Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured

शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog | Shukra Rashi Parivartan 23 May 2022 | मीन से मेष में प्रवेश

[vc_row][vc_column][vc_column_text]

शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog


mesh rashi aries | Panditnmshrimali

मेष राशि – आपकी राशि के लिए शुक्र द्वितीय और सप्तम भाव के स्वामी हैं और आपकी राशि में जाकर बैठ है तो आपकी राशि में ऑलरेडी राहु बैठे हैं। शुक्र भी साथ में जाकर बैठे हैं तो थोड़ा सा आपके राहु के साथ में झड़ते योग का निर्माण कर रहे हैं। इस समय आलसीपन आपके अन्दर आलस का वास अधिक होना काम को कम करने की प्रवृति मौज शौक, मनोरंजन जैसे कार्यों में ही आपका मन लगना अपने कर्तव्य से विमुख हो जाना ऐसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न कर सकता है। सो शुक्र तो थोड़ा सा आपको संभलकर रहना है। हालांकि कुटुम्ब में मान सम्मान आप का बढ़ता हुआ दिखाई देगा। इस समय किसी रिश्तेदार से मनमुटाव हो सकता है पर आप समय रहते परिस्थितियों को सामान्य भी कर लेंगे। शुक्र सप्तम भाव के स्वामी और सप्तम भाव पर उनकी दृष्टि भी साथ में राहु की दृष्टि है तो जीवनसाथी के साथ आपकी ट्यूनिंग तो अच्छी रहेगी, परन्तु कभी कभी मिसअंडरस्टैंडिंग क्रिएट हो सकती है कि वो आपके प्रति थोड़ा सशंकित हो सकते हैं। थोड़ा सा ओर रियेक्ट कर लेना ऐसी परिस्थितियां जरुर उत्पन्न हो सकती है। थोड़ा सा इस मामले में संभलकर चलें और जो शुक्र से रिलेटेड काम करते हैं जो कि मैंने भी आपको वीडियो के प्रारंभ में बताया। अगर आप शुक्र से रिलेटेड कोई भी काम करता है तो ये समय थोड़ा सा आपके लिए संभल कर चलने वाला रहेगा। कोई भी डिसीजन गलत नहीं है और आपको डरने की आवश्यकता नहीं है। अपने कॉन्फिडेंस लेवल को बनाए रखें। बोर होने की आवश्यकता नहीं है, परन्तु डरने की भी आवश्यकता नहीं। आप जो भी डिसीजन लिया उसमें परिवार को शामिल करें। वो आपको सही डिसीजन पर पहुंचाएंगे। मेष राशि वालों को शुक्र को इम्प्रूव करने के लिए क्या करना चाहिए। इस जड़त्व योग को खत्म करने के लिए क्या करना चाहिए। आपको देवी सरस्वती की पूजा आराधना करनी चाहिए और सफेद फूल जरुर अर्पित करें। राधा कृष्ण को तुलसी की मंजूरियां जरूर चढ़ाएं। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

This image has an empty alt attribute; its file name is vrishabh-rashi-taurus-300x267.png

वृषभ राशि – आपकी राशि में शुक्र आपकी राशि स्वामी हैं और सप्तम भाव के स्वामी हैं तो राशि स्वामी यानी लग्नेश से 12 वा जाकर बैठना। इतना अच्छा नहीं पर 12वें भाव में शुक्र के रिजल्ट अच्छे मिलते हैं तो यह आपको विदेश से लाभ दिलवा सकता है। विदेश यात्राएं करवा सकता है, परंतु इस समय आपको विदेश यात्रा में ध्यान रखना है कि काम पर कोर्ट जाना है। उस जगह को आप थोड़ा सा अवॉइड करें। वहां जाना अवॉइड करें क्योंकि क्योंकि इस समय आपको कोई ढो सकता है। इस समय नौकरीपेशा लोगों को अपने अधिकारियों से तालमेल बनाकर चलना पड़ेगा, वरना अधिकारी से आपकी ट्यूनिंग बिगड़ सकती है। कहीं न कहीं नौकरी में दिक्कत है। परेशानियां खड़ी हो सकती है। इस समय आपको अपने कर्ज के प्रति भी सावधान रहना है। अनर्गल खर्च से बचना है और किसी से भी बहुत अधिक उधार लेने से बचना है क्योंकि लोन की परिस्थिति के अंदर आपको कोल लोन को चुकाने में बहुत समय बर्बाद हो जाएगा और आपकी ग्रोथ लगभग रुक सी जाएगी। इस मामले में आपको संभलकर रहना होगा। इस समय आपको इंटरनल प्रॉब्लम होना स्वास संबंधित पार्ट्स पर प्रॉब्लम होना खासकर लेडीज को जो पीरियड की प्रॉब्लम होती है। पाइल्स की प्रॉब्लम होना या फिर दाद खाज खुजली इचिंग इस तरह की कुछ प्रॉब्लम होना तो यह स्वाभाविक है। थोड़ा इस मामले में भी हाइजीन रहने का प्रयास करें और अपना स्वास्थ विशेष रूप से अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कन्याओं को सफेद वस्त्र आपको दान करने चाहिए। यह शुक्र का बहुत अच्छा उपाय है। आप करेंगे तो शुक्र के और बेहतर रिजल्ट आपको प्राप्त होंगे।

This image has an empty alt attribute; its file name is mithun-rashi-gemini-300x267.png

मिथुन राशि – शुक्र द्वादश और पंचम भाव के स्वामी है और लाभ भाव में जाकर बैठे हैं। लाभ में हर ग्रह अच्छे रिजल्ट ही देता है, परंतु द्वादशेश और अपने से 12 वे जाकर बैठे हैं तो इस समय आपको अपने खर्चों पर थोड़ा सा नियंत्रण रखना है। अनर्गल चीजों की खरीदारी से आपको बचना है। खासकर कपड़ों की खरीदारी से बचें। अगर आपके पास में हैं तो ज्यादा खरीदना अवॉइड करें। इस समय बच्चों को जो छात्र कला के क्षेत्र में हैं और कला वर्ग के हैं, उनके लिए यह समय बढ़िया रहेगा। कला के क्षेत्र में अच्छी उन्नति प्रगति करते हुए दिखाई देंगे और आपका नाम और प्रेम बनता हुआ दिखाई देगा। एक ब्रैंडिंग आपकी हो जाएगी और आपकी प्रसिद्धि इस समय चरम पर रहेगी। वहीं संतान अगर आपके कला के क्षेत्र में है तो उसे प्रोत्साहित करें। चूंकि वो कला में बहुत निपुण हो सकती है और आपका नाम रोशन कर सकती है। इसीलिए आपको अपने बच्चों के प्रति भी थोड़ा ज्यादा अवेयर रहना है। उनके साथ समय व्यतीत करें। उनका थोड़ा सा अधिक ख्याल रखें। अपने माथे पर सफेद चंदन का तिलक जरूर लगाएं। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

 

This image has an empty alt attribute; its file name is kark-rashi-cancer-300x267.png

कर्क राशि –  आपकी राशि के लिए शुक्र एकादश और चतुर्थ भाव के स्वामी हैं और शुक्र आपके कर्म भाव में जाकर विराजमान हो रहा है। एकादश और चतुर्थ स्थान बहुत इम्पोर्टेन्ट होता है। सुखों का स्थान होता है। शुक्र की सप्तम दृष्टि पड़े परंतु राहू की भी साथ में पड़ रही है। शुक्र राहू का जड़त्व योग कर्म भाव में बना हुआ जो कामकाज में दिक्कतें परेशानियां ला सकता है। लाभ की स्थिति को कभी कभी अटका सकता है। यानी आपको हंड्रेड परसेंट श्योर है कि इस काम में आपको लाभ मिलेगा, परंतु और वो पैसा रिलीज होते होते रुक जाए तो लाभ की स्थितियां थोड़ी सी अटक जाएगी। ऐसी परिस्थितियां आपको अपने जीवन में इस समय देखने को मिल सकती है में शुक्र की दृष्टि अपने ही घर पर है। साथ में राहु की भी है, इसलिए आपको इसका निवारण जरूर कराना चाहिए। सुखों में फ्लक्चुएशन हो सकता है पर फाइनली आपको अपने सुखों की प्राप्ति जरूर होगी। इस समय घर में नए नए संसाधनों को आप जुटाने में लगे रहेंगे। आपको क्या करना चाहिए? दूध का दान आप करें और भगवान शिव पर दूध जरूर चढ़ाएं।

This image has an empty alt attribute; its file name is singh-rashi-leo-300x267.png

 सिंह राशि – आपके लिए शुक्र दशम और तृतीय स्थान के स्वामी है और शुक्र नवम भाव में जाकर बैठा है। बहुत बढ़िया ये टाइम पीरियड आपके लिए रहने वाला है। पराक्रम में वृद्धि आपकी होगी। भाई बहनों का सहयोग मिलेगा। परिवार के साथ मॉडलिंग और अधिक बेहतर होती हुई दिखाई देगी। परंतु कामकाज के मामले में कन्फ्यूजन की स्थिति बनी रहेगी। डिसीजन मेकिंग थोड़ी सी भी हो सकती है। इस समय अपने कार्यों में आपको सजगता लानी पड़ेगी। आलस्य को त्याग दें। काम को जुटाने की प्रवृत्ति आपकी है। उसका त्याग आपको करना पड़ेगा तभी आप  कार्यों में सफलता हासिल करेंगे वरना आपको नुकसान की स्थितियां देखने को मिल सकती है। आपको क्या करना चाहिए। नियमित रूप से गायों को चारा खिलाना चाहिए। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

This image has an empty alt attribute; its file name is kanya-rashi-virgo-300x267.png

कन्या राशि –  द्वितीय और नवम भाव के शुक्र स्वामी हैं और अष्टम भाव में जाकर बैठा है। इस समय आपके भाग्य के हिसाब से आपके धन के हिसाब से अच्छा नहीं है। धन स्थान पर शुक्र राहु दोनों की दृष्टि पड़ रही है, परंतु शुक्र अस्त में बैठकर आपके धन में फ्लक्चुएशन लेकर आ रहा है। रोजमर्रा के रुटीन जो लाभ है वो आपका ग्रह कुटुम्ब से आपका तालमेल बिगाड़ रहे हैं। रिश्तेदारों के साथ में आपकी ट्यूनिंग बिगड़ है। किसी न किसी प्रकार से क्रिएट कर रहे हैं, जिससे आप अगर गलती नहीं भी करें तो भी आपकी छवि खराब हो रही है तो ऐसी परिस्थितियां शुक्र आपके जीवन में थोड़ा सा आपको अवश्य रहना चाहिए। साथ ही शुक्र शुक्र आपके भाग्येश भी है और भाग्येश का सिस्टम जाकर आपको कर्म प्रधान बनना पड़ेगा। भाग्य के भरोसे बैठे तो आपके काम नहीं होंगे और कामों में नुकसान होगा। इस समय रिस्की कामों में हाथ डाले। शेयर मार्केट, लॉटरी जैसे कार्यों में इन्वेस्टमेंट करने से बचें। पहले अपने अधूरे पड़े हुए कार्यों को पूरा करें। उसके बाद नए कार्य की शुरुआत करें। उसके बाद ही आपको कुछ नई योजनाओं को क्रियान्वित करना चाहिए। पर पहले आपका काम के पेंडिंग कार्यों की लिस्ट को खत्म कर दें। अगर वो खत्म नहीं की तो पेंडिंग पड़े हुए कामों की लिस्ट और लंबी हो जाएगी तो आपको क्या करना चाहिए। चंदन का इत्र आपको लगाना चाहिए और कन्याओं को आपको भोजन कराना चाहिए।

This image has an empty alt attribute; its file name is tula-rashi-libra-300x267.png

तुला राशि – शुक्र आपकी राशि स्वामी और अष्टम भाव के स्वामी है। शुक्र का स्वामी और अष्टमेश होकर सप्तम भाव में जाकर बैठना, लेकिन शुक्र सप्तम भाव में कार को भावनाओं की स्थिति लेकर आता है। राहु के साथ बैठा है और ज्यादा तकलीफ देने झड़प योग बना है तो इस समय जो भी नवविवाहित दंपति दाम्पत्य जीवन से गुजर रहे लव रिलेशनशिप से गुजर रहे हैं, उनके लिए समय बहुत ज्यादा संभलकर चलेगा। अगर अच्छी रिलेशनशिप है तो छोटी छोटी बातों पर मिसअंडरस्टैंडिंग क्रिएट करना बंद कर दे। एक दूसरे के प्रति विश्वास की भावनाएं जगाएं। अगर दांपत्य जीवन में रिश्ता खराब चल रहा है तो रिश्ता और ज्यादा खराब हो सकता है। बहुत ज्यादा तैयार रहिए। इस समय गलत शक करना या जीवनसाथी का किसी और इंसान के साथ अफेयर होना ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हो सकती है। बहुत ज्यादा आपको सतर्क होकर चलना पड़ेगा। अपने रिश्ते को संभालना पड़ेगा। पर बहुत मैच्योरिटी और शांति से अपने रिश्ते को संभालने की आवश्यकता है। अब शुक्र आपकी राशि स्वामी है। यानि पर्सनालिटी के भाव के स्वामी है और अपने ही घर को देख रहे ताऊ की दृष्टि भी है तो शुक्र आपको आकर्षक बनाता है। आपको महफिल की जान बनाता है। बहुत हंसी मजाक और बहुत अच्छे जॉली नेचर के हैं, परंतु राहू जो दृष्टि सप्तम डाल रहे उससे थोड़ा सा कन्फ्यूजन और डर की स्थितियां उत्पन्न हो सकती है। इसीलिए रिश्तों में कन्फ्यूज होने की आवश्यकता नहीं है। आपको क्लीयर होना चाहिए कि आपके लिए क्या सही है और क्या गलत है तो थोड़ा सा डिसीजन मेकिंग आपको इंप्रूव करनी चाहिए। अब अष्टमेश शुक्र अपने बार में बैठा है। डेली रूटीन की लाइफ में छोटी छोटी चीजें गड़बड़ हो जाना छोटे छोटे काम खो जाना। छोटे छोटे कामों के लिए आपको ज्यादा मसक्कत करना ऐसी परिस्थितियां जरुर उत्पन्न होंगी। आपके गुप्त शत्रु भी उत्पन्न हो जाएंगे जो कि आप के व्यक्तित्व से आपकी तरफ से आपकी उन्नति से जलते हैं तो ऐसे लोगों से आपको सावधान रहना पड़ेगा। इमोश्नल नहीं रखनी है। ध्यान रखिएगा भावुक होकर किसी के साथ आगे बढ़ने की अपेक्षा उसको पूरा परख लें और अपनी गोपनीय बातों को किसी गोपनीय दस्तावेजों को सुरक्षित स्थान पर रख लें। अब आपको क्या करना चाहिए तो नेत्र हीन 10 लोगों को आपको भोजन जरुर करवाना है। शुक्रवार के दिन श्रीसूक्त का पाठ मां लक्ष्मी के सामने बैठकर जरूर करें। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

 

This image has an empty alt attribute; its file name is vrishik-rashi-scorpio-300x267.png

वृश्चिक राशि –  आपकी राशि के लिए शुक्र द्वादस और सप्तम भाव के स्वामी हैं। षष्टम में बैठे हैं अपने ही स्थान को देख रहे हैं। राहु आपको धर्मकर्म से जोड़ेगा और धार्मिक यात्रा के समय बाहर एब्रॉड में अपने धर्म का प्रचार करने के लिए कहीं बाहर यात्रा कर सकते हैं। ऐसे अच्छे योग आपके बन रहे हैं। इस समय खर्च की स्थितियां थोड़ी सी नियंत्रित होती हुई दिखाई देगी और प्राकृतिक स्थानों की रहने के स्थानों की विदेशों की यात्रा आपकी संपन्न हो सकती है। वहीं शुक्र सप्तमेश अपने बार में बैठा है तो विवाह में दिक्कतें आ सकती है। यदि आप विवाह योग्य हो अपने लिए लाइफ पार्टनर ढूंढ रहे हैं तो बहुत ज्यादा संभलकर। गलत लाइफ पार्टनर आपके पूरे जीवन को प्रभावित कर सकता है तो इस समय अगर हो सके तो थोडा सा शांत रहें या किसी अनुभवी व्यक्ति अपने अनुभवी घर के बुजुर्गों से सलाह लेकर अपने जीवन में आगे बढ़ें। लव रिलेशनशिप में धोखा मिल सकता है, इसलिए किसी के साथ भी बहुत ज्यादा भावनाओं में बहकर आगे बढ़ने का प्रयास ना करें। थोड़ा सा बचे और किसी को परखने के बाद उसे अपने लव पार्टनर के रूप में चूज करें। जल्दबाजी में कोई भी निर्णय न लें। आपको क्या करना चाहिए। तो मां पार्वती को दूध, अक्षत और शक्कर का भोग जरूर लगाएं।

This image has an empty alt attribute; its file name is dhanu-rashi-saggitarious-300x267.png

धनु राशि – आपकी राशि में एकादश और षष्टम भाव के स्वामी है और शुक्र पंचम भाव में जाकर बैठा है। आपके लिये शुक्र के रिजल्ट इतने अच्छे नहीं है। शुक्र जनित समस्याओं का सामना आपको करना पड़ सकता है। स्वास्थ संबंधी समस्याओं से आप पीड़ित रह सकते हैं। विशेषकर लेडीज को इस समय ध्यान रखना पड़ेगा। महिलाओं के लिए समय इतना कम नहीं रहेगा। इसलिए अपने पर्सनल हाइजीन का विशेष रूप से ध्यान रखें। अपने खान पान का ध्यान रखें। हेल्दी खाएं मॉर्निंग वॉक एक्सरसाइज जो भी आप रूटीन का हिस्सा है वो जरूर आपको करना है। चाहे वो आदमी हो चाहे तो सबको अपने रूटीन को फिक्स कर लेना चाहिए। उसके बाद आप अपने डेली हेल्दी लाइफ को फॉलो करें तो निश्चित रूप से श्वास संबंधी कोई बड़ी समस्या आपको नहीं होगी। कलावड़ छोड़ जो जुड़े हुए बच्चो को आपको इस समय कलाकारो को थोड़ा सा संभलकर रहना आपकी नेगेटिव में जा सकती है। कुछ चीजें आपके लिए गलत हो सकती है। आप कंट्रोवर्सी में फंस सकते हैं। कोई बयान आपके सोशल मीडिया पर कोई आपने कमेंट किया है तो वो गलत निकल सकता है। आपको ट्रोल किया जा सकता है। थोड़ा सा आपको इस मामले में भी संभलकर रहना पड़ेगा। लाभ की स्थितियां आपके लिए ठीक रहेगी और लाइफ में भी कभी कभी आपको ऐसा लगेगा कि कन्फ्यूजन क्रिएट होगा कि मैं अपने पैसे को कहां निवेश करूं पर आप किसी अनुभवी मित्र से सलाह लेकर ही आगे बढ़ें। अकेले डिसीजन लेने से बचें। आपको क्या करना चाहिए? कन्याओं को सफेद मिठाई जरुर खिलाएं। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

This image has an empty alt attribute; its file name is makar-rasi-capricorn-300x267.png

मकर राशि – शुक्र दशम और पंचम भाव के स्वामी है और शुक्र आपके सुख स्थान में जाकर बैठा है। पंचमेश अपने से 12वे  जाकर बैठना वैसे भी आपके लिए अच्छा नहीं है। खासकर कला वर्ग के छात्रों को पढ़ाई में बहुत सारी दिक्कतें आ सकती है। आपका मन पढ़ाई में नहीं लगेगा। कहीं न कहीं आप अपने मनोनुकूल परिणामों से वंचित रह सकते हैं। थोड़ा सा आपको अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है, परंतु शुक्र आपके कर्म भाव के स्वामी हैं। शुक्र की दृष्टि कर्मभाव पर पटरी पर साथ में राहू है। इसीलिए कामकाज उन्नति करेगा पर गलत डिसीजन से बचना है। गलत योजनाओं में पार्टिसिपेट नहीं करना और किसमें कितना पैसा कहां निवेश करना है। इस बात को आप ऑर्गनाइज कर लेंगे तो किसी भी प्रकार की दिक्कत का आपको सामना नहीं करना पड़ेगा। हाथ या गले में गुलाबी रंग का स्फटिक जरूर धारण करें।

This image has an empty alt attribute; its file name is kumbh-rashi-aquarius-300x267.png

कुम्भ राशि – आपकी राशि में शुक्र नवम और चतुर्थ भाव के स्वामी है और तृतीय स्थान में जाकर बैठे हैं। चतुरथेष  का अपने से  12 वा बैठना आपकी फाइनेंशल कंडीशन को आपके खर्चों को निर्बल कर सकता है। घर की साज सज्जा पर बहुत ज्यादा ओर बजट जाकर आपने खर्च कर दिया। कोई बड़ा इलेक्ट्रॉनिक आइटम आपने खरीद लिया, जिससे आपकी फाइनेंशल कंडीशन फ्लक्चुएट कर गई तो ऐसी परिस्थितियों में आपको ये ध्यान रखना है कि आपको बजट से बाहर नहीं जाना है जो भी चीज खरीदें। वो अपने बजट में रहकर खरीदें। वरना बाद में आपको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। मां के साथ वाद विवाद की स्थितियों से बचे व आपके भले के लिए बोल रही है। इसलिए उनकी बातों को सुनने का प्रयास करें। भाग्येश शुक्र अपने फिगर को देखने आपके भाग्य को बढ़ाएंगे। इस समय आप शेयर मार्केट में निवेश करें परंतु कम होना चाहिए। शॉर्टकट नहीं होना चाहिए। इसमें आप धन धन के कार्यों से भी जुड़ेंगे और आपके परिवार के साथ आपकी बॉण्डिंग अच्छी होगी। घर में मांगलिक कार्यक्रम की रूपरेखा रखी जा सकती है। आपको क्या करना चाहिए? अनामिका अंगुली में ओपल को चांदी की अंगूठी में आप को धारण करें। शुक्र का राशि परिवर्तन 23 मई 2022 in Hindi blog 

 

This image has an empty alt attribute; its file name is meen-rashi-pieces-300x267.png

मीन राशि – आपकी राशि के लिए शुक्र तृतीय और अष्टम भाव के स्वामी और द्वितीय स्थान में जाकर बैठे हैं। पराक्रमेष का अपने से १२ वा जाकर बैठना आपके पराक्रम को लूज कर सकता है। यानी इस समय आप अपनी भावनाओं को व्यक्त करने से चूक जाते हैं। आपको किसी को अपनी भावनाएं कहनी है तो आप बिगड़ जाएंगे। लिहाज कर लेंगे कह नहीं पाएंगे। अपने मन की बातों को अपने अंदर ही रखेंगे। ये ठीक नहीं है। अपनी मन की भावना को व्यक्त कर दें, ताकि मन में किसी भी प्रकार की बात आपके नहीं घूमे और आप उससे। ना कोई भी डिसीजन लेना जिसमें आप अपने भाई बहनों का साथ ले सकते हैं। वो आपको सही सलाह देंगे। आपके साथ भी खड़े रहेंगे। उनके साथ एक ट्यूनिंग बनाकर चलें। विशेषकर अपनी बहन से आपको कोई भी गिफ्ट इस समय जरूर लेना चाहिए। शुक्र आपके अष्टम भाव के स्वामी है और शुक्र अपने ही घर को देख रहे हैं तो डेली रूटीन की लाइफ को ठीक करेंगे। गुप्त धन की प्राप्ति आपको इस समय हो सकती है। इस समय आप अपने काम में दूसरों पर निर्भर रहना छोड़ दें। अगर आप दूसरों पर डिपेंड रहेंगे तो निश्चित रूप से आपके काम में नुकसान हो सकता है। इसलिए दूसरों पर निर्भर न रहकर खुद खड़े रहकर अपने कार्यों को करें। आलस्य को त्याग दें और जो काम टालने की प्रवृति है उसको थोड़ा सा त्यागकर अपने जीवन में आगे बढ़ें। आपको क्या करना चाहिए तो नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए शुक्रवार का व्रत जरूर करें और इस दिन बिना नमक का भोजन करें। व्रत खोलते समय ये एक अच्छा उपाय है। शुक्र का इसे जरूर अपनायें शुक्र के रिजल्ट आपको बहुत ही पॉजिटिव मिलेंगे।

 

[/vc_column_text][vc_video link=”https://youtu.be/HSFgA37Q9Lg” image_poster_switch=”no”][/vc_column][/vc_row]

Note: Daily, Weekly, Monthly, and Annual Horoscope is being provided by Pandit N.M.Shrimali Ji, almost free. To know daily, weekly, monthly and annual horoscopes and end your problems related to your life click on (Kundali Vishleshan) (Kundali Making) (Kundali Milan) or contact Pandit NM Srimali  WhatsApp No. 9929391753, E-Mail- [email protected]

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Back to list

Leave a Reply

Your email address will not be published.