आपने अनर्गल खर्च किया तो आपके खर्च अधिक हो जाएंगे और जो लाभ की स्थिति है वो जैसी की तैसी रह जाएगी। इससे इस बात का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा अब आगे हैं और जान लेते हैं।

मिथुन राशि में मंगल क्या परिणाम लेकर आएं। आपकी राशि में मंगल कर्म भाव में जाकर विराजमान हो रहे हैं और अब वो आपके लाभ भाव के और सिख तथा उसके यानी छठे स्थान के और लाभ भाव के स्वामी हैं। इस समय आपके काम में वो तेजी लाएंगे यदि आपका कंस्ट्रक्शन का काम है तो आपके काम को दुगनी तिगुनी वृद्धि करते हुए दिखाई देंगे। इस समय आपके मनचाही ट्रांसफर के भी योग बन रहे हैं। यदि आप गौर जॉब में तो अधिकारी वर्ग आपसे प्रसन्न रहेंगे आपके कार्यों की प्रशंसा हर जगह होती हुई दिखाई देगी। जो काम आपके अब तक अटक रहते जो काम आपके करने में आपको असुविधा हो कहीं न कहीं जाकर आपके वो कामों में भटकाव किसी न किसी वजह से हो रहा था तो अभी अधिकारियों की सहमति से आप उन कार्यों को निर्विघ्न पूरा कर पाएंगे। इस समय आप अगर इंजीनियरिंग के करीब है या इंजीनियरिंग के छात्र हैं तो उसमें भी आपको बहुत बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे। आपके बॉस से आपको अपने शिष्य में प्रमोशन के भी चांसेस इस समय बन रहे ये टाइम आपके लिए बहुत अच्छा है पर इस समय आप रोग भाव के भी स्वामी मंगल है इसलिए आपको थोड़ा सा रोगों में विशेष रूप से ध्यान रखना पड़ेगा अन्यथा श्वास संबंधी समस्या के चलते आपको कुछ तकलीफें हो सकती है। इस समय आपके सर्जरी होने के चांसेस ज्यादा है इसलिए थोड़ा सा स्वास्थ का आप विशेष ध्यान इस समय रखिएगा। अब आगे बढ़ने और जान लेते हैं। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

कर्क राशि का कर्क राशि में मंगल आपके भाग्य स्थान में जाकर बैठा है और वह आपके कर्म भाव के और आपके पंचम भाव के स्वामी यानि मंगल आपकी कुण्डली के अंदर योग कारक ग्रह हो गए और रोग कारक ग्रह का भाग्य स्थान में जाकर बैठना। आपके कामों को बढ़ाएगा। भाग्य में वृद्धि करेगा। अब तक जो आपकी डील्स अधूरी रह गई थी आप चाहते हैं कि वो डील आपको मिल जाए आपकी बहुत तीव्र इच्छा थी। क्या आप अपने कार्यक्षेत्र में कुछ पीसेस डील्स करें या फिर बिजनेस कंपनियों के साथ आपका हो तो इस समय आपकी वो इच्छा भी पूर्ण हो जाएगी। मंगल की वजह से आपके जो काम अधूरे रह गए थे वो द्रुत गति से पूर्ण होते हुए दिखाई देंगे। विद्यार्थी वर्ग जो कि स्टूडेंट यदि साइंस के स्टूडेंट है या फिर कोई इंजीनियरिंग की तैयारी कर रहे हैं तो उनके लिए भी मंगल के परिणाम बहुत बेहतर आने वाले हैं। आपको बहुत पॉजिटिव रिजल्ट मिलेगा और यदि आप इस समय। कोई एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो आपका सलेक्शन निश्चित तौर पर होेगा बशर्ते मेहनत में मेहनत करना आपके लिए बेहद ही आवश्यक है। मेहनत नहीं करेंगे तो जो परिणाम आपको मिलना चाहिए वो बिल्कुल भी नहीं मिलेगा। आगे बढते और जान लेते हैं।

 

सिंह राशि का हाल किसी राशि में मंगल का परिणाम देने वाले हैं। आपकी राशि में भी मंगल योग कारक ग्रह भाग्य स्थान के स्वामी हैं और आपकी राशि में वो अष्टम भाव में जाकर विराजमान है। थोड़ा सा भाग्य के जो रिजल्ट आपको मिलने चाहिए लक आपका इतना साथ अभी नहीं देगा थोड़ी थोड़ी कम कहीं जाकर आपको भटकाव की स्थितियां देखने को मिलेंगी परंतु इस समय प्रॉपर्टी के जो भी लेन देन के मामले हैं उसमें आपको बहुत अच्छी सफलता हासिल होगी। आप महीने प्रॉपर्टी बनेंगे यदि आपकी कोई प्रॉपर्टी बिक नहीं रही है तो वो इस समय बिकने के चांसेज बने है और यदि आप कोई प्रॉपर्टी लेना चाहते हैं तो आपको एक अच्छी जगह मनचाही प्रॉपर्टी मिलने के भी बहुत अच्छे चांसेस इस समय बने हुए परंतु थोड़ा सा संभल कर किसी भी तरीके से कोई भी भ्रम की स्थिति बिल्कुल भी न पालें। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

कोई भी पेपर यदि आप सिग्नेचर कर रहे प्रॉपर्टी की डील कर रहे तो पहले उस व्यक्ति के बैकग्राउंड के बारे में जानें और उसके बाद में उन पेपर्स को ढंग से पढ़ लें और उसके बाद सिग्नेचर करें अन्यथा आपको समस्या आ सकती है।

इस समय आपके माता के स्वास्थ्य को लेकर भी आपके मन में चिंता के भाव रहेंगे और उनके सर्जरी होने के कुछ चांसेस बने हैं तो इस मामले में भी थोड़ा सा सावधान आप रहिएगा। अब आगे बढ़ते हैं और जान लेते हैं।

कन्या राशि का हाल आपकी राशि में मंगल एक तो आपके सिस्टम भाव के स्वामी और पराक्रम भाव के स्वामी है और मंगल सप्तम भाव में जाकर विराजमान हो रहे हैं। यदि आप आप मांगलिक हैं और आपके लाइफ पार्टनर मांगलिक नहीं है या फिर वो मांगलिक है और आप मांगलिक नहीं है। यदि ऐसी स्थिति आपकी लाइफ में है और आपकी शादी हो चुकी है। इस समय आपको विशेष ध्यान रखना पड़ेगा क्योंकि मंगल सप्तम भाव में जाकर घोर मांगलिक आदमखोर है और इस समय आपके वैचारिक मतभेद उभरेंगे। ईगो फ्लैट्स होंगे झगड़े बढ़ेंगे एक मनमुटाव में मैं ज्यादा सही आपके लाइफ पार्टनर को लगेगा मैं बिल्कुल सही तो ऐसी स्थितियां आपके उत्पन्न हो सकती हैं। बहुत शांत रहिए बहुत समझदारी से। इस समय आपको अपने रिश्ते को हैंडल करना पड़ेगा। इस समय मंगल आपको थोड़ा सा घूमेगा थोड़ा भ्रमित भी करेगा एक अस्थिरता ब्लैकमेल कराएगा। पर इस समय आपके पराक्रम में भी वृद्धि कराएगा। आपको और अधिक डेयरिंग बनाएगा परंतु सप्तम भाव में बैठकर ये जुड़े रहने से वो आपके नेगेटिविटी में बदल जाएगी। ये आपको सकारात्मक नहीं नकारात्मक रिजल्ट दे सकती है इसलिए शांति से मेच्योरिटी के साथ में अपने रिश्ते को हैंडल कीजिएगा आगे बढ़ते हैं और जान लेते हैं।

तुला राशि कहा कि तुला राशि में मंगल क्या परिणाम लेकर आए हैं। आपकी राशि में मंगल सप्तम भाव के और आपके स्किन हाउस के लोड है यानि सप्तमेश और द्वितीयेश और जाकर बैठा है सिद्धांत हाउसमेट्स यानी आपकी राशि के अंदर मंगल मारकेश है। सनी की तीसरी दृष्टि भी मंगल पर पटरी और सिख स्थान उसमें रोग भाव और रोग भाव में मंगल का जाकर बैठना अच्छा नहीं है। इस समय आपको अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। अब आपको कोई बहुत बड़ी समस्या है तो आपको मंगल को शांत करने के लिए लाल वस्तुओं का दान करना चाहिए और हनुमान जी की पूजा आराधना जरूर करें अन्यथा समस्याएं बढ़ सकती है। रोगों को काटने वाले रुद्र के अवतार हनुमानजी है इसीलिए हनुमानजी की पूजा आराधना करें अगर हो सके तो पंचमुखी बालाजी की पूजा आराधना अवश्य करें और साथ ही लाल वस्तुओं का दान करना न भूलें अन्यथा समस्या और अधिक गंभीर हो सकती हैं और यदि आप स्वस्थ हैं परंतु अगर आपने स्वास्थ्य के प्रति कोई भी लापरवाही की तो आपको बहुत बड़ी समस्या हो सकती है। स्वास्थ संबंधी और उस वजह से आपको हॉस्पिटलों के भी चक्कर लगाने पड़ सकते हैं तो ये थोड़ा सा।
तुला राशि वालों के लिए मंगल अच्छे रिजल्ट नहीं लेकर आए। आपको थोड़ा सा अपने स्वास्थ के लिए वाहन चलाते समय ध्यान रखें। लाल चीजों का दान अवश्य करें। आगे बढ़ते और जलते हैं। ८.वृश्चिक राशि का वृश्चिक राशि में आपका मंगल क्या परिणाम लेकर आए। वृश्चिक राशि में मंगल आपके सिक्स्थ हाउस के और आपके स्वभाव के भी लग्नेश है मतलब आपके एक लग्न के स्वामी हैं। अब इनके सिक्स्थ हाउस और लग्न के स्वामी और पंचम भाव में जाकर रिजल्ट अच्छे दे रहे हैं। इस समय आपके पर्सनैलिटी में एकदम से सुधार आएगा। एक पर्सनैलिटी डेयरिंग होगी जो अभी तक आप दबे हुए थे। अपनी बात को सही तरीके से प्रजेंट नहीं कर पाते थे तो अब आप अपनी बात को बेबाकी से कहेंगे और आपकी स्ट्रेट पार्टनर्स आपको पॉजिटिविटी की तरफ ले जाएगी। बॉस के चहेते रहेंगे जो। गए थे वो काम आपके बॉस की मदद से इस समय होते हुए दिखाई देंगे प्रॉपर्टी के काम की स्थितियां अब आपकी खत्म हो जाएगी यानी प्रॉपर्टी के लेनदेन के मामलों में यदि आपको कोई प्रॉब्लम हो रही थी कोई अटका वार्ता और पारिवारिक प्रॉपर्टी के मामले में विशेष कर यदि कोई तकलीफ आपको देखने को मिल रही थी या पैतृक संपत्ति लेने में। आपको कुछ समस्या आ रही थी तो वो समस्या अब खत्म हो जाएगी आपको बहुत बेहतर परिणाम देखने को मिलेंगे। यदि आप श्वास संबंधी समस्या से जूझ रहे ब्लड से रिलेटेड कोई प्रॉब्लम यानि बीपी शुगर थायरॉइड से रिलेटेड यदि आपको कोई प्रॉब्लम है तो उसमें भी अब आपको स्वास्थ लाभ देखने को मिलेगा। आगे बढ़ने|

धनु राशि में मंगल के ट्राइंजेक्शन का क्या प्रभाव पड़ रहा है। धनु राशि में मंगल। पंचम भाव के स्वामी हैं और ट्वेल्थ या उसके यानि द्वादश भाव के स्वामी हैं। और मंगल सुख स्थान में जाकर विराजमान हो है। यानी आप इस समय। आपके विदेशी कंपनियों के साथ में बहुत अच्छे टायकून आए। इस समय आपको विदेशों से बहुत अच्छा लाभ प्राप्त होगा और विदेशी कंपनियों के साथ आप अपने काम को एक्सेप्ट करते हुए कोई कॉम्बिनेशन उनके साथ करते हुए दिखाई देंगे। परंतु इस समय रिश्वत लेना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। आपके खिलाफ कोई कार्रवाई हो सकती है। इस समय अनर्गल झगड़ों में भी आपको नहीं फंसना चाहिए वरना दोनों के झगड़ों में आप बीच में फंसेंगे उन दोनों का झगड़ा सुलझ जाएगा और आप बीच में अटक जाएंगे आपको बड़े नुकसान की स्थितियां झेलनी पड़ सकती है इसलिए इन बातों का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। विद्यार्थी वर्ग के लिए यह टाइम बेहतर है। पढ़ाई में आप बहुत अच्छा प्रदर्शन करेंगे। सुखों में वृद्धि होगी। नई नई प्रॉपर्टी आप इस समय खरीद पाएंगे यानी आपकी प्रॉपर्टी आपकी स्थाई संपत्ति में आप इस समय वृद्धि करते हुए दिखाई देंगे। अब आगे बढ़ने और जान लेते हैं।

मकर राशि का हाल देखिए आपकी राशि में मकर राशि में मंगल क्या परिणाम लेकर आएं। आपकी राशि में मंगल तृतीय भाव में जाकर विराजमान हो रहे है और वो सुख स्थान और लाभ स्थान के स्वामी के साथ लाभेश का पराक्रम भाव में जाकर बैठना आपके लाभ की स्थिति को बहुत बेहतर करेगा। इस समय आपको भूमि भवन वाहन जो लग्जरी आपको अपनी ये वो सारी लग्जरी। आप जो भी चाहेंगे वह आपको मिल जाएगी। इस समय नेने आपको चीजें खरीदेंगे नए नए गैजेट खरीदेंगे आपके लाभ में दुगनी चौगुनी वृद्धि होगी। कार्यक्षेत्र में आप बहुत अच्छी उन्नति करेंगे यदि आपका काम कंस्ट्रक्शन लाइन से जुड़ा हुआ है। यदि आप कोई भी किसी भी प्रकार के इंजीनियरिंग किए हुए और इंजीनियरिंग क्षेत्र से जुड़े हुए हैं तो उसमें भी आपको बहुत अच्छा लाभ देखने को मिलेगा आपके लाभ की स्थितियां दुगनी तिगुनी होती हुई दिखाई देंगी यानि ये टाइम और कुल मिलाकर मकर राशि वालों के लिए बहुत ही बेहतर रहने वाला है।

 

कुम्भ राशि के बारे में जान लेते हैं तो आपकी राशि के अंदर मंगल। तृतीय स्थान के स्वामी हैं और कर्म स्थान के स्वामी हैं और वो द्वितीय स्थान में जाकर विराजमान हैं लेकिन भाव से संपत्ति का भाव इस समय आपके भाई बहनों के साथ जुड़ी डिस्प्यूट चल रहे थे जो भी मनमुटाव चल रहे संपत्ति को लेकर खत्म हो जाएंगे आप के बीच में सुलह हो जाएगी और एक अच्छा सा एग्रीमेंट होगा आप सभी को बराबर बराबर पैतृक संपत्ति मिलने के चांसेस प्रबल बने वैज्ञानिक इस समय अगर आप प्रयास करेंगे तो निश्चित तौर पर आप अपना हक प्राप्त करने में सफल होंगे। कार्यक्षेत्र में बहुत अच्छी उन्नति कर सकते हैं इस समय आपका काम क्रोध करेगा परंतु इस समय आपको अपने पिता के स्वास्थ को लेकर थोड़ी समस्या हो सकती है। उनकी सर्जरी उनका कोई ऑपरेशन होना। उनके लिए उनके स्वास्थ संबंधी कोई समस्या अचानक से उभर आना ये कुछ समस्याएँ आपको फेस करनी पड़ सकती है। पिता के स्वास्थ का इस समय आपको विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। अब आगे बढ़ते और जान लेते हैं। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

 

मीन राशि का हाल देखिए आपकी राशि में मंगल आकर विराजमान हो। मित्र राशि है और ये इस समय मंगल का वक्री होकर आपकी राशि में आकर बैठना आपकी पर्सनैलिटी को बहुत अच्छा करेगा। मंगल वैसे भी आपके स्किन और उसके लौंडे और भाग्य स्थान के स्वामी और पर्सनैलिटी में आकर पर्सनैलिटी को डेरी बनाएंगे। अब तक आपके जो जीवन के अंदर एक महत्वाकांक्षा थी कि मैं सब पर राज करूं या मैं लीडरशिप करूं तो वो लीडरशिप का गुण आपमें आ जाएगा। आपके जो नीचे वाले कुलीग से वो आपकी बातों को मानेंगे एवं बॉस भी आपसे सलाह लेकर काम करेंगे आपका प्रभाव क्षेत्र इस समय बढ़ने वाला है। पैतृक संपत्ति संबंधी विवाद सॉल्व हो जाएगा। कुटुम्ब में अपनी एक अलग पहचान बनाएंगे सामाजिक मान सम्मान में। प्रतियोगी और इस समय आप मानवता के कार्य कार्यों में परोपकार के कार्यों में भी संलग्न रहेंगे जो युवा वर्ग अब पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए अब कोई अच्छे कॉलेज की तलाश कर रहे हैं जो इंजीनियरिंग के छात्र है जो साइंस के स्टूडेंट हैं उनको विशेष लाभ की स्थितियां देखने को मिलेगी। आपकी मनोकामना पूर्ण होगी आपको मनचाहा कॉलेज प्राप्त होगा और वहीं बेरोजगार और कॉमन जॉब की तैयारी करें। निश्चित तौर पर आपकी गवर्मेंट जॉब लगने के चांस भी बन रहे हैं। मीन राशि वालों के लिए लिए टाइम बहुत ही बेहतर रहने वाला है। तो ये था मंगल का ट्रांजिक्शन जो कि 4 अक्टूबर से 24 दिसंबर तक रहेगा। मंगल मेष राशि से मीन राशि के अंदर वक्री होकर विराजमान हो रहे हैं। चलिए तो ये तो हुए मंगल के एकसाथ 12 राशियों का हाल। Mangal ka Mesh Rashi me Pravesh

उपाय :- जिनकी जिनकी कुण्डली में विशेषकर तुला राशि के लिए मंगल मार्केट्स की स्थिति लेकर आएं या किसी की भी कुंडली के अंतर्गत मंगल नेगेटिव इफेक्ट दे रहा या फिर जिसकी कुण्डली में सकारात्मक परिणाम दे रहे हैं तो उनको अगर अपने परिणामों को और बेहतर करना है तो उसके लिए बहुत अच्छे रिजल्ट मंगल दे सकता है इसके लिए एक तो आपको इस समय मंगल को प्रबल करने के लिए मूंगा रत्न गर्भ धारण करते मूंगा हनुमान की पूजा अर्चना करते हैं। आप अपने पूजा कक्ष में मूंगा हनुमान को स्थापित कीजिए और उनके ऊपर आप सिंदूर चढ़ाये ये आपके लिए बहुत बढ़िया रिजल्ट लेकर आएगा। अगर आपको जो सिंदूर केसर सिंदूर अगर उससे आत्मा हनुमानजी पर अभिषेक करे या फिर उनके ऊपर वो चढ़ाए तो आपकी हर मनोकामना पूर्ण होगी ऋण से मुक्ति मिलेगी शत्रुओं का नाश होगा। और फाइनैंशली जो प्रॉब्लम आपकी लाइफ में आई वो खत्म हो जाएगी। दूसरा रोग भाव के साथ रोग भाव में अगर आपके प्रॉब्लम अगर आ रही है मंगल की वजह से मंगल ग्रह की वजह से आपके रोग में वृद्धि हो रही है या आपके किसी परिवार के व्यक्ति के स्वास्थ में कुछ गड़बड़ी हो रही है तो इस समय आपको लाल चीजो का दान करना चाहिए। लाल वस्त्र हो गए कुछ भी लाल चीज मसूर की दाल हो गई। लाल वस्तुओं का आप जितना उनके हाथ से दान करवाएं या फिर आपकी कुंडली में गड़बड़ है तो आप दान करें तो आपके रोगों में कमी आएगी। आपको मंगल ग्रह ठंडी दृष्टी देंगे और आपको सही रिजल्ट देना शुरू कर देंगे। तीसरा उपाय सबसे अच्छा उपाय मैं आपको बता रहा हूं कि अगर आप अपने जीवन में बहुत अच्छा आगे बढ़ना चाहते हैं तरक्की करना चाहते हैं तो आपको मंगल यंत्र पेंडेंट के अंदर मूंगा रत्न जरूर धारण करना चाहिए ये आपके सौभाग्य में वृद्धि करेगा। आपको हर क्षेत्र में सफलता प्रदान करवाएगा तो ये बहुत अच्छे उपाय हैं जो कि सभी व्यक्तियों को सभी राशिवालों को करने चाहिए। वैसे भी मंगल ग्रह के अधिपति देवता हनुमानजी है तो हनुमानजी की पूजा अर्चना जरूर करें। इस समय हनुमान चालीसा का पाठ करना भी आपके लिए बहुत ही लाभदायक रहेगा जय श्री राम|

 

Note: Daily, Weekly, Monthly and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) or contact Pandit NM Shrimali  Whatsapp No. 9929391753,E-Mail- [email protected]

Connect with us at Social Network:-

social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com

Back to list

Leave a Reply

Your email address will not be published.