निवारण पूजा 12 | Panditnmshrimali

Guru Dosh Nivaran Pooja


Guru Dosh Nivaran Puja – This Puja will be done through our Vidhavan Pandits. This puja can be done online (video call) or offline (at your place).

The meaning of Guru Dosha is that an individual Guru/Jupiter is weak. Despite its positive impacts and good nature, a weak Jupiter can cause Guru Dosha, which may lead to issues with respect to prosperity, knowledge, expenses, fight, selfishness, educational difficulties, and lack of peace in and around the individual. Guru Dosha is also likely malefic results for people if Guru is seated with Saturn, Rahu or Ketu in the natal chart. Guru Grah/Jupiter Malefic Effects is also associated with the thyroid gland, throat, neck, jaws, and mouth. Guru Dosha is likely to cause complications like cough, colds, hearing problems, ear infections, sore throat or laryngitis, and other throat infections.

Guru Mahadasha is the period in one’s life when Guru Grah is nearest to the Nakshatra in which an individual is born. The effect is distributed throughout a person life, and its quality and relative benevolence of each period are dependent on the condition and position of that planet in the natal chart.

Brihaspati is lord of three Nakshatra or lunar mansions: Punarvasu, Vishakha and Purva Bhadrapad(Jupiter Malefic Effects/गुरु ग्रह दोष). Brihaspati is associated with: his colour is yellow, metal is gold and gemstone is yellow topaz and yellow sapphire. The season associated with him is winter (snow), the direction is north-east and element is ether or space and the food is Bengal Gram and turmeric.

The ruler of all planets and Gods is Jupiter. Astrologically, the planet is also known as called “The Greater Benefice“, in opposition to Saturn. He is the guardian and protector of all living beings. As per Hindu mythology, Jupiter is the planet of learning and is revered as the teacher, hence is known as the Guru Grah, or Guru or Brihaspati.

The planet is associated with Thursday, which is ‘Guruwaar‘ in Hindi. Jupiter assigns high ideals, sense of purpose and ideals of joy in life. It determines the path of life, the nature of an individual and their level of optimism.

Benefits of Guru Dosh Nivaran puja:-

  • Relief from ill health, discord, and disharmony.
  • For the right direction in life.
  • For better Memory Power.
  • For wisdom, intellect and divine grace.
  • For relief from the malefic effects of planet Guru.
  • To obtain the blessings of Guru or Brihaspati.
  • To improve intelligence and to clear bad thoughts from the mind.

To remove this defect, do Guru Dosh Nivaran Puja from astrologer Nidhi ji Shrimali at a very nominal cost as soon as possible.

The person who wants to get worship done, Pandit ji already takes a resolution in his name and as we all know, every worship or auspicious work of Lord Ganesha is always done. So the Guru Dosha Nivaran Puja also starts with the Abhishek of Lord Ganesha, we need to please him first.

Pandit ji will worship the Navagrahas and after that, he will appease the 12 deities (mothers), one of which will be your Kuldevi.

Mantras related to Guru Dosh Nivaran Puja will be chanted by Pandit ji. Guru Dosh Nivaran Puja will be done for 2 – 3 hours. This pooja will be performed by 2 – 3 pundits with complete rituals. After the puja after the havan, he will appease the 12 deities (mothers), one of whom will be your Kuldevi.

In the end, the main Havan of Puja begins, in which Panditji starts chanting mantras for you and you should chant the mantras and follow the rules as given by our Panditji. After the completion of the puja, you are blessed by Pandit ji.

The yantras related to worship are kept in this havan. That device will be sent to you. After installing that yantra in your house of worship, you must recite the mantras told by Pandit ji every day, and you should pray to get rid of this defect.

Astrologer Nidhi ji Shrimali ji explains and guides proper Guru Dosh Nivaran Puja measures. If you want to do puja for Guru Dosha, then astrologer Nidhi ji Shrimali is the best choice in India.

For any assistance or confusion regarding Puja, contact us by clicking below. You can also WhatsApp us on this number. Our team is always there to assist you.

गुरु दोष निवारण पूजा


गुरु दोष निवारण पूजा – यह पूजा हमारे विधान पंडितों के माध्यम से की जाएगी। यह पूजा ऑनलाइन (वीडियो कॉल) या ऑफलाइन (आपके स्थान पर) की जा सकती है।

गुरु दोष का अर्थ यह है कि व्यक्ति गुरु/बृहस्पति कमजोर होता है। इसके सकारात्मक प्रभावों और अच्छे स्वभाव के बावजूद, एक कमजोर बृहस्पति गुरु दोष का कारण बन सकता है, जो व्यक्ति में और उसके आसपास समृद्धि, ज्ञान, खर्च, लड़ाई, स्वार्थ, शैक्षिक कठिनाइयों और शांति की कमी के मुद्दों को जन्म दे सकता है। यदि गुरु जन्म कुंडली में शनि, राहु या केतु के साथ बैठा हो तो गुरु दोष भी लोगों के लिए हानिकारक परिणाम हो सकता है। गुरु ग्रह/बृहस्पति अशुभ प्रभाव थायरॉइड ग्रंथि, गले, गर्दन, जबड़े और मुंह से भी जुड़ा हुआ है। गुरु दोष से खांसी, जुकाम, सुनने में समस्या, कान में संक्रमण, गले में खराश या स्वरयंत्रशोथ और गले के अन्य संक्रमण जैसी जटिलताएं होने की संभावना है।

गुरु महादशा व्यक्ति के जीवन की वह अवधि होती है जब गुरु ग्रह उस नक्षत्र के सबसे निकट होता है जिसमें व्यक्ति का जन्म होता है। प्रभाव पूरे व्यक्ति के जीवन में वितरित किया जाता है, और प्रत्येक अवधि की इसकी गुणवत्ता और सापेक्ष परोपकार जन्म कुंडली में उस ग्रह की स्थिति और स्थिति पर निर्भर करता है।

बृहस्पति तीन नक्षत्रों या चंद्र मकानों का स्वामी है: पुनर्वसु, विशाखा और पूर्व भाद्रपद (बृहस्पति अशुभ प्रभाव/गुरु ग्रह दोष)। बृहस्पति किससे संबंधित है: उनका रंग पीला है, धातु सोना है और रत्न पीला पुखराज और पीला नीलम है। उसके साथ जुड़ा मौसम सर्दी (बर्फ) है, दिशा उत्तर-पूर्व है और तत्व ईथर या अंतरिक्ष है |

सभी ग्रहों और देवताओं का स्वामी बृहस्पति है। ज्योतिष की दृष्टि से इस ग्रह को शनि के विपरीत “बड़ा लाभ” भी कहा जाता है। वह सभी जीवों का संरक्षक और रक्षक है। हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, बृहस्पति सीखने का ग्रह है और शिक्षक के रूप में पूजनीय है, इसलिए इसे गुरु ग्रह, या गुरु या बृहस्पति के रूप में जाना जाता है।

ग्रह गुरुवार से जुड़ा हुआ है, जिसे हिंदी में ‘गुरुवार’ कहा जाता है। बृहस्पति जीवन में उच्च आदर्श, उद्देश्य की भावना और आनंद के आदर्श प्रदान करता है। यह जीवन का मार्ग, व्यक्ति की प्रकृति और उनके आशावाद के स्तर को निर्धारित करता है।

गुरु दोष निवारण पूजा के लाभ:-

  • अस्वस्थता, कलह और वैमनस्य से मुक्ति।
  • जीवन में सही दिशा के लिए।
  • बेहतर मेमोरी पावर के लिए।
  • बुद्धि, बुद्धि और दिव्य कृपा के लिए।
  • गुरु ग्रह के अशुभ प्रभाव से मुक्ति के लिए।
  • गुरु या बृहस्पति का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए।
  • बुद्धि में सुधार और मन से बुरे विचारों को दूर करने के लिए।
  • इस दोष को दूर करने के लिए ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली से अतिशीघ्र बहुत ही मामूली कीमत पर गुरु दोष निवारण पूजा करें।

जो व्यक्ति पूजा करवानां चाहते है पंडित जी पहले से ही उसके नाम पर संकल्प लेते है और जैसा कि हम सभी जानते हैं, भगवान गणेश की हर पूजा या शुभ कार्य हमेशा किया जाता है। तो गुरु दोष निवारण पूजा भी भगवान गणेश के अभिषेक के साथ शुरू होती है, हमें पहले उन्हें प्रसन्न करने की आवश्यकता है।

पंडित जी नवग्रहों की पूजा करेंगे और उसके बाद, वह 12 देवताओं (माताओं) को प्रसन्न करेंगे , जिनमें से एक आपकी कुलदेवी होगी।

पंडित जी के द्धारा गुरु दोष निवारण पूजा से सम्बंधित मंत्रो का जाप किया जाएगा | गुरु दोष निवारण पूजा 2 – 3 घंटे तक की जाएगी | यह पूजा 2 – 3 पंडितो द्धारा पूरे विधि विधान से सम्पन्न की जाएगी | पूजा के बाद हवन बाद, वह 12 देवताओं (माताओं) को प्रसन्न करेंगे , जिनमें से एक आपकी कुलदेवी होगी।

आखिर में पूजा का मुख्य हवन शुरू होता है, जिसमें पंडित जी आपके लिए मंत्रों का जाप करने लगते हैं और आपको साथ में हमारे पंडित जी द्धारा बताये गए मन्त्रों का जाप तथा नियमों का पालन करना चाहिए । पूजा सम्पन्न होने के पश्चात पंडित जी द्धारा आपको आशीर्वाद दिया जाता हैं |

इस हवन में पूजा से संबंधित जो यन्त्र रखा जाता हैं | वो यन्त्र आपको भिजवाया जाएगा | उस यन्त्र को आप अपने पूजा घर में स्थापित कर प्रतिदिन पंडित जी द्धारा बताए गए मंत्रो का जाप , दर्शन अवश्य करना चाहिए तथा इस दोष से मुक्ति के लिए आपको प्रार्थना करनी चाहिए |

ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली जी उचित गुरु दोष निवारण पूजा उपायों की व्याख्या और मार्गदर्शन करती हैं। यदि आप गुरु दोष के लिए पूजा करना चाहते हैं, तो ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली भारत में सबसे अच्छी पसंद हैं।

पूजा के संबंध में किसी भी सहायता या भ्रम के लिए, नीचे क्लिक करके हमसे संपर्क करें। आप हमें इस नंबर पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। हमारी टीम आपकी सहायता के लिए हमेशा मौजूद है।

 

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali