Guru Rahu Yog Nivaran Pooja | By Astrologer Nidhi Ji Shrimali |

निवारण पूजा 18 | Panditnmshrimali

Guru-Rahu Yog Nivaran Pooja


Guru Rahu Yog Nivaran Pooja  – This Puja will be done through our Vidhavan Pandits. This puja can be done online (video call) or offline (at your place).

To get rid of Guru Chandal Dosh, the person should get Shanti’s recitation of Guru and Rahu. Apart from this, one should serve the parents. Worshipping Lord Vishnu at home or in a temple reduces the negative effects of Guru Chandal Dosha. Wearing two Mukhi Rudraksha on Monday is also beneficial.

If Jupiter and Rahu are sitting together in the first house of the horoscope. So the character of the person starts getting suspicious. At the same time, the person is engaged in earning money illegally.

If Guru Chandal Yoga is formed in the second house of the horoscope, then the person becomes wealthy. But spends money on enjoyment and luxury. Apart from this, the person remains intoxicated due to weak Guru.

Due to the meeting of Guru and Rahu in the third house of the horoscope, a person becomes mighty and courageous. But becomes notorious for wrong actions. Also, the person tries to earn money by betting, gambling etc.

What measures to take

To get rid of Guru Chandal Dosha, the person should have Shanti recitation of Guru and Rahu. Apart from this, one should serve the parents. By worshipping Lord Vishnu at home or in a temple, the negative effect of Guru Chandal Dosh can be reduced. Wearing two Mukhi Rudraksha on Monday is also beneficial. Also, regular worship of Lord Ganesha gets rid of Guru Chandal Dosha. The Jupiter Mantra ‘Om Bram Brim Braun Saha Gurve Namah’ should be changed daily.

Do this puja from astrologer Nidhi ji Shrimali at a very nominal cost to Guru Rahu Yog Nivaran Pooja as soon as possible.

The person who is doing the puja, already the pandit takes Sankalp in his name and as we all know, every puja or auspicious work is always done by lord Ganesh puja. So Guru Rahu Yog Nivaran pooja also starts with the consecration of Lord Ganesh Puja, we need to please him first.

Abhishek will worship the 9 Navagrahas after the will of the pandit, and after that, he will appease the 12 deities (mothers), one of whom will be your Kuldevi.

After all, the main Havan of Puja begins, in which the pundits start chanting mantras for you, and you keep on saying swaha with our pandit ji. This havan includes a mantra related to worship, and they chant it with swaha.

After each puja, the customer will get a free yantra to keep at home for the puja.

Astrologer Nidhi ji Shrimali ji explains and guides the proper Guru Rahu Yog Nivaran remedies. If you want to do Guru Rahu yog nivaran pooja, then astrologer Nidhi ji Shrimali is the best choice in India.

For any assistance or confusion regarding Puja, contact us by clicking below. You can also WhatsApp us on this number. Our team is always there to assist you.

गुरु-राहु योग निवारण पूजा


गुरु राहु योग निवारण पूजा – यह पूजा हमारे विधान पंडितों के माध्यम से की जाएगी। यह पूजा ऑनलाइन (वीडियो कॉल) या ऑफलाइन (आपके स्थान पर) की जा सकती है।

यदि कुंडली के पहले भाव में बृहस्पति और राहु एक साथ बैठे हों। तो व्यक्ति के चरित्र पर शक होने लगता है। वहीं, व्यक्ति अवैध रूप से पैसा कमाने में लगा हुआ रहता है।

यदि कुंडली के दूसरे भाव में गुरु चांडाल योग बनता है तो व्यक्ति धनवान होता है। लेकिन आनंद और विलासिता पर पैसा खर्च करता है। इसके अलावा कमजोर गुरु के कारण जातक नशे में रहता है।

कुंडली के तीसरे भाव में गुरु और राहु की युति होने से व्यक्ति पराक्रमी और साहसी बनता है। लेकिन गलत कार्यों के लिए कुख्यात हो जाता है। साथ ही जातक सट्टा, जुआ आदि द्वारा धन कमाने का प्रयास करता है।

क्या उपाय करें

गुरु चांडाल दोष से छुटकारा पाने के लिए व्यक्ति को गुरु और राहु का शांति पाठ करना चाहिए। इसके अलावा माता-पिता की सेवा करनी चाहिए। घर या मंदिर में भगवान विष्णु की पूजा करने से गुरु चांडाल दोष के नकारात्मक प्रभाव को कम किया जा सकता है। दो मुखी रुद्राक्ष को सोमवार के दिन धारण करने से भी लाभ होता है। साथ ही, भगवान गणेश की नियमित पूजा से गुरु चांडाल दोष से छुटकारा मिलता है। गुरु मंत्र – ब्रं ब्रिं ब्रौं सहः गुरवे नमः’ का प्रतिदिन जाप करना चाहिए।

इस पूजा को ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली से बहुत ही मामूली कीमत पर गुरु राहु योग निवारण पूजा जल्द से जल्द करें।

जो व्यक्ति पूजा करवानां चाहते है पंडित जी पहले से ही उसके नाम पर संकल्प लेते है और जैसा कि हम सभी जानते हैं, भगवान गणेश की हर पूजा या शुभ कार्य हमेशा किया जाता है। तो गुरु राहु योग निवारण पूजा भी भगवान गणेश के अभिषेक के साथ शुरू होती है, हमें पहले उन्हें प्रसन्न करने की आवश्यकता है।

पंडित जी नवग्रहों की पूजा करेंगे और उसके बाद, वह 12 देवताओं (माताओं) को प्रसन्न करेंगे , जिनमें से एक आपकी कुलदेवी होगी।

पंडित जी के द्धारा गुरु राहु योग निवारण पूजा से सम्बंधित मंत्रो का जाप किया जाएगा | गुरु राहु योग निवारण पूजा 2 – 3 घंटे तक की जाएगी | यह पूजा 2 – 3 पंडितो द्धारा पूरे विधि विधान से सम्पन्न की जाएगी | पूजा के बाद हवन बाद, वह 12 देवताओं (माताओं) को प्रसन्न करेंगे , जिनमें से एक आपकी कुलदेवी होगी।

आखिर में पूजा का मुख्य हवन शुरू होता है, जिसमें पंडित जी आपके लिए मंत्रों का जाप करने लगते हैं और आपको साथ में हमारे पंडित जी द्धारा बताये गए मन्त्रों का जाप तथा नियमों का पालन करना चाहिए । पूजा सम्पन्न होने के पश्चात पंडित जी द्धारा आपको आशीर्वाद दिया जाता हैं |

इस हवन में पूजा से संबंधित जो यन्त्र रखा जाता हैं | वो यन्त्र आपको भिजवाया जाएगा | उस यन्त्र को आप अपने पूजा घर में स्थापित कर प्रतिदिन पंडित जी द्धारा बताए गए मंत्रो का जाप , दर्शन अवश्य करना चाहिए तथा इस दोष से मुक्ति के लिए आपको प्रार्थना करनी चाहिए |

ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली जी उचित गुरु राहु योग निवारण उपायों की व्याख्या और मार्गदर्शन करती हैं। यदि आप गुरु राहु योग निवारण पूजा करना चाहते हैं, तो ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली भारत में सबसे अच्छी पसंद हैं।

पूजा के संबंध में किसी भी सहायता या भ्रम के लिए, नीचे क्लिक करके हमसे संपर्क करें। आप हमें इस नंबर पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। हमारी टीम आपकी सहायता के लिए हमेशा मौजूद है।

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Shopping cart
Shop
0 items Cart
My account