Chandra Dosh Nivaran Pooja | चंद्र दोष निवारण पूजा | By Astrologer Nidhi Ji Shrimali |

निवारण पूजा 9 | Panditnmshrimali

Chandra Dosh Nivaran Pooja


The Moon is the factor of mind. Among the planets, the moon is considered to be a female form. Lord Shiva is wearing the moon on his head, hence Lord Shiva is called the god of the moon.

The Chandrama occupies the mind. The imagination of the mind is influenced by the state of the moon. All the planets in the universe have a special and extremely important effect on a person’s life. The Chandra is the lord of the native’s mind. If the position of the Moon in the horoscope is not right or it is in a defective state, then the native has problems related to mind and brain. On the other hand, criminals, crazy people, people with a distorted mindset, a devious mind, a sentimental person all have a weak or sinful chandrama. Planets like Ketu along with the moon keep the mind in check.

The person whose moon is not in the right place in his horoscope, the mind of that person remains disturbed. Moon is considered to be the ruler of land and building, so disputes or problems arise in the house and property of such a person. There is an atmosphere of troubles and quarrels in the family. There is a problem of water in the house and Chandra Dosha has a bad effect on the health of the mother. When the Moon is in conjunction with Rahu-Ketu or Saturn, its inauspicious effects increase.

Chandra Dosha Remedy:-

  • On Monday, Lord Shiva should be worshipped with cow’s milk. By the grace of Lord Shiva himself, the stigma of the moon was removed, in the same way, the moon defect will also be eliminated from your horoscope.
  • Wearing a garland of crystals also gives freedom from Chandra Dosha.
  • Donating white things like milk, rice, sugar or white clothes on Monday also gives freedom from Chandra Dosha.
  • At the time of moonrise, pouring rice and batasha in milk should be offered to the moon.

For the person who wants to get Chandra Dosh Nivaran Puja, the mantras, related to Chandra Dosh Nivaran Puja will be chanted by the learned pundits of our institute. Chandra Dosh Nivaran Puja will be done for 2-3 hours with complete rituals. Together you should chant the mantras given by our Pandit ji and follow the rules. After the completion of the worship, you are blessed by Pandit ji. That device will be sent to you. After installing that yantra in your house of worship, you must recite the mantras told by Pandit ji every day, and you should pray to get rid of this defect.

Astrologer Nidhi ji Shrimali ji explains and guides proper Chandra Dosh Nivaran Puja remedies. If you want to do puja for Chandra dosha, then astrologer Nidhi ji Shrimali is the best option in India.

For any assistance or confusion regarding Puja, contact us by clicking below. You can also WhatsApp us on this number. Our team is always there to assist you.

 

चंद्र दोष निवारण पूजा


चंद्रमा मन का कारक है। ग्रहों में चंद्रमा को स्त्री स्वरूप माना गया है। भगवान शिव ने चंद्रमा को मस्तक पर धारण किया हुआ है, इसलिए भगवान शिव को चंद्रमा का देवता कहा गया है

चंद्रमा मन पर कब्जा कर लेता है। मन की कल्पना चंद्रमा की स्थिति से प्रभावित होती है। ब्रह्मांड के सभी ग्रहों का व्यक्ति के जीवन पर विशेष और अत्यंत महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। चंद्र जातक के मन का स्वामी होता है। यदि कुंडली में चंद्रमा की स्थिति ठीक नहीं है या वह दोषपूर्ण स्थिति में है, तो जातक को मन और मस्तिष्क से संबंधित समस्याएं होती हैं। दूसरी ओर, अपराधी, पागल, विकृत मानसिकता वाले, कुटिल मन, भावुक व्यक्ति सभी में कमजोर या पापी चंद्रमा होता है। चन्द्रमा के साथ केतु जैसे ग्रह मन को नियंत्रण में रखते हैं।

जिस जातक की कुण्डली में चन्द्रमा सही स्थान पर नहीं होता है, उस व्यक्ति का मन अशांत रहता है। चंद्रमा को माँ, मन और मस्तिष्क का स्वामी माना जाता है, इसलिए ऐसे व्यक्ति के घर और संपत्ति में विवाद या समस्या उत्पन्न होती है। परिवार में कलह और कलह का माहौल है। घर में पानी की समस्या है और चंद्र दोष का माता के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। जब चन्द्रमा राहु-केतु या शनि की युति में हो तो इसका अशुभ प्रभाव बढ़ जाता है।

चंद्र दोष उपाय:-

  • सोमवार के दिन गाय के दूध से भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। स्वयं भगवान शिव की कृपा से चंद्रमा का कलंक दूर हो गया, उसी प्रकार
  • आपकी कुंडली से चंद्र दोष भी दूर हो जाएगा।
  • स्फटिक की माला धारण करने से भी चंद्र दोष से मुक्ति मिलती है।
  • सोमवार के दिन सफेद चीजें जैसे दूध, चावल, चीनी या सफेद वस्त्र दान करने से भी चंद्र दोष से मुक्ति मिलती है।
  • चंद्रोदय के समय दूध में चावल और बताशा डालकर चंद्रमा को अर्पित करना चाहिए।इस दोष को दूर करने के लिए ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली से अतिशीघ्र बहुत ही मामूली कीमत पर चंद्र दोष निवारण पूजा करें।

जो भी व्यक्ति चंद्र दोष निवारण पूजा करवाना चाहते हैं, उनके लिए हमारे संस्थान के विद्वान पंडितों द्धारा चंद्र दोष निवारण पूजा से सम्बंधित मंत्रो का जाप किया जाएगा | चंद्र दोष निवारण पूजा 2–3 घंटे तक पूरे विधि विधान से सम्पन्न की जाएगी | आपको साथ में हमारे पंडित जी द्धारा बताये गए मन्त्रों का जाप तथा नियमों का पालन करना चाहिए । पूजा सम्पन्न होने के पश्चात पंडित जी द्धारा आपको आशीर्वाद दिया जाता हैं इस पूजा में चंद्र दोष निवारण से संबंधित जो यन्त्र रखा जाता हैं | वो यन्त्र आपको भिजवाया जाएगा | उस यन्त्र को आप अपने पूजा घर में स्थापित कर प्रतिदिन पंडित जी द्धारा बताए गए मंत्रो का जाप , दर्शन अवश्य करना चाहिए तथा इस दोष से मुक्ति के लिए आपको प्रार्थना करनी चाहिए |

ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली जी उचित चंद्र दोष निवारण पूजा उपायों की व्याख्या और मार्गदर्शन करती हैं। यदि आप चंद्र दोष के लिए पूजा करना चाहते हैं, तो ज्योतिषी निधि जी श्रीमाली भारत में सबसे अच्छा विकल्प हैं।

पूजा के संबंध में किसी भी सहायता या भ्रम के लिए, नीचे क्लिक करके हमसे संपर्क करें। आप हमें इस नंबर पर व्हाट्सएप भी कर सकते हैं। हमारी टीम आपकी सहायता के लिए हमेशा मौजूद है।

Contact: +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Shopping cart
Shop
0 items Cart
My account