Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured|VIDEOS, VIDEOS

Makar Rashifal 2023 | मकर राशिफल 2023 | Makar Rashi – Capricorn Horoscope 2023 – Nidhi Shrimali

Capricorn Horoscope 2023

सबके लिए हो मंगलमय नववर्ष का एक एक पल,
भविष्य स्वर्णिम और सुखद हो सबके लिए हो उज्जवल।


आप सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें। आज हम आपके सामने मकर राशि वालो का वर्ष 2023 का वार्षिक राशिफल लेकर उपस्थित हुए हैं | और ये नव वर्ष आप में नयी ऊर्जा, नयी उन्नति कारक आपके लिए रहे। यही हमारी आप सभी को शुभकामनाएं है।


मकर राशि के स्वामी है शनि और शनि ग्रह को कौन नहीं जानता। आज के कलियुग में अगर कोई व्यक्ति किसी ग्रह से भयभीत है या फिर शनि के डर से सद्मार्ग पर चल रहा है तो वो है शनि देव। शनि देव कर्मफलदाता के रूप में जाने गए हैं और व्यक्ति को अपने कर्मों के हिसाब से वो रिजल्ट देते हैं। यदि आपने अच्छे कर्म किए है तो शनि की साढ़े साती, ढैया या शनि की महादशा चल रही हो तो भी आपको शनि के रिजल्ट बहुत ही पॉजिटिव मिलेंगे और यदि आपने अच्छे कर्म नहीं किए हैं तो शनि देव आपको दंड भी देंगे। यानि इस जन्म के कर्मों का फल यदि आपको कोई प्रदान करता है तो वो है शनि देव। आपकी राशि के लिए शनि नामक महापुरुष योग बना रहे हैं जो कि आपकी राशि को प्रबलता प्रदान कर रहे थे और 17 जनवरी को शनि आपकी राशि से कुम्भ राशि जो कि उनकी मूल त्रिकोण की राशि है उसमें प्रवेश करेंगे। अपने से एक घर आगे जाकर शनि बैठेंगे और वो भी आपकी राशि को और अच्छे रिजल्ट ही प्रदान करेंगे।

शनि सेकंड हाउस में आपके जाकर विराजमान होंगे और शनि जहां बैठते हैं उस घर को बढ़ाते हैं। उसकी प्रबलता को बढाते हैं तो इस समय अगर कुटुम्ब में कोई वाद विवाद की चल रही किसी रिश्तेदार से आपके मतभेद चल रहे हैं तो वो दूर हो जाएंगे। पैतृक संपत्ति से संबंधित कोई वाद विवाद की स्थिति आपके घर में बनी हुई है और उसका फैसला आना है तो वो आपके पक्ष में जाएगा। बड़े बुजुर्गों का साथ और आशीर्वाद आपको भरपूर देखने को मिलेगा। रूटीन के लाभ में धन की कमाई के नए नए स्त्रोत खुलते वो दिखाई देंगे और रूटीन के लाभ में वृद्धि होगी। इस समय आपके कुटुम्ब में मान सम्मान बढता हुआ दिखाई देगा। सामाजिक तौर पर आपको गणमान्य व्यक्तियों की सूची में रखा जाएगा। आपके कार्यों को सराहा जाएगा। इस समय आप जो भी कार्य जिस भी अच्छे उद्देश्य से करेंगे तो निश्चित रूप से वो कार्य द्रुत गति से संपन्न होते चले जाएंगे। पर्सनैलिटी बहुत ही पावरफुल होगी। आपकी पर्सनैलिटी को लोग जानेंगे। आपकी मेहनत को सराहा जाएगा। आप अपनी मेहनत के दम पर अपनी एक पर्सनैलिटी एक दिशा एक मकाम हासिल करते हुए दिखाई देंगे और कई लोग आपको आइडियल भी मानेंगे। इस समय आपके मेहनत के दम पर आप अच्छे लाभ की संपत्तियों को अर्जित करने में भी सफल होंगे।

अब शनि आपके लग्नेश भी है और शनि आपके सेकंड हाउस के लॉर्ड भी हैं। उसके हिसाब से रिजल्ट पर शनि की दृष्टि हमने आपको बताया की इतनी अच्छी नहीं होती है तब शनि की दृष्टियों के बारे में जान लेते हैं तो शनि की तृतीय दृष्टी आपके सुख स्थान पर पड़ेगी। सभी की सप्तम दृष्टि आपके अष्टम भाव पर पड़ती हुई दिखाई देगी और शनि की दृष्टि आपके लाभ भाव पर पड़ेगी। सबसे पहले इस स्थान पर शनि जब दृष्टि डालेंगे तो कहीं न कहीं थोड़ा सा सुकून को प्रभावित करेंगे क्योंकि वहां पर आलरेडी राहू विराजमान है तो राहू पर भी दृष्टि पड़ेगी। हालाँकि वो राहू की प्रबलता को बढ़ाएगी क्यूंकि राहू के शनि पर, इस समय राहू जहां बैठते हैं वहाँ पर व्यक्ति को भ्रमित करते हैं। डराते हैं तो थोड़ा कन्फ्यूजन की स्थितियां बन सकती है। इस चक्कर में आपके साथ में कहीं न कहीं जाकर फ्रॉड भी होने की संभावना बन सकती है। प्रोपर्टी से संबंधित मामलो में आपको बहुत ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है। बहुत जल्दी किसी पर भरोसा ना करें। पहले प्रोपर्टी से सम्बंधित कोई भी कार्य करें या कोई प्रॉपर्टी लेनी है या बेचनी है तो पहले अगली पार्टी के बारे में जानें उस प्रोपर्टी से संबंधित पूरे पेपर खंगाले और उसके बाद में आप आगे बढ़ें। ये सतर्कता आपको रखनी होगी वरना रिजल्ट आपको सकारात्मक नहीं मिलेंगे और नुकसान आपके जीवन में बनते चले जायेंगे। इस समय माँ के साथ संबंध बिगड़ सकते हैं। किसी बात को लेकर मनमुटाव की स्थितियां उत्पन्न हो सकती है और दूरियां और अधिक न बढ़े। इसके लिए अपनी वाणी पर संयम और क्रोध पर नियंत्रण रखते हुए ही आपको अपने जीवन में आगे बढ़ना पड़ेगा।


अब शनि की सप्तम दृष्टि की बात करते हैं जो की अष्टम भाव पर पड़ रही है और अष्टम भाव के कारक ग्रह शनि हैं तो शनि की दृष्टि यहाँ पर आपको ठीक रिजल्ट देगी क्यूंकि इस समय अष्टम भाव को ठीक करती हुई दिखाई देगी। रोजमर्रा के छोटे छोटे कामों में जो कठिनाइयाँ जो बाधाएं आपको देखने को मिल रही थी, उन बाधाओं से अब आपको मुक्ति मिल जाएगी। गुप्त धन यानि अचानक लाभ की प्राप्ति के योग बनते हुए दिखाई देंगे। विरोधी भी आपके कार्यों में किसी भी प्रकार की दखलअंदाजी नहीं कर पाएंगे। यानी वो कुछ भी करना चाहेंगे तो वो खुद ही अपने षड्यंत्र में फंस जाएंगे। इस समय आपकी सजगता ही आपके काम आएगी। यात्रा करते समय थोड़ी सी सावधानी आपको रखनी चाहिए। इस समय जानवरों से थोडा सा केयरफुल रहें ताकि जानवरों से चोट आपको ना लग पाए और खुद ड्राइव करें तो ट्रैफिक नियमों का पालन जरुर करें। ये साल आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मकर राशि वालों के लिए ये साल बहुत ही बड़ी जिम्मेदारियों को लेकर आ सकता है। बड़े बड़े अचीवमेंट ला सकता है। इसीलिए आप जितनी सतर्कता के साथ अपने जीवन में आगे बढ़ेंगे। अपने जीवन में सफलताओं को उतना ही अधिक पाएंगे।
अब शनि की दशम दृष्टि की बात करते हैं तो दशम दृष्टि शनि की लाभ भाव पर पड़ेगी। थोड़ा सा कभी कभी लाभ हो सकता है यानि लाभ आप बहुत कमाएंगे। अचानक से कहीं से कोई नुकसान हो गया। कहीं से कोई खर्चा आ गया और उस वजह से आपका लाभ हो गया। यानि बैलेंस हो गया। खर्चे और लाभ की स्थितियां तो ऐसी पोजीशन जरूर बन सकती है। इसके लिए आपको बचत योजनाओं में इन्वेस्टमेंट करना चाहिए। कुछ ऐसा आपको अपनी लिक्विडिटी का हिस्सा निकाल के रखना चाहिए ताकि अचानक आये खर्चों का आप निर्वहन आसानी से कर सकें और इससे आपका लाभ भी प्रभावित ना हो। इस समय अगर आप अपने नए काम के काम की नयी ब्रांच खोलना चाहते हैं। यानी जो व्यापारी है अगर वो अपने काम के विस्तार के ऊपर काम कर रहे हैं यानि उन योजनाओं पर काम करें तो थोडा सा आपको पूरी स्ट्रेटेजी और प्लानिंग से उतरना पड़ेगा। जल्दबाजी में किए गए काम आपको नुकसान दिला सकते हैं। वे योजनाएं आपकी प्रगति में बाधक साबित हो सकती है। सर्कल और लेवल बढ़ेगा परन्तु आपको ये डिसाइड करना होगा कि आपका मित्र कौन है? शत्रु कौन है और किससे आपको मित्रता करनी चाहिए? हर व्यक्ति की आत्मा अब उस व्यक्ति को जरूर जगाती है। अगर वो गलत मार्ग की तरफ प्रेरित हो रहा है तो उसे जागृत करती है। बस यही बात है के हम हमारी आत्मा की आवाज को कितना सुन पाते हैं या उसे इग्नोर कर देते हैं तो आपको इस समय अपनी आत्मा की आवाज को सुनते हुए संगति पर विशेष रूप से ध्यान देना है तो और अगर इन बातों का अगर आप ध्यान रखेंगे तो निश्चित रूप से शनि के रिजल्ट इस साल भी आपको बहुत अच्छे देखने को मिलेंगे।


गुरु का राशि परिवर्तन


अब आते हैं साल के दूसरे बड़े राशि परिवर्तन पर देखें। साल में तीन बड़े ग्रह होते अगर वो राशि परिवर्तन करें जैसे शनि, गुरु और राहु ये हमारे जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव डालते हैं क्यूंकि ये एक समय एक स्थान पर लंबे समय तक टिकता है। उसके बाद इनका स्थान परिवर्तन होता है तो इनकी लाइफ पर इनका हमारी लाइफ पर बहुत गहरा इम्पैक्ट भी रहता है। तो अब गुरु ग्रह की बात करेंगे तो ये लगभग एक वर्ष तक एक ही स्थान पे रहने वाले हैं। 1 अप्रैल को गुरु परिवर्तन करने जा रहे हैं। अब तक गुरु आपके पराक्रम भाव में यानि भाई बहनों के स्थान में स्वग्रही होकर बैठे थे और बहुत अच्छे रिजल्ट आपको दे रहे थे। अब गुरु 21 अप्रैल को आपके सुख स्थान में आकर विराजमान होंगे, लेकिन केन्द्र में गुरु के रिजल्ट बहुत अच्छे मिलते हैं तो गुरु आपके सुख स्थान में बैठकर सुखों में वृद्धि करेंगे। इस समय माता का सुख आप प्राप्त करेंगे। इस समय आपके प्रोपर्टी से संबंधित वाद विवाद और परिस्थितियां विपरीत जरूर होगी। परन्तु इन परिस्थितियों पर आप जल्दी ही नियंत्रण भी प्राप्त कर लेगें। प्रयासों से काम जरुर बनेंगे परन्तु प्रयासों से काम अवश्य बनेंगे। मेहनत में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं करनी है। इस समय कला के क्षेत्र से जुड़े हुए लोगों को अच्छी प्रसिद्धि मान सम्मान प्राप्त होता हुआ दिखाई देगा। गुरू चूंकि आपके द्वादश स्थान के स्वामी हैं और आपके पराक्रम भाव के स्वामी है तो पराक्रम भाव का स्वामी अपने से एक घर आगे जाकर बैठा है। ये भाई बहनों से आपको उत्तरोत्तर लाभ की परिस्थितियां दिलवाएगा। राजनीति में अटके काम आपके द्रुतगति से इस साल सम्पन्न होंगे। इस समय आपकी महत्वाकांक्षाएं पूर्ण होंगी और इच्छाएं पूर्ण होने से आपकी प्रसन्नता भी बढ़ेगी और कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ता हुआ दिखाई देगा। ये समय आपको विदेशों से अच्छा लाभ भी दिलवाता हुआ दिखाई देगा क्योंकि विदेश के भाव के स्वामी है। परन्तु इस समय गुरू आपके खर्चों को भी बढ़ा सकता है। इसलिए थोडा सा अपने खर्चों को नियंत्रित करके चलने का प्रयास करें। यानि अगर आपने अपने मन को काबू कर लिया तो आप अपने खर्चों को भी काबू कर लेंगे तो इस समय आपको सोच समझ कर निवेश करना है। निवेश में जल्दबाजी करने से आपको बचना है।

अब गुरु की दृष्टियों की बात करते हैं तो गुरु की दृष्टियाँ बहुत ही शुभ होती है। गुरु की पंचम दृष्टि आपके अष्टम भाव पर पड़ेगी जो कि आपके अष्टम भाव को और भी अच्छा और बेहतर बनाएगी। चूंकि शनि की दृष्टि पड़ रही है, अष्टम भाव पर वो अच्छा ही कर रही थी और गुरु की दृष्टि से आपका अष्टम भाव और भी अधिक अच्छा हो जाएगा। जो काम बहुत लंबे समय से आप करने का सोच रहे हैं और उसमें किसी न किसी तरीके से व्यवधान आ रहा है। वो काम आपकी द्रुत गति से संपन्न होंगे। इस समय आपके कार्यों में आ रही बाधाएं दूर हो जाएगी। शत्रु भी आपसे मित्रता करने का प्रयास करेंगे। कर्ज की स्थितियों से आपको मुक्ति मिल जाएगी। फाइनेंशियली आप अपने आपको पूरा करते हुए दिखाई देंगे। इस समय यात्राएं अधिक संपन्न होगी परंतु वो यात्राएं आपके लिए सुखद और मंगलमय होगी और इस समय धार्मिक कार्यों पर खर्च अधिक होगा। परंतु वो खर्च आपके लिए बहुत ही अच्छा और शुभ रहेगा तो ये समय ओर गुरु की पंचम दृष्टि के हिसाब से अष्टम भाव का बहुत शानदार परिणाम देगा। अब इस साल गुरु की सप्तम दृष्टि आपके कर्म भाव पर पड़ेगी जो कि आपके काम काज में अच्छी उन्नति और प्रगति दिलवाएगी। काम में वृद्धि कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ा हुआ दिखेगा। इस समय आपके पिता से अगर कोई मतभेद चल रहे थे तो वो खत्म होते हुए दिखाई देंगे। उनके साथ सौहार्दपूर्ण वातावरण बन जाएगा। उनका आपको पूरा सपोर्ट भी इस समय देखने को मिलेगा। नौकरीपेशा लोग जिनका इन्क्रीमेंट रूका हुआ है या फिर प्रमोशन में बाधा उत्पन्न हो रही है या अनचाही ट्रांसफर का सामना कर रहे अब आप मनचाहे ट्रांसफर वापस प्राप्त करना चाहते हैं। जो जगह आपको सही लगती है वहां जाना चाहते हैं तो निश्चित रूप से इससे रिलेटेड आपको अच्छे और सुखद परिणामों की प्राप्ति गुरु की वजह से जरूर होगी।


अब गुरु की नवम दृष्टि पर आते है। नवम दृष्टि आपके द्वादश स्थान पर पड़ रही है जो कि गुरु का ही स्थान है। इस समय विदेशों से बहुत शानदार लाभ की परिस्थितियां आपके लिए बनेगी। विदेश यात्रा का सपना भी आपका पूर्ण होता हुआ दिखाई देगा। जो युवक युवतियां बाहर जाकर पढ़ना चाहते हैं या बाहर नौकरी करना चाहते हैं, उनके लिए भी यह समय उत्तम अवसर दिलवाएगा। इस समय आपके कोई भी मतभेद आपके प्रोफेशनल लाइफ में चल रहे हैं या फिर किसी सहकर्मी के साथ तालमेल नहीं बैठ पा रहा है। तो अब आप एक टीम की तरह काम करेंगे। एक बाधा जो आपके कार्य में कहीं न कहीं आ रही थी वो बाधाएं अब दूर हो जाएगी। अधिकारियों के द्वारा भी आपको प्रसन्नता प्राप्त होगी और उनकी प्रसन्नता से आपके उन्नति के रास्ते तय होते हुए दिखाई देंगे तो रोल गुरु के रिजल्ट भी आपको बहुत ही अच्छे देखने को मिलेंगे। आपको यहां पर हम बता दें कि गुरु राहु का चांडाल योग भी बन रहा है जो थोड़ा सा कहीं न कहीं मुश्किलें पैदा कर सकता है। अटकाव की स्थितियां पैदा कर सकता है परंतु 30 अक्टूबर तक ही ये स्थिति रहने वाली है। उसके बाद नवंबर और दिसंबर में गुरु के रिजल्ट आपको और भी अधिक बेहतर और अच्छे मिलेंगे क्योंकि राहू राशि परिवर्तन कर अब तक में गुरु के साथ भाग्यस्थान में बैठे हैं। वे पराक्रम भाव में जाकर विराजमान हो जाएंगे और पराक्रम भाव में राहु के रिजल्ट बेस्ट देखने को मिलते हैं । थर्ड, सिक्स्थ और इलेवंथ हाउस में बहुत ही अच्छे रिजल्ट देते हैं तो राहु के उत्तम परिणामों की वजह से इस समय कोई भी रिस्की इन्वेस्टमेंट में आप हाथ डाल सकते हैं। वो रिस्की इन्वेस्टमेंट निश्चित रूप से आपके लिए सकारात्मक और लकी रहेगा। इस समय अगर कोई नेता, राजनीति में स्ट्रगल कर रहे हैं तो उनके स्ट्रगल खत्म हो जाएगा। आपके संबंध और अधिक सुदृढ़ होंगे। कुछ बड़ी जिम्मेदारी आपको सौंपी जा सकती है। यानि राजनीति के द्वार आपके खुलते हुए दिखाई देंगे और बहुत ही सकारात्मक रिजल्ट आपको इस समय देखने को मिलेंगे। राजनेताओं के साथ में उठना बैठना रहेगा और उसकी वजह से आपके कई काम यूं ही चुटकियों में हो जाएंगे। इस समय भाई बहनों के साथ में आपके मतभेद खत्म हो जाएंगे। उनके द्वारा आपको हर जगह सपोर्ट देखने को मिलेगा। अगर आप पैतृक व्यवसाय साथ में करते हैं तो उनकी और आपकी एकता की वजह से आप अपने व्यवसाय को नई उंचाई तक ले जाने में सफल होंगे तो राहू के बहुत ही अच्छे रिजल्ट आपको इस वर्ष देखने को मिलेंगे।


2023 के कुछ विशेष उपाय

  • शनि आपके राशि स्वामी है उनको प्रसन्न रखना बेहद आवश्यक है। रोजाना पीपल के वृक्ष के नीचे आपको सरसों के तेल का दीपक संध्याकाल के समय जरूर लगाना चाहिए। चूंकि आपको शनि की साढ़ेसाती भी चल रही है, इसीलिए ये उपाय आपके लिए बेहद आवश्यक हो सकता है क्योंकि इससे आपकी राशि स्वामी प्रसन्न भी होंगे और शनि की साढ़े साती के दुष्प्रभाव से भी आपको मुक्ति मिलेगी।
  • दूसरा उपाय आपको जब भी अमावस्या का दिन हो या फिर आप शनिवार के दिन तालाब जाएं वहां पर अगर मछलियां हैं तो वहां पर काले कपड़े के अंदर काले चने और एक लोहे की कील डालकर उस कपड़े को बांध कर उस तालाब में डाल दें। ये भी शनि का बहुत अच्छा उपाय माना जाएगा।
  • शनिवार के दिन शनि देव को आपको इमरती जरूर चढ़ानी चाहिए। इससे भी उनकी प्रसन्नता में वृद्धि होगी।
  • साथ ही अगर हो सके तो काली वस्तुओं का दान आप जरूर करें।
  • सफाईकर्मियों का हमेशा सम्मान करें और आपके घर के द्वार के बाहर अगर कोई भी मांगने वाला गरीब व्यक्ति जरूरतमंद व्यक्ति आता है | तो उसे कभी भी खाली हाथ न जाने दें।
  • आपको शनि के बीज मंत्र का भी जाप करना चाहिए।
  • आपको गुरूवार के दिन गाय को आटे के अंदर हल्दी मिलाकर उसे गूंद कर उसमें चने की दाल या फिर सिके हुए चने डालकर गायों को जरुर खिलाना चाहिए। ये आपको गुरूवार से गुरूवार जरूर करना चाहिए।
  • साथ ही आपको भगवान विष्णु पर दक्षिणावर्ती शंख में केसर मिश्रित दूध भरकर उससे अभिषेक करना चाहिए। इससे भगवान विष्णु की प्रसन्नता आप पर बनी रहेगी और गुरू आपको बहुत अच्छे और सुखद परिणाम देंगे।
  • आपके गुरुजनों का आपके घर के पूर्वजो का आपको रोजाना आशिर्वाद लेकर ही अपने घर से बाहर निकलना चाहिए। इससे आपके काम द्रुतगति से सम्पन्न होंगे।
  • गुरू राहू चांडाल योग निवारण यंत्र को अपने पूजा कक्ष में आप जरुर स्थापित करें और नित्य प्रति इसके दर्शन जरुर करें। हो सके तो गुरू के और राहु के बीज मंत्र का जाप भी करें

Note: Daily, Weekly, Monthly, and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) (Kundali Making) (Kundali Milan) or contact Pandit NM Srimali  WhatsApp No. 9929391753, E-Mail- [email protected]

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Related Posts