Guru Shani Yog Nivaran Pooja

Guru Shani Yog Nivaran Pooja


Applicants of planets 

According to astrology according to the knowledge of Astrology, the creation of Saturn and Guru is a supplement because both the planets are going to be very impressive. According to Vedic astrology, Saturn changes its zodiac sign in about two and a half years and the intervals of thirteen months, and thus it takes several years to meet them in an amount.

Guru Saturn Yoga:

In the eyes of astrology, the sum of Guru and Saturn is considered very important. The meeting of Guru and Saturn reflects the relationship. That is, both of these planets do not have any kind of hate from each other. That is, it does not harm each other in some way. Saturn honours Guru. Saturn is considered to be the god of deeds, then the master gives you the result of good deeds and decides the condition and direction of your career.

While the calculation of Jupiter / Guru is in an auspicious planet, Saturn is considered to be major in cruel planets. Both of them are favoured by justice and where Saturn provides cruel fruits while introducing Jupiter Dev generosity show the way to come on the right path.

1. Aries
Guru Saturn will organize a guru in the presence of the people of Aries. This feeling is the feeling of your karma. With the effect of this war, you will get very good results in your karma area. At the same time, some people will become the sum of their ancestors.
2. Taurus
In the innovation of the people of the Taurus zodiac, the effect of Guru Saturn will be seen, due to which these people will participate in the work of religious philanthropy. At the same time, their job will be widely changed.
3. Gemini
Saturn and Guru will be in the rectum from your zodiac sign. This time will give you a very good experience in the path of spirituality. At the same time, it is not more favourable for you. There may be a loss of money at this time.
4. Cancer
In the seventh sense of Cancer, you will get the best money benefit from the Guru Saturn. Your image will be strong. Your popularity will be increased and you will become a strong sum of promotion in the work area but you have to avoid the soul.
5. Leo
In the sixth house of the lion, you can disturb health problems with the effect of Jupiter and Saturn. You may have problems or urine related diseases in indigestion, acidity, gas, kidneys. At this time you should avoid filing a new lawsuit.
6. Virgo
In the fifth house of your zodiac, Guru Saturn will show its influence, which results in love relations. There will be a problem to understand each other, but if you love each other, then this time will strengthen your love life.
7. Libra
In your fourth house, Guru Saturn’s war can be turmoil in your family. At this time you can change your residence. Apart from this, a new machine can bring in its factory.
8. Scorpio
In your third house, you will have many trips with the influence of Guru Saturn and your conduct will also be religious. There will be excessive success and Kirti in society. Between the possibility of increasing earlier, you can lose this main chance due to your laziness.
9. Sagittarius
In the second house of Sagittarius, the Saturu will be successful, with whose influence will increase seriousness in your speech. People will be affected by your point and you will get a benefit. However, with the effect of this combination, some stress can be seen in your family and there may be a sharp tip of the property.
10. Capricorn
This creation of Saturn Guru will remain very important for the Capricorn because it is happening in your zodiac. With its effect, you can get excessive fame suddenly. You can be placed on a higher post by the people of society.
11. Aquarius
Guru Saturn will be successful in the twelfth hope, due to which a sudden increase in your expenses will be seen. Due to this combination, you will help others, but they can also affect your help of help, so be a little cautious.
12. Pisces
In the eleventh house of your zodiac, it will be seen to see a tremendous increase in your income. In this time, your relationship will be made with the dignitaries of society and you will get higher places in the society. You may also get a bigger post.

Do this puja from astrologer Nidhi ji Shrimali at a very nominal cost to Guru Shani nivaran Puja as soon as possible.

Do this worship from astrologer Nidhi ji Shrimali at a very nominal cost as soon as possible to do Guru Shani Nivaran Puja.

For the person who wants to get Guru Shani Yoga Nivaran Puja done, this worship will be done by the learned pundits of our institute through the complete rituals.
In the Guru Shani Yog Nivaran Puja, a yantra related to this is kept, which will be sent for you. By worshiping and seeing it daily under the guidance of Pandit ji, one should pray to remove this defect.
Astrologer Nidhi ji Shrimali ji explains and guides proper Guru Shani Yoga Nivaran Puja remedies. If you want to do Guru Shani Yog Nivaran Puja, then Astrologer Nidhi Ji Shrimali is the best choice in India.

For any assistance or confusion regarding Puja, contact us by clicking below. You can also WhatsApp us on this number. Our team is always there to assist you

 

 

गुरु शनि योग निवारण पूजा


ग्रहों के आवेदक

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि और गुरु की रचना एक पूरक है क्योंकि दोनों ग्रह बहुत प्रभावशाली होने वाले हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शनि अपनी राशि लगभग ढाई साल और तेरह महीने के अंतराल में बदलता है और इस तरह एक राशि में उनसे मिलने में कई साल लग जाते हैं।

गुरु शनि योग:

ज्योतिष की दृष्टि में गुरु और शनि का योग बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। गुरु और शनि का मिलन संबंध को दर्शाता है। यानी इन दोनों ग्रहों को आपस में किसी भी तरह की नफरत नहीं है। यानी यह एक दूसरे को किसी तरह से नुकसान नहीं पहुंचाता है। शनि गुरु का सम्मान करता है। शनि को कर्मों का देवता माना जाता है, तो गुरु आपको अच्छे कर्मों का फल देता है और आपके करियर की स्थिति और दिशा तय करता है।

बृहस्पति/गुरु की गणना जहां शुभ ग्रह में होती है वहीं शनि क्रूर ग्रहों में प्रमुख माना जाता है। ये दोनों न्याय के पक्षधर हैं और जहां शनि क्रूर फल प्रदान करता है वहीं बृहस्पति देव की उदारता सही रास्ते पर आने का रास्ता दिखाती है।

1. मेष
गुरु शनि मेष राशि के लोगों की उपस्थिति में गुरु का आयोजन करेंगे। यह भावना आपके कर्म की भावना है। इस युद्ध के प्रभाव से आपको अपने कर्म क्षेत्र में बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे। वहीं कुछ लोग अपने पूर्वजों के योग बनेंगे।
2. वृषभ
वृष राशि के जातकों के नवप्रवर्तन में गुरु शनि का प्रभाव देखने को मिलेगा, जिससे ये लोग धार्मिक परोपकार के कार्यों में भाग लेंगे। साथ ही उनकी नौकरी में व्यापक बदलाव होगा।
3. मिथुन
शनि और गुरु आपकी राशि से मलाशय में होंगे। अध्यात्म की राह में यह समय आपको बहुत अच्छा अनुभव देगा। वहीं, यह आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं है। इस समय धन की हानि हो सकती है।
4. कर्क
कर्क राशि की सप्तम भाव में गुरु शनि से आपको उत्तम धन लाभ प्राप्त होगा। आपकी छवि मजबूत होगी। आपकी लोकप्रियता में वृद्धि होगी और आप कार्यक्षेत्र में पदोन्नति के प्रबल योग बनेंगे लेकिन आपको आत्मा से बचना होगा।
5. सिंह
सिंह के छठे भाव में बृहस्पति और शनि के प्रभाव से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां आपको परेशान कर सकती हैं। आपको अपच, एसिडिटी, गैस, किडनी में परेशानी या पेशाब संबंधी रोग हो सकते हैं। इस समय आपको नया मुकदमा दायर करने से बचना चाहिए।
6. कन्या
आपकी राशि के पंचम भाव में गुरु शनि अपना प्रभाव दिखाएंगे, जिसका परिणाम प्रेम संबंधों में होगा। एक-दूसरे को समझने में दिक्कत होगी लेकिन अगर आप एक-दूसरे से प्यार करते हैं तो यह समय आपकी लव लाइफ को मजबूत करेगा।
7. तुला
आपके चतुर्थ भाव में गुरु शनि का युद्ध आपके परिवार में उथल-पुथल का कारण बन सकता है। इस समय आप अपना निवास स्थान बदल सकते हैं। इसके अलावा कोई नई मशीन इसकी फैक्ट्री में ला सकती है।
8. वृश्चिक
आपके तीसरे भाव में गुरु शनि के प्रभाव से आपकी कई यात्राएं होंगी और आपका आचरण भी धार्मिक होगा। समाज में अत्यधिक सफलता और कीर्ति मिलेगी। पहले बढ़ने की संभावना के बीच आप अपने आलस्य के कारण यह मुख्य मौका गंवा सकते हैं।
9. धनु
धनु राशि के दूसरे भाव में शनि सफल होंगे, जिनके प्रभाव से आपकी वाणी में गंभीरता बढ़ेगी। आपकी बात से लोग प्रभावित होंगे और आपको लाभ मिलेगा। हालांकि इस संयोग के प्रभाव से आपके परिवार में कुछ तनाव देखने को मिल सकता है और संपत्ति में तीखी नोकझोंक हो सकती है।
10. मकर
मकर राशि वालों के लिए शनि गुरु की यह रचना काफी महत्वपूर्ण रहेगी क्योंकि यह आपकी राशि में हो रहा है। इसके प्रभाव से आपको अचानक से अत्यधिक प्रसिद्धि मिल सकती है। समाज के लोगों द्वारा आपको उच्च पद पर रखा जा सकता है।
11. कुम्भ
गुरु शनि बारहवीं आशा में सफल होंगे, जिससे आपके ख़र्चों में अचानक वृद्धि देखने को मिलेगी। इस संयोग के कारण आप दूसरों की मदद करेंगे, लेकिन वे आपकी मदद को भी प्रभावित कर सकते हैं, इसलिए थोड़ा सतर्क रहें।
12. मीन
आपकी राशि के एकादश भाव में आपकी आय में जबरदस्त वृद्धि देखने को मिलेगी। इस समय आपके संबंध समाज के गणमान्य व्यक्तियों से बनेंगे और आपको समाज में उच्च स्थान प्राप्त होगा। आपको कोई बड़ा पद भी मिल सकता है।

इस पूजा को ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली से बहुत ही मामूली कीमत पर जल्द से जल्द गुरु शनि निवारण पूजा करें।

जो व्यक्ति गुरु शनि योग निवारण पूजा करवाना चाहते हैं उनके लिए हमारे संस्थान के विद्वान पंडितों द्वारा यह पूजा पुरे विधि विधान के द्वारा संपन्न की जाएगी |
गुरु शनि योग निवारण पूजा में इस से सम्बंधित यन्त्र रखा जाता हैं जो आपके लिए भिजवाया जाएगा | पंडित जी के मार्गदर्शन से प्रतिदिन इसकी पूजा और दर्शन करके इस दोष को दूर करने के लिए प्रार्थना करनी चाहिए |
ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली जी उचित गुरु शनि योग निवारण पूजा उपायों की व्याख्या और मार्गदर्शन करती हैं। यदि आप गुरु शनि योग निवारण पूजा करना चाहते हैं, तो ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली भारत में सबसे अच्छी पसंद हैं।

पूजा के संबंध में किसी भी सहायता या भ्रम के लिए, नीचे क्लिक करके हमसे संपर्क करें। आप हमें इस नंबर पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। हमारी टीम आपकी सहायता के लिए हमेशा मौजूद है

Hello, if you want to book this pooja by your name. Please contact us at +918955658362

Shopping cart
Call Us
9571122777
Shop
0 items Cart
My account