Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured

Corona Virus कोरोना वायरस का ज्योतिषीय विश्लेषण

कोरोना वायरस का ज्योतिषीय विश्लेषण


Corona Virus

Image result for CORONA VIRUS PNG

श्रीमती निधि जी श्रीमाली जी के अनुसार कोरोना वायरस जिससे आज पूरा विश्व प्रभावित हो चूका है| दूसरा विश्व वोर के बाद में सबसे भयावह स्थिति आज वर्तमान में हम देख रहे है| पुरे विश्व में लोकडाउन हो चूका है| हमारे देश में भी लगभग 90% पूरा देश लोक डाउन हो चूका है| और बहुत ही गम्भीर स्थिति में पूरा विश्व इस समय चल रहा है| काफी लोगो की मृत्यु भी हो चुकी है| और ये प्रकोप आगे और कितना बढ़ सकता है| क्यु ये प्रकोप आया इसकी शुरुआत अगर हम ज्योतिषीय दृष्टिकोण से देखे 5 नवम्बर को ही हो गई थी| जी हा पिछले साल यानि 2019 में 5 नवम्बर को जब गुरु ग्रह अपनी खुद की राशि यानि धनु राशि में उन्होंने प्रवेश किया जहा पर पहले से ही केतु विराजमान थे| Corona Virus

तब इस स्थिति की शुरुआत हुई| अब इसका कारण की है गुरु वैसे हम ज्योतिषीय दृष्टि से बोलते है की कोई भी ग्रह स्वराशि का होकर विराजित होता है| और अच्छी जगह बैठा होता है| तो वो आपको बहुत अच्छे परिणाम देता है| और गुरु ग्रह के भी बदलाव के बारे में हमने पहले भी आपको बता चुके है| व्यक्तिगत रूप से तो गुरु या कोई भी ग्रह अगर स्वराशि का होकर बैठता है| तो वो उस राशि में किस जगह बैठा है और अच्छी जगह बैठा है तो बहुत अच्छे परिणाम देता है| परन्तु हम विश्व की देश के दृष्टिकोण से यदि हम देखे तो जब जब गुरु धनु राशि में आकर विराजित हुआ है| यानि स्वराशि के देवगुरु बृहस्पति हुए है| तब तब विश्व में आर्थिक मंदी का दौर आया है| आपको ध्यान हो तो 2008 में भी विश्व में आर्थिक मंदी का दौर आया था| जब देव गुर बृहस्पति धनु राशि में स्वग्रही होकर बैठे थे| और ऐसा ही कुछ दौर अभी जब से 5 नवम्बर से गुरु धनु राशि में प्रवेश कर चुके है| तब से आर्थिक मंदी का दौर हमारे देश में एवं पुरे विश्व में बढ़ा है| और ये अभी लम्बे समय तक चलने वाला भी है| देखीये जब देव गुरु बृहस्पति 5 नवम्बर को अपनी खुद की राशि में उन्होंने प्रवेश किया| तब वहा पर उनके साथ केतु ग्रह बैठे थे| गुरु और केतु का चांडाल योग का निर्माण हुआ| चांडाल योग के कारण देव गुरु बृहस्पति और केतु देखीये देवगुरु बृहस्पति देवो के गुरु है सोम्यं ग्रह है| जीव, दया, करुणा, धन सम्पति दायक, संतान दायक ग्रह माने गए है| और केतु और राहू ग्रह कीटाणु, गुप्तरोग, असाध्य रोगों के कारक ग्रह माने गए है| जब गुरु और केतु का चांडाल योग बना तब से ये स्थिति शुरू हो चुकी थी| देखीये चीन में सबसे पहले ये मामला सामने आया कोरोना वायरस का पहला केस चीन में आया| और चीन ने लम्बे समय तक इसे गुप्त भी रखा बताया नही विश्व के सामने उजागर नही किया| पर धीरे धीरे ये स्थिति बढती गई| और जब ग्रहण की स्थिति आई जब साल का अन्तिम ग्रहण था| ग्रहण की स्थिति के बाद में देव गुरु बृहस्पति केतु, शनि जो की साथ में विराजमान थे उनके साथ में एक दो ग्रह जब और आ गए जैसे मंगल आ गए उनके साथ में तब ये स्थिति और ज्यादा विकराल रूप लेती हुई दिखाई दी| Corona Virus

देवगुर बृहस्पति और केतु का चांडाल योग का निर्माण हो चूका था| तब ये वायरल शुरू हो गया फेल गया| राहू की सप्तम दृष्टि भी इस पर थी| तो स्थिति और ज्यादा धीरे धीरे खतरनाक होती चली गयी| और शनि ग्रह देवगुरु बृहस्पति के साथ में बैठे है शनि  जहा बैठते है उसे बढ़ाते है| यानि इस चांडाल योग को भी और ये वायरल था इसे और अधिक इन तीनो की योग ने फैलाया परन्तु जब मंगल आठ फरवरी को धनु राशि में आकर जहा पहले से ही देवगुरु बृहस्पति विराजित थे केतु विराजमान थे| उनका चांडाल योग बन रहा था शनि भी वहा पर ही विराजमान थे और वहा पर मंगल ग्रह ने आकर दस्तक दे दी| मंगल ग्रह जब यहाँ आकर बैठे तो उन्होंने केतु के साथ में पिशाच योग और बना लिया तो चांडाल योग और पिशाच योग के कारण 8 फरवरी के बाद में बहुत तेजी से इस वायरस ने पुरे विश्व पर अपना कब्ज़ा जमा लिया बहुत जल्दी से ही ये वायरस फैला और स्थिति इतनी भयावह हो गयी की 13 से 14 लाख मृत्यु अब तक हो चुकी है| देखिये मंगल को हम मार्गग्रह के रूप में भी देखते है मंगल एक पृथ्वी तत्व है| और जब किसी भी व्यक्ति के घर में बहुत सारे लोग एक साथ आ जाते है तो उस व्यक्ति को गुस्सा आता है| जब उसे सही महसूस नही होता है तो वह गुस्से में रहता है| Corona Virus

मंगल एक क्रोधित ग्रह भी माना जाता है| मंगल जिसकी कुंडली में उच्च का होता है या सही स्थिति में नही बैठा होता है उस व्यक्ति को क्रोध बहुत अधिक आता है| तो मंगल ने लोगो को मारना शुरू किया| जब केतु और मंगल का पिशाच योग बना साथ में गुरु वही पर ही स्वग्रही होकर बैठे थे| गुरु केतु का चांडाल योग भी बन रहा था| तब लोगो के मृत्यु की संख्या बढती गयी| लोगो ने मरना शुरू किया| लोग इस वायरस से बहुत अधिक संक्रमित होते हुए दिखाई दिए बहुत ही ख़राब स्थिति इस समय पुरे विश्व की होती चली गयी| भारत में भी इस वायरस ने दस्तक दी है| और अभी हम जैसा की हमारे प्रधानमंत्री जी और देश की जो आकड़े बताते है| की ये वायरस हमारे 2nd स्टेज पर हम पहुच चुके है| और ये 3rd स्टेज में हम नही पहुचे इसके लिये भी बहुत लगातार सरकार की तरफ से भी प्रयास चल रहे है और हमारा भी नैतिक दायित्व है की हम इसे फैलने नही दे| परन्तु अभी 22 मार्च को मंगल धनु राशि से अपनी उच्च की राशि मकर में प्रवेश कर गए है| और शनि के साथ बैठ कर क्रांतिकारी योग बना रहे है| देखिये जब मंगल और शनि का ये योग हुआ मंगल जब धनु राशि से हट गए तब ये पिशाच योग भी खत्म हो गया| अब चांडाल योग गुरु केतु का बचा है| हालाकि ये वायरस अभी हमारे चारो तरफ फैल रहा है| Corona Virus

भारत में इसकी दस्तक बहुत बढ़ रही है| कई लोग इस वायरस से निकल चुके है| इस वायरस का प्रभाव वहा अब थोडा कम देखने को मिल रहा है| परन्तु हमारे देश में स्थिति अब बिगड़ सकती है| परन्तु जब 22 मार्च को मंगल अपनी उच्च की राशि मकर में प्रवेश किये तब उसके बाद से अब हम जहा तक ज्योतिषीय गणना की बात करे| तो कोई मेडिकल विज्ञानं के अन्दर इसका तोड़ और इसका बड़ा उपाय कारगार जरुर अब निकलेंगा| हमारी गणनाओ के अनुसार इसका कोई प्रभाव शाली दवाई बनाई जाएँगी या वेक्सिन बनाई जाएँगी जिससे इस वायरस को कंट्रोल किया जा सके| ये स्थिति अब भी चलेंगी परन्तु 30 मार्च को जब गुरु देवगुरु बृहस्पति अपनी खुद की राशि धनु से मकर में नीच के होकर प्रवेश करेंगे| यानि मकर में जाकर वो नीच के हो जायेंगे| हालाकि देवगुरु बृहस्पति जब मकर में जायेंगे| और नीच के होंगे तब स्थिति तब देवगुरु बृहस्पति अपना प्रभाव गलत दे सकते है| नकारात्मक परिणाम दे सकते है और ऐसा माना भी जाता है की जब देवगुरु बृहस्पति नीच के होते है तो वो प्रभाव उल्टे और खतरनाक देते है| परन्तु वहा पर शनि स्वग्रही होकर बैठे है और मंगल उच्च के होकर बैठे है| तो नीचभंग राजयोग की स्थिति बन रही है| और देवगुरु बृहस्पति मंगल और शनि के एक साथ बैठने से इस नीच भंग राजयोग की स्थिति उत्पन्न होने के बाद में इस वायरस का प्रभाव थोडा कम होंगा| हालाकि हम ये नही कह रहे है की इस वायरस का प्रभाव खत्म हो जायेंगा| ये सब हमारे प्रयासों पर भी निर्भर करता है| परन्तु हमारे ग्रहों की गणनाओ के अनुसार ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से हम देखे तो 30 मार्च के बाद में इस वायरस का प्रभाव थोडा कम होने लग जायेंगा| और जहा तक हम सोचते है हमारे देश की बात देखिये इस वायरस के लिये वैज्ञानिकों ने ये मत दिया है की ये वायरस ठंडे प्रदेशो में बहुत तेजी से फैलता है| ठंडे वातावरण में ये बहुत जल्दी से फैलता है परन्तु हमारे देश में क्युकी अब गर्मी का दौर आने वाला है| वैसे तो मार्च में हमेशा हमारे यहाँ पर गर्मी पड़ना शुरू हो जाती है| और एक दम गर्मी का प्रकोप बढ़ जाता है| परन्तु प्रकति का ये भी कैसा चमत्कार है की इस बार मार्च के अन्दर भी हमारे देश के कई राज्यों के अन्दर कई ओले पड़ रहे है, कई बहुत तेज बारिश हो रही है और ठंड का वातावरण बना हुआ है| ये भी हमारे लिये एक नकारात्मक है इस वायरस को फैलने की जगह हमारे देश में मिल रही है| पर 13 अप्रैल को अभी सूर्य मीन राशि में है| और 13 अप्रैल को वे मीन राशि से अपनी उच्च की राशि मेष राशि में प्रवेश करेंगे| सूर्य वैसे भी आप जानते ही है ग्रहों में सबसे तेजवाहन ग्रह सूर्य है और सूर्य का तेज बहुत ही अधिक होता है इस वजह से उसके साथ कोई भी ग्रह बैठेंगा तो वो अस्त होता हुआ दिखाई देंगा| क्युकी सूर्य का प्रभाव बहुत ही अधिक होता है| और जब सूर्य मेष राशि में उच्च के होकर विराजित होंगे तो उनके तेज में और अधिक वृद्धि होंगी| और ये वायरस वैज्ञानिक जैसा कहते है की गर्मी के अन्दर ये वायरस धीरे फैलता है इसका प्रभाव थोडा सा कम हो जाता है| ये वायरस थोडा सा क्षीण यानि बलहीन हो जाता है| तो 13 अप्रैल को जब सूर्य अपने उच्च की राशि मेष में प्रवेश करेंगे| उसके बाद हमारे देश यानि भारत वर्ष में इसका प्रभाव बहुत कम होता हुआ दिखाई देंगा| ये तो थी ज्योतिषीय गणना परन्तु आपको ये बता दे की जो हमारे अर्थ व्यवस्था जो पुरे विश्व की अर्थ व्यवस्था अभी डावाडोल हो चुकी है| कई लोगो की रोजी रोटी एक दम ठप हो चुकी है| क्युकी हम घरो में लोक डाउन हो चुके है| हम घरो में रहने को मजबूर हो चुके है| कई जगह हमारे देश में कर्फ्यू की व्यवस्था भी उत्पन्न हो चुकी है| क्युकी आप लोगो का कई लोग ऐसे है जिनका कंट्रोल आमजनता का नही हो पा रहा है| वो अभी भी इस वायरस की गम्भीरता को नही समझ पा रहे है| इस वजह से हमारे देश में ये परिस्थिति उत्पन्न हो चुकी है| की कई जगह पर सरकार को कर्फ्यू लगाना पड़ा है| Corona Virus

लोक डाउन की स्थिति तो हमारे देश में देखने को मिल ही रही है और हमने आपको बताया की 13 अप्रैल के बाद में इस वायरस का प्रभाव हमारे देश से बहुत कम हो जायेंगा पर उसके साथ हमे कुछ उपाय भी करने होंगे| इस वायरस से बचने के लिये हमारा नैतिक दायित्व भी है| और हमारे देश के लिये भी ये महत्वपूर्ण योग दान होंगा| ये अभी हमारे देश में जो ये वायरस फैल गया है| इसके लिये हमे घरो में लोक डाउन होकर रहना पड़ेंगा| कुछ सावधानियों का आपको ध्यान रखना पड़ेंगा जो की आम सावधानिया है और बहुत लोग बता रहे है| सरकार की तरफ से प्रचार हो रहा है| सोशल मीडिया पर भी कई विडियो आ रहे है परन्तु आपको इन चीजो के बारे में ध्यान रखना पड़ेंगा हर थोड़ी देर से आपको अपने हाथ धोने है जहा तक हो सके अपने हाथो को सेनेटाइजर करके रखे| देखिये घर में तो हम लोक डाउन हो ही रहे है| परन्तु आपको अपने हाथो को भी लोक डाउन करना है| यदि आप बाहर से आते है| तो अपने हाथो को लोक डाउन कर दीजिये सबसे पहले आप बाहर से आकर अपने कपड़ो को उत्तार के उन्हें गर्म पानी में धोइये उसे सेनेटाइजर कीजिए| कपड़ो को सेनेटाइजर करने का एक ही तरीका है की उन्हें आप धौये साबुन से धोये सर्फ़ से धोये वो सेनेटाइजर हो जायेंगे| अपने हाथो को तुरंत धोये जहा तक हो सके आप अपने हाथो को मुह पर नाक पर बिना धोये नही लगाए यदि आप बाहर से आ रहे है तो और पहली बात तो की जब सरकार ने इतनी अपील की है तो आप जितना हो सके अपने परिवार की और अपनी सुरक्षा के लिये घर पर ही रहे, स्वच्छ रहे, गर्म पानी का उपयोग करे देखिये ये वायरस अगर आपके अन्दर चला भी गया है तो कहते है की तीन दिन तक इस वायरस का प्रभाव गले तक रहता है| तो आपको इस समय गर्म चाय, गर्म काफी, गर्म पानी का इस्तेमाल करना है ज्यादा से ज्यादा घरारे करने है यानि आप जितना हो सके आप गर्म पानी से घरारे करते है तो इस वायरस का प्रभाव वैसे भी आपके शरीर से कम हो जायेंगा| उसके उपरांत आपको कोई किसी भी प्रकार की हेल्थ समस्या ज्यादा आप समस्या देखते है की आपको कफ हो गया है, कोल्ड हो गया है, बुखार आ रहा है, आपको बैचेनी हो रही है, घबराहट हो रही है तो आप तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करे| अपने पारिवारिक सदस्यों का ध्यान रखे| खुद का भी ध्यान रखे| इसके साथ ही कुछ ज्योतिषीय उपाय भी आपको करने चाहिए| देखिये वैसे तो हमारा देश ऋषि मुनियों का देश है| तपोभूमि है, मंत्र वेदों में बहुत अधिक शक्ति होती है और इस शक्ति की वजह से आज पूरा विश्व इस वायरस के प्रभाव में बहुत बुरे तरीके से फस चूका है| परन्तु हमारे देश में विश्व की तुलना में अभी तक कम केस सामने आये है| और हम चाहे तो इससे बच भी सकते है| उसमे आपको आध्यात्मिक की तरफ थोडा सा झुकाव रखना पड़ेंगा| देखिये आपको अपने शारीरिक तौर पर तो अपने शरीर का ध्यान रखना ही है| हमने आपको अभी बताया अपने आपको सेनेटाइजर करना है बाहर बाहर आपको नहाना है गर्म पानी से स्नान कीजिए गर्म पानी का उपयोग कीजिए| गर्म चीजे अदरक का सेवन कीजिए गर्म मसालों का उपयोग कीजिए ताकि ये वायरस आपके शरीर में नही पनपे घर से बाहर कम रहिए घर के अन्दर लोक डाउन होकर रहे है| अपने हाथो को जहा तक हो सके अपने चेहरे पर और पुरे शरीर पर आप नही घुमाये अपने नाक कान गले का विशेष ध्यान रखना है| ये तो थी शारीरिक चीजे आध्यात्मिकता के लिये देखो ये तपोभूमि है मंत्र का प्रभाव हम आदि काल से जानते आये है| Corona Virus

हमारे विश्व की इस स्थिति को पुरे हमारे देश की इस संस्कृति को पुरे विश्व ने अपनाया है| और आज पूरा विश्व जो एक दुसरे से हाथ मिलाता था पाश्चात्य की तरफ हम अग्रसर हो रहे है पर विश्व हमारी संस्कृति को अपनाने को मजबूर हो रहा है| वो भी एक दुसरे के अभिवादन में हाथ जोड़ रहे है| दूर से प्रणाम कर रहे है कई चीजे है जिनका वो पालन कर रहे है घर के बाहर जूते उतारना ये हमारी संस्कृति में तो हम जो काम कर रहे है उसे आज पूरा विश्व अपना रहा है| हिन्दू धर्म सनातन धर्म की संस्कृति को वो अपना रहा है| हमे भी इस संस्कृति को अपनाना है| घर में आप ज्यादा से ज्यादा जो हम रोज पूजा आरती करते है उसके बाद में गूगल, धुप, धुप बत्ती, कपूर, लौंग, दाल चीनी, और जो हवन सामग्री हमारी मिक्स बाज़ार में बहुत आसानी से मिल जाती है| और हमारे घरो में भी ज्यादातर पाई जाती है| उस हवन सामग्री का उपयोग करके पुरे घर में उस धुप को आपको घुमाना है| देखिये इस धुप को घुमाने से कई तरह के जीवाणु नष्ट हो जाते है| हमारा घर अपने आप इस धुप से सेनेटाइजर हो जायेंगा| पहला काम आपको ये करना है| देखिये केतु के दुष्प्रभाव को क्युकी केतु गुरु का चांडाल योग बना हुआ है| और गुरु जब तक केतु से अलग नही होते है पूरी तरीके से तब तक इस वायरस का प्रभाव रहेंगा| तो यदि हम ज्योतिषीय दृष्टि से देखे तो केतु के दोष को बुध दूर करता है और नवरात्री भी चल रही है| माँ दुर्गा का आह्वान करे| और गणपति जी की पूजा आराधना रोज करे| आप सभी अभी घर में है| देखिये कोई भी बाहर नही जा रहा है| आपको अपने परिवार के साथ में समय मिल रहा है बच्चो को अपने माता पिता के साथ में रहने का समय मिल रहा है| अपने जीवनसाथी के साथ में रहने का समय मिल रहा है सबकी शिकायत दूर करने का ये समय है इसको सकारात्मक रूप में ले और ज्यादा से ज्यादा गणपति जी की पूजा आराधना करे| सबके घर में गणेश जी होते है| तो गणेश जी को अपने घर में विराजित करे और उन पर रोज ॐ गं गणपतये नम का जाप करते हुए दूर्वा जरुर चढ़ाये| ये तो हुआ केतु के दुष्प्रभाव से मुक्ति पाने का तरीका साथ में गुरु ग्रह देवगुरु बृहस्पति जो की हमारी अर्थ व्यवस्था को बिगाड़ रहे है स्वग्रही होकर बैठे है| और नकारात्मक परिणाम जो अभी दे रहे है| उनसे मुक्ति प्राप्त करने के लिये आपको ज्यादा से ज्यादा ॐ नमस शिवाय जाप करना है| जितना ज्यादा आप उनका जाप करेंगे| उतना ही जल्दी हमे इस सक्रमण से मुक्ति मिलेंगी| और शिव का सबसे अचूक मंत्र जिसे मंत्रो का राजा भी कहा जाता है वो है महामृत्युंजय मंत्र  तो आप आज ही इस बात का संकल्प ले| और नवरात्रा चल रहे है योग प्राणायाम से तो अपने आप को जोड़े ही साथ ही गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र का इस 09 दिनों में इतना जाप करे की ये वायरस हमारे देश से ही नही बल्कि सम्पूर्ण विश्व से निकल जाए और पुरे विश्व को इस वायरस से जल्दी से जल्दी मुक्ति मिले| तो ये प्रयास आपकी तरफ से जरुर होने चाहिए| Corona Virus

मंत्रो का उच्चारण करे घर में रोज धुप जरूर करे| और नवरात्री के दौरान तो हमारे घरो के अंदर तो रोज हवन होता ही है| हम दुर्गा का आह्वान करते ही है| हवन सामग्री के अन्दर आपको कपूर का इस्तेमाल जरुर करना है| लौंग, इलाइची, कपूर, दालचीनी, धुप, नारियल जो सुखा नारियल होता है| इन सभी चीजो का उपयोग करके अपने घर में हवन जरूर करे| उस हवन के धुएं को अपने पुरे घर में घुमाये| सुरक्षित रहे स्वस्थ रहे और हमारे देश के जो सभी कार्यकर्त्ता है जो सभी लोग है जो हमारी सरकार है जो आपातकालीन सर्विस में अपनी सेवाये देने के लिये आज भी खड़े है| उन सभी का आदर करते हुए कृपया आप अपने घर में रहे सुरक्षित रहे अपने हाथो को सेनेटाइजर करे ये आपका बहुत बड़ा योगदान होंगा| घर से बाहर अगर जब तक जरूरत नही पड़े बहुत ज्यादा जरुरी नही हो तब तक नही निकले तभी हम इस कोरोना वायरस को भगा सकते है| इस पर विजय प्राप्त कर सकते है| Corona Virus

WATCH VIDEO ON YOUTUBE CLICK HERE –

https://www.youtube.com/watch?v=ZyAjfkhp698

Note: Daily, Weekly, Monthly and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) or contact Pandit NM Srimali  Whatsapp No. 9929391753,E-Mail- [email protected]

Connect with us at Social Network:-

social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com social network panditnmshrimali.com

Back to list

Leave a Reply

Your email address will not be published.