Astro Gyaan, Astro Gyaan|Astrology Tips|Featured, VIDEOS

कुम्भ राशि जनवरी 2023 राशिफल in hindi | Aquarius Horoscope 2023 | Nidhi Shrimali |

kumbh rashifal january 2023

कुम्भ राशि जनवरी 2023 राशिफल

ये नया साल आपके लिए उन्नतिदायक है। सभी तरक्की और उन्नति के रास्ते आप अपने जीवन में तय करें। शुभ आपके जीवन में हो यही हम मंगल कामना आप सभी के लिए करते हैं और लेकर आये हैं। नए साल की प्रथम माह यानि जनवरी माह का कुम्भ राशि वालो का मासिक राशिफल | कुम्भ राशि वालो के लिए साल का ये प्रथम माह कैसा रहने वाला है। सबसे पहले तो जान लेते हैं। इस माह में आने वाले कुछ विशेष पर्वों के बारे में तो 1 जनवरी को नववर्ष प्रारंभ हो जाएगा। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जयंती मनाई जाएगी। 14 जनवरी को लोहड़ी या मकर सक्रांति इन दोनों का पर्व एक साथ धूमधाम से मनाया जाएगा। 21 जनवरी को मौनी अमावस्या आ रही है और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस और बसंत पंचमी का पर्व साथ में धूम धाम से मनाया जाएगा।

अब जान लेते हैं कि साल के प्रथम माह में ग्रहों की स्थिति कैसी रहेगी तो सबसे पहले बात करते हैं सूर्य ग्रह की जो कि वर्तमान में अपनी अति मित्र राशि धनु में विराजमान हैं और 14 जनवरी को वे अपनी सम राशि मकर में प्रवेश कर जाएंगे और यहां सूर्य उत्तरायण होते हुए दिखाई देंगे। मकर सक्रांति का पर्व इस दिन मनाया जाएगा। बुध ग्रह इस पूरे माह अपनी मित्र राशि धनु में विराजमान रहेंगे। वहीं मंगल ग्रह वक्री अवस्था में अपनी राशि शत्रु राशि वृषभ में इस पूरे माह विराजमान रहने वाले हैं। गुरू अपनी ही राशि मीन में इस पूरे माह विराजमान रहेंगे। वहीं शुक्र ग्रह की बात करें तो वे वर्तमान में अपनी सम राशि मकर में विराजमान हैं और 22 जनवरी को वे अपनी सम राशि कुम्भ में प्रवेश कर जाएंगे। शनि ग्रह की अगर बात करें तो वे वर्तमान में स्वग्रही अवस्था में अपनी राशि मकर में विराजमान हैं और इस माह में यानि 17 जनवरी को वे अपनी मूल त्रिकोण की राशि कुम्भ में स्वग्रही होकर विराजमान होने वाले हैं। शनि का ये जो राशि परिवर्तन इस साल का सबसे बड़ा राशि परिवर्तन कहलाएगा | राहू इस पूरे माह अपनी सम राशि मेष में विराजमान रहेंगे और केतु इस पूरे माह अपनी राशि तुला में विराजमान रहने वाले हैं। तो ये हैं इस माह की ग्रह गोचर की स्थिति का हाल। अब जान लेते हैं कि इन ग्रहों की स्थितियों का। इस साल के सबसे बड़े राशि परिवर्तन का क्या इम्पैक्ट आपके इस माह पर पड़ने वाला है तो शुरू करते हैं कुम्भ राशि वालो का जनवरी माह का मासिक राशिफल राशिफल | 

सबसे पहले आपके राशि स्वामी की ही बात कर लेते हैं जो कि शनि 17 जनवरी तक आपके राशि स्वामी यानि लग्नेश अपनी बारवे बैठेंगे परन्तु अपनी ही राशि मकर में स्वग्रही होकर विराजमान रहेंगे। शनि का अपनी ही राशि में स्वग्रही होकर बैठना, इम्पोर्ट एक्सपोर्ट और हैंडीक्राफ्ट के व्यापारियों के लिए बहुत ही अच्छा रहेगा जो विदेशी कंपनियों के साथ मेल यानी देशों के साथ व्यापार करते हैं। जिन लोगों का व्यवसाय बाहर है, अब्रॉड में अपना बिजनेस करते या फिर मल्टीनेशनल कंपनीज के साथ मिलकर काम करते हैं। उनके लिए ये बहुत ही अच्छा रहने वाला है। 17 जनवरी के पश्चात का जो समय रहेगा वो आपके लिए और भी अच्छा रहेगा। क्योंकि शनि आपकी ही राशि में आकर नामक शष महापुरुष योग बनाएंगे। और शनि की ये चुकी मूल त्रिकोण की राशि है कि आपकी राशि स्वामी का अपने ही घर में स्वग्रही होकर बैठना आपके सामाजिक मान सम्मान यश कीर्ति में चार चाँद लगा देगा। शनि वैसे भी कर्मठ हैं, कर्म करवाता है, कर्मफलदाता है। इसीलिए इस समय आप अपने कर्म के दम पर आगे बढ़ेंगे। आपकी मेहनत को सराहा जायेगा और मेहनत का ये यथेष्ट फल भी आप प्राप्त करेंगे। नौकरी पेशा लोगों को मनवांछित फलों की प्राप्ति होगी और अधिकारियों का सहयोग भरपूर देखने को मिलेगा और ये समय नौकरी पेशा लोगों के लिए भी बहुत अच्छा और उन्नतिदायक रहेगा। प्रमोशन के योग बनेंगे। इंक्रीमेंट के योग बनेंगे और मिड जॉब में हैं तो मनचाही ट्रांसफर के भी योग बनेंगे। यानि ओवर ओल शनि के रिजल्ट चूंकि आपके राशि स्वामी हैं तो बहुत ही अच्छे मिलेंगे।

अब शनि चूंकि आपके द्वादश स्थान के स्वामी है और द्वादश भाव के स्वामी 17 जनवरी तक अपने ही घर में बैठेंगे। खर्चों पर थोडा सा अंकुश लगाएंगे। हालाँकि कभी कभी आपका मन विचलित हो जाएगा और खर्चे हो ही जाएंगे। पर फिर भी आप अपने खर्चों को नियंत्रित करने का प्रयास करेंगे। लिमिट में करने का प्रयास करेंगे। इस समय विदेशी कंपनियों के साथ आपका अच्छा टाईअप रहेगा। वहीं सहकर्मियों के साथ में आपका तालमेल बहुत अच्छा रहेगा। आप उनके साथ एक अच्छी बॉन्डिंग से बनते हुए दिखाई देंगे। अपने वर्क प्लेस पर एक टीमवर्क की तरह काम करेंगे और अधिकारियों का दिल जीत लेंगे। यदि आपके ऊपर कोई गलत इल्जाम लगे हैं, उसमें क्लीन चिट मिल जाएगी और ईमानदारी के चर्चे चारों तरफ होंगे। 17 जनवरी को जब शनि अपने से एक घर आगे इन्हीं भाव का स्वामी अपने घर आदि जाकर बैठेंगे। आपके लग्न में बैठेंगे तब शनि के रिजल्ट और भी अच्छे मिलेंगे क्योंकि अपने से एक घर आगे चले जाएंगे और अपनी मूल त्रिकोण की राशि में जाएंगे। शश नामक महापुरुष योग भी बनाएंगे तो इस समय अप्रत्याशित सफलताएं आपको प्राप्त होंगी। इस समय शेयर मार्केट लॉटरी या फिर अगर आप बचत योजनाओं में इन्वेस्टमेंट करते हैं तो उसमें भी अच्छा लाभ प्राप्त करेंगे। तो शनि के रिजल्ट अगर हम कहें कि इस माह बोहोत ही अच्छे मिलेगे तो ये कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

अब आपके द्वितीय स्थान पर | द्वितीय स्थान के स्वामी हैं। गुरु, जो की द्वितीय भाव यानि धन भाव में स्वग्रही होकर बैठा है। गुरू का धन भाव में स्वग्रही होकर बैठा हैं। आपके धन में निरंतर वृद्धि करेगा। आपके जीवन की स्टेबिलिटी को बढ़ाएगा। स्थिरता लाएगा। इस समय अधिकारियों का भी मार्गदर्शन आपको भरपूर मिलेगा। घर के बुजुर्गों का आशीर्वाद प्राप्त होगा। कुटुम्ब में मान सम्मान की प्राप्ति करेंगे और जो भी काम हाथ में लेंगे उसमें आप निश्चित रूप से सफलता प्राप्त करेंगे। जो बिस्तर से संबंधित कार्य करते हैं या फिर कोई लैबोरेटरी है। कोई टेस्टिंग सेंटर है, टेस्टिंग लैब है। उनसे संबंधित कार्यों में आपको बहुत अच्छी सफलता इस माह देखने को मिलेगी। यानी गुरु के रिजल्ट बहुत ही शानदार और बेहतरीन रहने वाले हैं।

अब अगर लाभ भाव की बात करें कि लाभेश भी गुरु है और अपने से चतुर्थ और स्वग्रही होकर बैठें है तो लाभ की स्थितियों में भी उत्तरोत्तर प्रगति आपको देखने को मिलेगी। आप अपने जीवन की सारी लग्जरी इस माह पा सकते हैं। आपको बस सोचना है, बजट बनाकर चलना है, स्ट्रेटेजी बनाकर खर्च करना है। आप अपने सभी सुखों का भोग इस माह कर पाएंगे। आपका सर्कल और लेवल बढ़ेगा। इस समय सामाजिक मान सम्मान में भी वृद्धि होगी। सामाजिक कार्यक्रमों में आपकी भागीदारी बढ़ेगी। और समाज में आपको बहुत अच्छा कॉन्ट्रिब्यूट करते हुए दिखाई देंगे। हेल्पिंग नेचर से काम करेंगे और उस वजह से आपकी प्रतिष्ठा भी बढ़ती हुई दिखाई देगी। बड़े भाई बहनों का साथ और सहयोग आपको भरपूर देखने को मिलेगा। घर में मेहमान आ सकते हैं जिससे घर का माहौल बहुत ही हेल्दी होता हुआ दिखाई देगा। रिस्की कामों में इन्वेस्टमेंट भी आपके लिए लाभदायक साबित होगा तो गुरु के भी बहुत अच्छे और बेहतरीन परिणाम आपको इस माह मिलने वाले हैं।

अब आते हैं आपके पराक्रम भाव पर जो है तृतीय स्थान और पराक्रमेश मंगल जो की अपने से एक घर आगे जाकर बैठा है। पराक्रम भाव के स्वामी का अपने से एक घर आगे जाकर बैठना आपके पराक्रम में निरंतर प्रगति करेगा। राहु भी तृतीय स्थान में बहुत अच्छे रिजल्ट देते हैं तो इस समय आप कोई भी काम रिस्की जैसे लिकर का अगर आप काम करते हैं, लौटरी का गिरा काम करते हैं जुआ सट्टा इससे संबंधित अगर आप कुछ काम करते हैं तो निश्चित रूप से इसमें सफलता प्राप्त होगी। वहीं राजनीति में भी आप अच्छी सफलता प्राप्त करेंगे। अगर आप कोई राजनेता हैं तो इस समय आलाकमान की नजर में रहेंगे और कोई बड़ा पद आप को प्राप्त हो सकता है। जनता के बीच आप लोकप्रिय बनते हुए दिखाई देंगे। अभी से आप अपनी प्रसिद्धि में चारचांद लगाएंगे। अगर आप अपनी हॉबी को अपना प्रोफेशन बनाना चाहते हैं तो उसके लिए भी ये समय बहुत ही बेहतरीन रहेगा। मंगल आपकी टेक्निकल कार्यों में आपकी सहायता करेंगे। करियर में आ रही बाधाओं को आप दूर कर लेंगे और अब का विज़न बहुत क्लियर होगा।

अब चूंकि मंगल आपके दशम भाव के स्वामी हैं, यानि कर्म भाव के स्वामी हैं और कर्मेश अपने ही घर को सप्तम दृष्टि से देख रहे। इससमय कामकाज में आ रही दिक्कतें परेशानियां भी खत्म हो जाएगी। इंजीनियरिंग के फील्ड आईटी फील्ड टेक्नीकल फील्ड सिक्योरिटी का काम करते हैं। ठेकेदारी का काम करते हैं। कंस्ट्रक्शन लाइन से जुड़े हुए हैं। माइनिंग का काम करते हैं। रासायनिक पदार्थों का या उर्वरक का काम करते हैं। तो यह समय आपको बहुत अच्छे परिणाम दिलवाएगा। ये मंगल के बेहतरीन परिणामों के लिए आप हमेशा तैयार हो जाइए। अगर आप उच्च प्रशासनिक पद पर हैं। तो शानदार परिणाम आपको इस माह मंगल के मिलने वाला कि कि शनि भी आ जाएंगे। अपने घर में श्रेष्ठ नामक महापुरुष योग बनाएगा और मंगल सप्तम दृष्टि से अपने ही घर को देखेंगे। तो इस समय उच्च प्रशासनिक अधिकारियों के लिए बहुत ही शानदार और उचित अवसर रहेगा। अगर आप पुलिस सेना ने भी इसे जॉब से जोड़ना चाहते हैं तो उसमें भी आपको सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी। तो मंगल के रिजल्ट आपको इस माह बहुत ही अच्छे और बेहतरीन देखने को मिलेंगे।

अब आते हैं आपके सुख स्थान पर। शुक्र स्थान का स्वामी है। शुक्र और भाग्यस्थान में बैठे मंगल जो कि आपको मांगलिक बना रहे हैं। शुक्र आपकी कुण्डली में योगकारक ग्रह भी है क्योंकि वे सुखेश और भाग्येश दोनों हैं। एक त्रिकोण और एक केन्द्र के स्वामी होकर योगकारक ग्रह शुक्र आपके द्वादश स्थान में बैठे और द्वादश स्थान में शुक्र के रिजल्ट बहुत अच्छे मिलते है। 22 जनवरी तक वे आपके द्वादश स्थान में बैठेंगे। उसके बाद में आपके लग्न में आकर बैठ जायेंगे तो सुखेश और लग्नेश की युति होगी। तो दोनों ही दृष्टियों कैंसर और शुक्र के रिजल्ट आपको बहुत ही अच्छे देखने को मिलेंगे। बस अपनी स्प्रेड बढ़ने से इसको थोड़ा सा कम कीजिए। अग्रेशन गुस्सा और जो मैं आप अपने अंदर लेकर आ जाते हैं उस मैं को समाप्त कर दीजिए क्योंकि अहंकार व्यक्ति का नाश कर देता है। उसकी सफलताओं को खत्म कर देता है और उसे अपनी औकात दिखा देता है कि तू क्या है, तू प्राणी है, मिट्टी से ही निकला है और मिटटी में मिल जाएगा। तो अहंकार किस बात का। इसीलिए अपने मन से किसी भी ईगो को जलन, द्वेष, ईर्ष्या, इन सबको निकाल दीजिए। जितना समय होकर आप आचरण करेंगे। अगला व्यक्ति आपसे उतना ही इम्प्रेस होगा और आपके कामों में आप उतनी ही सफलता प्राप्त करेंगे। जरूरी नहीं है कि किसी को हम सही और सटीक बात कहें तो हम कडवी या कहें कड़वी तरीके से कहें उस बात को घुमा कर भी कहा जा सकता है। बस उस व्यक्ति को समझ में आनी चाहिए। और हमने अक्सर देखा है कि जब हम कड़वी बात किसी को मुंह पर ताना मारते हुए बोलते हैं तो चाहे हम उसकी कितनी भी हितैषी हो, उसे वो बात समझ में नहीं आती। इसीलिए अपनी वाणी में सौम्यता जरुर रखिएगा। मां के साथ संबंध और अधिक प्रगाढ़ होंगे। सुखों में वृद्धि होगी। लग्जरी में वृद्धि होगी। समय आप अपने रमणीय स्थलों की यात्राएं करते हुए दिखाई देंगे। प्रोफेशनल लाइफ में भी आपको सक्सेस इस समय हासिल होती हुई दिखाई देगी। शुक्र के बेहतरीन रिजल्ट की वजह से आप अपने जीवन के सभी सुखों को भोग पाएंगे।

अब शुक्र चूंकि भाग्य स्थान के स्वामी और भाग्य स्थान में केतु बैठा है। जो थोड़ा थोड़ा भाग्य को फ्लक्चुएट करते हैं। हालाँकि केतु आपको आध्यात्म की तरफ भी ले जाएंगे। जो कि शुक्र के गुणों के बिल्कुल विपरीत है तो थोड़े से आप आध्यात्मिक होते हुए दिखाई देंगे। अपने मन के डिस्ट्रक्शन को शांत कर प्रभु भक्ति में लीन रहेंगे। आउट वे पर जाकर लोगों की सहायता करेंगे। समाज में उचित स्थान और सम्मान प्राप्त करेंगे। अधूरे पड़े हुए कार्यों की लिस्ट छोटी हो जाएगी और नए कार्यों की शुरुआत भी आप इस समय करते हुए दिखाई देंगे। न्यू स्टार्टअप करने वाले लोगों के लिए ये बहुत ही उत्तम परिणामों से भरा है क्योंकि आपको को से सहायता और फंड प्राप्त होगा। तो शुक्र के रिज़ल्ट यानि शुक्र जो कि आपकी कुण्डली का योगकारक ग्रह है उसके रिज़ल्ट आपको बहुत ही शानदार किस्मत देखने को मिलेंगे।

अब आते हैं। आप के पंचम भाव पर। पंचम भाव के स्वामी हैं बुध जो कि अपने सप्तम बैठे हैं और अपने घर को देख रहे हैं। बुद्धि और अधिक प्रखर होगी। लेखनी बहुत अच्छी होगी। आप किसी भी किस्म की राइटिंग करते हैं। चाहे आप पिक्चर्स लिखते हैं, चाहे आप नॉवेल लिखते हैं, वो राइटिंग करते हैं, कंटेंट राइटिंग करते हैं। अगर आप अच्छे राइटर हैं तो निश्चित रूप से ये समय आपकी प्रगति में उन्नति में सहायक साबित होगा। कॉमर्स के स्टूडेंट्स को मनचाहा परिणाम प्राप्त होगा और आप का मनोबल बढ़ा हुआ दिखाई देगा। सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ेगा। संतान से संबंधित शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। साहित्य के क्षेत्र में आप अपना नाम रोशन करते हुए दिखाई देंगे। प्रसिद्धी को बढ़ाते हुए दिखाई देंगे। इस समय जिस भी उद्देश्य से यात्रा होगी वो यात्रा आपके लिए सुखद और मंगलमय रहेगी और करियर में आ रही समस्याएं और दुविधाएं खत्म हो जाएगी।

अब आते हैं आपके अष्टम भाव पर | क्यूंकि अष्टमेश भी बुध है और बुध अपनी चतुर्थ जाकर बैठ रहें है। यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा। स्ट्रगल बहुत ज्यादा नहीं करना पड़ेगा परंतु सोच समझ कर निर्णय लेना है। किसी भी निर्णय को जल्दबाजी में ना लें। अपने गुप्त शत्रुओं को पहचानें कि आपके दोस्त कौन हैं और आपके शत्रु कौन हैं। किसी के बहकावे में आने की अपेक्षा अपने विवेक और बुद्धि का इस्तमाल करते हुए अपने जीवन में आगे बढने का प्रयास करें। तो सफलता को आप सुनिश्चित करते हुए अपने जीवन में आगे बढ़ते चले जाएंगे। यात्रा आपके लिए सुखद और मंगलमय रहेगी। और कार्यों में निश्चित रूप से आप सफल होंगे। जानवरों से थोड़ा सा सावधान रहिएगा क्योंकि जानवरों से चोट लग सकती है। जिसकी कामों में इन्वेस्टमेंट करने से पहले सोच समझ कर और प्लैनिंग के साथ करिएगा। बाकी बूंद के रिजल्ट आपको बहुत ही अच्छे मिलेंगे।

अब आते हैं आपके रोग भाव पर यानि सप्तम भाव पर। सप्तम भाव के स्वामी हैं चंद्रमा। जो आप हर ढाई दिन में फ्लक्चुएट होते रहते हैं। थोड़ा सा मानसिक स्टेबिलिटी कम रहेगी। इनका मन बहुत चंचल रहेगा। कभी आपका मन करेगा। ये करने तो कभी करेगा ही नहीं। ये नहीं ये कर दूँ | काम को अधूरा मत छोडिये। आप जितना काम को अधूरा छोड़ेंगे, आपके सभी वर्क पैंडिंग होते चले जाएंगे। और अगर हम एक काम को पूर्ण करके दूसरे काम की तरफ आगे बढ़ते हैं तो हमारी सफलता को भी तो हम सुनिश्चित करते हैं। इसीलिए काम को अधूरा मत छोड़िए और एक कार्य को पूरा करके ही दम लीजिए। वही कार्य की शुरुआत उसके बाद कीजिए। बस इस बात का आपको ध्यान रखना होगा।

अब आते हैं आपके सप्तम भाव पर। सप्तम भाव के स्वामी है। सूर्य जो कि अपने से पंचम जाकर बैठे हैं और 14 जनवरी तक वे आपके लाभ भाव में बैठने वाले हैं। सूर्य के रिजल्ट 14 जनवरी तक आपको बहुत ही अच्छे मिलेंगे। खासकर जो मेडिकल के संबंधित कार्य करते हैं या फार्मेसी का काम करें। चाहे आपका कोई क्लिनिक हो, हॉस्पिटल हो या फिर आप इलैक्ट्रोनिक्स का काम कर रहा या फिर बिजली का काम कर रहे हों। इन सभी क्षेत्रों से संबंधित बिजनेसमैन के लिए ये समय बहुत ही अच्छा रहने वाला है। मेडिकल फील्ड में कुछ बड़ा और कुछ विशेष आप कर सकते हैं और उससे आपको विशेष लाभ की स्थितियां भी देखने को मिलेगी। योजनाओं को तय समय में आप पूरा कर देंगे परंतु 14 जनवरी के बाद का जो समय है यह समय आपके लिए ध्यान देने योग्य रहेगा क्योंकि सूर्य चले जाएंगे तो उसमें फल तो उसमें तो खर्च बाकी ही करेंगे। परंतु इस समय कदम फूंक फूंककर रखना जल्दबाजी में कोई भी निर्णय न ले। किसी नई कंपनी के साथ टाईअप करने जा रहा तो उस कंपनी का पूरा पता लगाएं। उसकी जांच पड़ताल करके करने के बाद ही उस कंपनी के साथ आगे बढ़ें। योजनाओं को तरीके से और क्रमबद्ध तरीके से पूर्ण करने का प्रयास करें। इसमें आप अपनी वस्तुओं का और इम्पॉर्टेंट डॉक्युमेंट्स का ध्यान रखें क्योंकि वे चोरी हो सकते हैं। जीवनसाथी के साथ संबंध नॉर्मल चलेंगे। और उनके नाम से अगर आपने कोई निवेश किया है तो उसमें जरूर लाभ होगा। अगर आप विवाह के लिए अपना जीवनसाथी ढूंढ रहे हैं तो आप अब्रॉड में ढूंढ सकते हैं, आपको अपना मनचाहा लाइफ पार्टनर मिल जाएगा। तो ये था कुम्भ राशि वालो का जनवरी माह का मासिक राशिफल।

शुभ तारीखें – 4, 5, 6, 8, 13, 14, 15, 17, 22 से 24, 26 और 31।

अशुभ तारीखें – 1 से 3, 7, 9 से 12, 16 18 से 21, 25 और 27 से 30।

शुभ रंग – भूरा, काला और नीला रॉयल ब्लू कलर |

उपाय

  • प्रतिदिन सुबह नहाने के बाद भगवान शिव को जल जरूर चढ़ाएं।
  • घर से निकलने से पहले माता पिता का आशीर्वाद लें।
  • अमेरिकन डायमंड की अंगूठी आप पहन सकते हैं
  • गरीब लोगों को चावल का दान जरूर करें।
  • भगवान शिव का शिव को जल और दूध हर सोमवार से हर सोमवार को अभिषेक करें।

Contact : +918955658362 | Email: [email protected] | Click below on Book Now
Subscribe on YouTube – Nidhi Shrimali

Back to list