Pandit NM Shrimali – Best Astrologer in India

Free Shipping above 1999/-

Mesh Rashi July 2023 Hindi blog | मेष राशि जुलाई 2023 राशिफल | Aries July Horoscope | by Nidhi Shrimali

Mesh Rashi July 2023 Hindi blog

नमस्कार स्वागतम वेलकम जुलाई का महिना आने वाला है और हम लगभग आधे साल तक पहुँच गए हैं। इन छह महीनों में हम अगर अपना मुल्यांकन करें तो कई बातों में हमने नुकसान प्राप्त किया होगा, कई गलतियाँ हमने की होगी और कई अच्छे पल भी हमने हमारे जीवन में पाए होंगे तो हमें आगे बढ़ना है एक पॉजिटिविटी के साथ परन्तु हमारी गलतियों को, हमारी असफलता को भी हमें नहीं भूलना है क्यूंकि उन गलतियों को सुधार कर ही हम उस असफलता को सफलता में परिवर्तित करेंगे। परन्तु पॉजिटिविटी के साथ तो आज भी हम आपके लिए लेकर आये है  जुलाई माह में मेष राशि वालो का मासिक राशिफल और इस विडियो के दौरान हम आपको बताने वाले है  जुलाई माह के कैलेण्डर की जानकारी यानि व्रत और त्योहारों की जानकारी जुलाई माह में कौन से ग्रह किस राशि में जाने वाले हैं, ग्रहों के राशि परिवर्तन की जानकारी और उन राशि परिवर्तन के आधार पर मेष राशि वालो का जुलाई माह का मासिक राशिफल कैसा रहेगा उसके बारे में बताएंगे और अंत हम आपको लकी दिन  लकी कलर और कुछ इस माह में किए जाने वाले विशेष उपायों की जानकारी बताएंगे तो सबसे पहले व्रत और त्योहारों पर आते हैं। चूंकि जुलाई माह में आने वाले हैं तो जुलाई माह में एक बार कैलेण्डर की तरफ बढ़ते हैं। 3 जुलाई को गुरु पूर्णिमा का व्रत किया जायेगा। गुरु पूर्णिमा अपने आप में गुरु को समर्पित की जाने वाला दिन होता है। इस दिन हम हमारे गुरु का वंदन करते हैं, उन्हें नमन करते हैं ताकि गुरु का आशीर्वाद मिले और हम हमारे जीवन में आगे बढ़ सकें। 4 जुलाई को श्रावण मास प्रारंभ होने वाला है जो कि शिव का सबसे प्रिय महीना माना जाता है और शिव भक्तों के लिए यह समय बहुत ही महत्व का होता है। इस बार 7 जुलाई को नागपंचमी का पर्व मनाया जायेगा। नाग पंचमी के दिन काल सर्प पूजा भी की जाती है। यानि जिनको काल सर्प दोष निवारण करना हो उनके लिये नाग पंचमी का दिन बहुत ही उपयुक्त रहता है। 10 जुलाई को पहला सावन सोमवार आएगा जो की बहुत ही महत्व का रहेगा। 13 जुलाई को कामदा एकादशी का पर्व मनाया जायेगा। वहीं 17 जुलाई को दूसरा श्रावण सोमवार मनाया जायेगा। 17 जुलाई को हरियाली अमावस्या, सोमवती अमावस्या और पित्र दोष पूजा या कालसर्प दोष निवारण पूजा का भी विधान रहेगा। 18 जुलाई को अधिक मास प्रारंभ हो जायेगा। 24 जुलाई को तीसरा श्रावण मास आएगा और 31 जुलाई को चौथा श्रावण मास मनाया जायेगा। अधिकमास श्रावण मास में आ रहा है तो शिव भक्तों को दो महीने इस श्रावण में भगवान शिव की भक्ति के मिल जायेंगे। साथ ही अधिकमास है क्योंकि भगवान विष्णु का ये मास कहलाता है इसलिए इस बार श्रावण महिना बहुत ही इम्पोर्टेन्ट रहने वाला है क्यूंकि हम भगवान विष्णु और भगवान शिव दोनों की कृपा इस माह प्राप्त करेंगे। और साथ ही 7 जुलाई को नाग पंचमी और 17 जुलाई को हरियाली अमावस्या का दिन आ रहा है और इस दिन काल सर्प दोष निवारण की पूजा और पित्र दोष निवारण की पूजा का आयोजन हमारे संस्थान में किया जा रहा है। तो अगर आप इन दोषों से पीड़ित हैं तो सामूहिक पूजा में भाग लेकर आप इन दोषों का निवारण करवा सकते हैं।

अब आगे और जान लेते हैं इस माह में ग्रहों की स्थिति कैसी रहने वाली है। तो सबसे पहले ग्रहों के राजा सूर्य की बात करें तो वे वर्तमान में अपनी राशि मिथुन में विराजमान हैं और 17 जुलाई को वे अपनी अति मित्र राशि कर्क में प्रवेश करेंगे। बुध ग्रह की बात करें तो वे वर्तमान में अपनी खुद की राशि मिथुन में विराजमान हैं और 8 जुलाई को वे अपनी सम राशि कर्क में प्रवेश करेंगे। पुनः राशि परिवर्तन कर 25 जुलाई को सिंह राशि में प्रवेश कर जायेंगे। मंगल ग्रह की बात करें तो वे अपनी नीच की राशि कर्क में विराजमान हैं और 1 जुलाई को यानि महीने की एक तारीख को ही वे अपनी अति मित्र राशि सिंह में प्रवेश कर जायेंगे। मेष और वृश्चिक राशि वालो के लिए थोडा सा रिलैक्सिंग टाइम रहेगा। अब तक जो मुश्किल समस्याएं चल रही थीं उनसे मुक्ति मिल जाएगी।  शुक्र ग्रह की बात करें तो वर्तमान में कर्क राशि में विराजमान हैं और 7 जुलाई को अपनी सिंह में प्रवेश करेंगे। गुरु ग्रह  इस पूरे माह अपनी अति मित्र राशि मेष में विराजमान रहेंगे। वहीं शनि अपनी मूल त्रिकोण की राशि कुम्भ में विराजमान रहेंगे। राहू और केतु अपनी राशियाँ और तुला में इस माह विराजमान। रहने वाले हैं। तो ये हैं इस माह की ग्रह गोचर की स्थति का हाल |

शुरू करते हैं मेष राशि वालो का जुलाई माह का मासिक राशिफल। सबसे पहले हम आपको बता दे कि ये जो हम आपको राशिफल बता रहे है ये चंद्र गणनाओं पर आधारित है और आपकी राशि और लग्न दोनों के हिसाब से समान रूप से प्रभावशाली भी है। अब सबसे पहले आपकी राशि की बात करें जिसमें गुरू रोग, चंडाल योग तो ऑलरेडी बना हुआ है। 21 अप्रैल को जब गुरु का राशि परिवर्तन हुआ तो उसके साथ ही ये योग प्रारंभ हो गया था तो थोड़ा सा गुरु कहीं न कहीं राहू के प्रभाव से ग्रसित होते हुए दिखाई दे रहा है। जैसे गुरु के रिजल्ट मिलने चाहिए वैसे नहीं मिलेगा और ये चांडाल योग बनने की वजह से मेष राशि वालों को कठिनाई का सामना कार्यक्षेत्र में जरूर करना पड़ रहा था और अब तक तो आपकी राशि स्वामी भी नीच के थे जो कि आपके मार्ग में बाधाएं ला रहे थे। आपके क्रोध अग्रेशन के कारण आपके काम बिगड़ रहे थे पर अब मंगल चूंकि 1 जुलाई को ही यानि महीने के प्रारंभ में आपकी राशि स्वामी राशि परिवर्तन कर आपके पंचम भाव में जाकर विराजमान होंगे और लग्नेश का अपने से पंचम जाकर बैठना बहुत ही अच्छा। इस समय आपकी पावर में वृद्धि होगी। आप जो भी काम करने की ठानी आगे उसे करके ही दम लेंगे। कठिनाइयां आएगी। आपका कॉन्फिडेंस लेवल बहुत अप रहेगा और इस कॉन्फिडेंस लेवल के कारण आप सफलता तय करते चले जाएंगे। सफलता को सुनिश्चित करेंगे। यहां पर जो भी काम आपके अधूरे रह गए। अब तक जो समस्याएं आपकी लाइफ में चल रही थी वो सभी अब पटरी पर आ जाएगी। और आपकी लाइफ स्मूदली चलना प्रारंभ हो जाएगी। खेल कूद के माध्यम से आप अच्छी प्रसिद्धि हासिल करेंगे। यदि आप अच्छे खिलाड़ी हैं, स्पोर्ट पर्सन हैं तो नैचुरली ये समय आपके लिए बहुत सपोर्टिंग रहेगा और खेल कूद में आपको सम्मानित भी किया जा सकता है। आपकी परफॉर्मेंस बहुत इम्प्रूव होगी। यहां पर कोई भी काम आप करें तो उस काम में आप अपने घर के बड़ों को जरूर शामिल करें। उनकी सहायता से आप कोई भी कार्य करेंगे तो उसमें आप सफलता को दुगना पाएंगे। अब मंगल चूंकि आपके अष्टम भाव के स्वामी हैं तो अष्टमेश का अपने से दसम जाकर बैठना आपके लिए बहुत ही अच्छा है। आपके कार्य सफलता को दुगना करेगा। वही यात्रायें जो भी उद्देश्य से होंगी वो निश्चित रूप से आपके पूर्ण होते हुए दिखाई देंगे। इस समय इम्पोर्टेन्ट मीटिंग्स के लिए आपको बाहर जाना पड़ सकता है। आप अपनी कंपनी को रिप्रजेंट करेंगे। अगर आप कोई बड़े मैन्यूफैक्चरर्स हैं तो इस समय नई मशीनरी की खरीदारी आपके द्वारा की जा। सकती है। जिससे आपके काम को विस्तार रूप मिलता हुआ दिखाई देगा जो कि आपके लिए पॉजिटिव रहेगा। आप इस समय वाहन चलाते समय सावधानी रखें। और नए वाहन की खरीदारी आपके लिए इस समय संभव है।

अब बढ़ते हैं आगे और आते हैं धनभाव पर धन भाव के स्वामी हैं शुक्र जो कि लग्नेश के साथ में धनेश की युति करते हुए पंचम भाव में जाकर बैठे हैं। शानदार परिस्थिति है तो वैसे भी धनेश अपने से चतुर्थ बैठे और फिर लग्नेश के साथ में जो शुक्र की युति हो रही है ये आपके लिए बहुत परिणामदायक रहने वाली है। इस समय आपके काम को अच्छी गति और दिशा मिलेगी। प्रमोशन इन्क्रीमेंट के योग तो मिलेंगे खासकर जो टेक्निकल फील्ड से जुड़े हुए हैं। चाहे आप इंजीनियरिंग करें चाहे माइनिंग डिपार्टमेंट में, अगर आप काम कर रहे हो या फिर कोई कंस्ट्रक्शन कंपनी में आपका जॉब हो या फिर आप कोई संबंधित काम कर रहे हैं। डेफिनेटली ये समय आपके लिए बहुत सपोर्टिव रहने वाला है। आपके बॉस आपके कार्यों की प्रशंसा करेंगे। कोई बड़ी अपॉर्च्युनिटी आपको इस समय मिलती हुई दिखाई देगी। धनागमन के नए नए स्त्रोत आपको मिलते हुए दिखाई देंगे। बड़े बड़े ऑर्डर आप इस समय लेकर आएंगे। अगर आप अपना बिजनेस कर रहे हैं तो बिजनेस को भी आपको विस्तार रूप प्रदान करते हुए दिखाई देंगे। यहां घर की महिलाओं को भी आप प्रसन्नचित रखेंगे और उनके लिए सोने, आभूषण या कुछ गिफ्ट की खरीदारी आपके द्वारा इस माह की जा सकती है। अब शुक्र चूंकि आपके सेवन के लौट हैं, सप्तमेश अपने से 11वें जाकर बैठा है। यहां पर लव लाइफ के लिए महीना शानदार रहने वाला है। आपको अपनी लव रिलेशनशिप में बहुत बड़ी सफलता इस माह मिलेगी। यदि आप ऑलरेडी सीरियस रिलेशनशिप में हैं और उसे विवाह में परिणित करना चाहते हैं तो डेफिनेटली आपके पारिवारिक सदस्यों की सहमति आपको जरूर मिल जाएगी। वहीं दाम्पत्य जीवन में माधुरी के भाव बने रहेंगे। हालांकि केतु उसमें बैठे हैं वो कहीं न कहीं लाइफ पार्टनर के साथ कभी कभी ट्रेनिंग जरूर लेकर आएंगे परन्तु वो आपकी बॉन्डिंग को कम नहीं कर पाएगी। उल्टा आपकी बॉन्डिंग इन छोटी मोटी टकरार से और भी अधिक सुंदर और और भी अधिक गहरी होती हुई दिखाई देगी। इस समय व्यापारी वर्ग अगर अपना नया कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो वे स्वतंत्र रूप से काम करें न कि पार्टनरशिप में यदि आप इंडीविजुअल जो भी काम करेंगे तो आप उसमें बहुत अच्छी सफलता प्राप्त करेंगे। परंतु यदि आप पार्टनरशिप में काम करेंगे तो डेफिनेटली पार्टनरशिप खंडित हो सकती है। आगे चलकर आपके पार्टनर से धोखा मिल सकता है और कुल मिलाकर बिजनस में नुकसान की स्थितियां बन सकती है। थोडा सा संभलकर आगे बढने की आवश्यकता है।

अब आते हैं आपके तृतीय भाव पर जो कि है पराक्रम का स्थान और इस भाव के स्वामी हैं बुध जो कि महीने के प्रारंभ में ही यानि 8 जुलाई को ही अपनी सम राशि में प्रवेश कर जाएंगे। अब तक बुध बैठे थे आपके पराक्रम भाव में स्वगृही होकर अब यहां पर आपकी पावर को बढ़ा लेते। बुद्धिमता को बढ़ा देते हैं। बहुत सोच समझ कर ले रहे थे। बहुत कैलकुलेटेड होकर चल रहे थे। परंतु अब भी बुध के रिजल्ट आपको अच्छे मिलेंगे क्योंकि बुध आ जाएंगे आपके सुख स्थान में, सुखों में आपके बढ़ोतरी करेंगे। परंतु यहां पर आपके भाई बहनों के साथ आपकी ट्यूनिंग को भी और अधिक अच्छा और बेहतर बनाएंगे। छोटे भाई बहनों से आपके रिश्तों में और अधिक प्रगाढ़ता आएगी यानी आपकी बॉण्डिंग और अधिक बेहतर होती हुई दिखाई देगी। आपकी इच्छाएं पूर्ण होंगी। कलाकारों के लिए यह समय मान सम्मान और प्रसिद्धि दायक रहेगा। अब वो बुध महीने के लास्ट में यानी 25 जुलाई को पुनः राशि परिवर्तन कर सिंह राशि में यानी सूर्य की राशि में प्रवेश। कर जाएंगे। और यहां पर भी बुध के रिजल्ट आपको बहुत ही बेहतर देखने को मिलेंगे।

अब आते हैं आपके रोग भाव पर क्योंकि रोग भाव के स्वामी बुध ही हैं। अपने से 11वें महीने के प्रारंभ में यानी 8 जुलाई को जा रहे हैं। यहां पर बुध का अपने से 11 जाकर बैठना, रोग भाव के स्वामी का अपने से 11 जाकर बैठना आपके मार्ग में आने वाली कठिनाइयों को दूर कर देगा। वही इस समय आप सफलता के शिखर पर पहुंचेंगे। यहां पर काम काज में आ रही दिक्कतें, परेशानियां समाप्त तो हो जाएगी। कर्ज की स्थितियों से मुक्ति मिलेगी। इस समय गलत मित्रों की संगति भी समाप्त हो जाएगी और बहुत सोच समझ कर बैलेंस करते हुए आप रुपए पैसों से संबंधित कार्य करेंगे। जिससे नुकसान की स्थितियां भी आपके जीवन से समाप्त हो जाएगी। यानि बुध के भी बहुत अच्छे परिणाम आपको इस माह देखने को मिलेंगे। अब आते हैं आपके सुख स्थान पर। सुख स्थान की अगर हम बात करे तो सुखेश हैं आपके चंद्रमा और सुख के स्थान में जाकर बैठा है बुध जो कि बुद्धिमता से संबंधित कार्यों में आपको बड़ी सफलता दिलवा सकते है। मां से आपको पूरा सपोर्ट देखने को मिलेगा। मां आपके सामाजिक मान सम्मान को बढ़ाए रखने में भी आपकी सहायता करेगी। इस समय आपके सुखों में वृद्धि होगी। लग्जीरियस लाइफ़ में आप वृद्धि करते हुए दिखाई देंगे। इस समय आप बहुत सोच समझ कर निर्णय लेंगे, जिससे फाइनेंशियली भी आप बहुत सिक्योर चलेंगे। हालांकि मेंटली कभी कभी वर्क प्रेशर आप पर हावी हो सकता है, परन्तु आप उसे बैलेंस कर ही लेंगे। इस प्रेशर से आप घबराएंगे नहीं। आपका कॉन्फिडेंस लेवल बना हुआ दिखाई देगा और उल्टा आप अपने कॉन्फिडेंस से सभी कार्यों को बनाने में सफलता हासिल करेंगे। तो ये है सुख स्थान के रिजल्ट।

अब आते हैं आपके पंचम भाव पर पंचम भाव के स्वामी हैं सूर्य जो कि 17 जुलाई को राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। सूर्य वर्तमान में अपने से 11वें जाकर बैठे हैं और 17 जुलाई तक का समय आपके लिए बहुत अच्छा है। खासकर मेडिकल के स्टूडेंट्स के लिए यह समय उत्तम सफलता के योग लेकर आया है। परंतु सूर्य 17 जुलाई को जब आपके सुख स्थान में आएंगे तो वे कहीं न कहीं आपके सुखों में प्रिपरेशन कर सकते हैं। हालांकि सूर्य बुध का बुधादित्य योग उस समय बनता हुआ दिखाई देगा क्योंकि बुध ऑलरेडी आपके सुख स्थान में बैठा है। पर फिर भी। आपको कहीं न कहीं इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का ध्यान रखना होगा। वे खराब हो सकते हैं। उनकी मरम्मत का कार्य आ सकता है। इसलिए उसके प्रति सावधान रहें। करियर के तौर पर थोड़ा सा फोकस अधिक होना चाहिए। जॉब की जो लोग तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए भी यह समय थोड़ा ज्यादा मेहनत करने का रहेगा। वरना आप अपने मनोनुकूल परिणामों से चूक जाएंगे। यहां पर मेहनत जितनी अच्छी करेंगे उतना ही परिणाम आपको प्राप्त होगा। इसी लिए मेहनत में किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें।

अब आते हैं सीधा भाग्य स्थान पर अब भाग्येश गुरु की बात करते हैं जो कि आपके खर्चे भाव के स्वामी हैं। और खर्च भाव का स्वामी अपने से गुज़रेंगे और भाग्येश अपने से पंचम जाकर बैठे हैं। यहां पर भाग्येश का अपने से पंचम जाकर बैठना बढ़िया पर जैसा कि आपको मैंने पहले ही बताया कि गुरु के रिजल्ट राहु से प्रभावित हो रहे हैं तो जैसे रिजल्ट आपको चाहिए वैसे तो नहीं मिलेंगे पर मेहनत का फल जरुर मिलेगा। इसलिए कर्मप्रधान तो आपको बनना ही होगा जो हायर एजुकेशन से जुड़े हुए छात्र छात्राएं अपने जीवन में लक्ष्य की प्राप्ति करना चाहते हैं, उन्हें अपने प्रयासों को थोड़ा तेज करना होगा और भाग्य के भरोसे न बैठकर कर्म प्रधान बनेंगे तो आपको रिजल्ट और भी अधिक जल्दी मिलेंगे। विदेशी कंपनियों के साथ आपका अच्छा टायप रहेगा। वहां गुरू आपको अच्छे परिणाम देंगे। वहीं विदेश यात्रा के भी योग बनते हुए दिखाई देंगे। छोटी बड़ी यात्राएं संभव हो सकती है।

अब आते हैं आपके श्रम और एकादश भाव पर कर्म, भाव और लाभ भाव के स्वामी हैं शनि जो कि लाभ भाव में स्वग्रही होकर विराजमान हो रहे हैं। शनि का लाभ भाव में स्वग्रही होकर बैठा आपके कर्म और लाभ को दोनों ही परिस्थितियों को बढ़ाता हुआ दिखाई देगा। जितना अच्छा करेंगे उतना अच्छा लाभ प्राप्त करेंगे। यहां लेवल और सर्कल बढ़ेगा। बड़े भाई बहनों से भी आपको फाइनेंशियली सपोर्ट रहेगा। इस समय कुछ इम्पोर्टेन्ट मीटिंग्स से यात्रायें संभव है और वो यात्रायें आपके लिए सक्सेसफुल रहेगी। इसमें बाधाएं कितनी भी आएं आप इन बाधाओं को पार कर अपनी मंजिल को हासिल करते हुए दिखाई देंगे। तो शनि के रिजल्ट भी आपको इस माह में बहुत ही शानदार और बेहतरीन देखने को मिलेंगे। अब ये तो हुई मेष राशि वालो के जुलाई माह के मासिक राशिफल की बात।

शुभ तारीखे :- 3 से 8 तारीख, 12 तारीख , 17 तारीख , 21 से 24 तारीख 30 और 31 तारीख |

अशुभ तारीखे :- 1 तारीख , 2 तारीख , 9 तारीख , 11 तारीख , 13 तारीख , 16 तारीख , 18 तारीख , 20 तारीख , 25 से 29 तारीख

शुभ रंग :-  रेड, औरेंज, टमाटर, मरून।

उपाय

  •  भगवान शंकर का गंगा जल से अभिषेक जरूर करें।
  • हरियाली अमावस्या पर खीर बनाकर रोटी पर रखकर गाय को जरूर खिलाएं।
  • गुरु पूर्णिमा के दिन किसी गरीब जरूरतमंद को पीली वस्तु जैसे चने की दाल, बेसन, पीले वस्त्र, पीले रंग की मिठाई, गुड़ आदि का दान जरूर करें।
  • सावन के महीने में अनाज में चावल का दान जरुर करें।
  • एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा आराधना जरूर करें।

Note: Daily, Weekly, Monthly and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) or contact Pandit NM Shrimali  Whatsapp No. 9929391753, E-Mail- info@panditnmshrimali.com
Connect with us at Social Network:-

Contact : +918955658362 | Email: info@panditnmshrimali.com | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali